फिल्म ‘लिंगा’ को उसकी लंबाई मार गई

1 min


आज हर भाषा का दर्शक समझदार हो चुका है । इसलिये सामने कितना ही बड़ा स्टार हो अगर उसकी फिल्म में कुछ नहीं हैं तो उसे फौरन नकार देता है । इसका ताजा उदाहरण है साउथ के भगवान माने जाने वाले सुपर स्टार रजनीकांत की फिल्म ‘ लिंगा’ । केएस रविकुमार निर्देशित ये बेहद मंहगी फिल्म है । करीब पोने चार घंटे लंबी इस फिल्म को साउथ में दर्शकों ने नकार दिया । बाद में करीब पोना घंटा एडिट कर इसे हिन्दी में रिलीज किया तो यहां भी इसे दर्शक मुशिकल से ही मिलेगें ।

lingaa-aka-linga-latest-images-60

साउथ का गांव है जिसका एक मंदिर पिछले सत्तर साल से बंद है । वहां के सरपंच का कहना है कि इसे यहां के राजा लिंगेश्वर के वंषज द्वारा ही खोला जायेगा। इसलिये सारे देश में राजा के वारिस की तलाश शुरू हो जाती है । वास्तव में राजा का पोता लिंगा रजनीकांत एक शातिर चोर है । जिसे एक टीवी जर्नलिस्ट अनुष्का खोज निकालती है । और अपने प्रयत्नों से उसे उसे गांव ले आती है । दरअसल अनुष्का गांव के सरपंच की पोती है । लिंगा अपने दादा लिंगेश्वर  से खुंदक खाता है, क्योंकि वे उसके लिये कुछ भी नहीं छौड़ कर गये । इसलिये उसने फाकों में जिन्दगी गुजारी ।

Lingaa-Movie-Stills1-800x

जब लिंगा को पता चलता है कि उस मंदिर में एक बेशकीमती शिव का लिंग हैं तो उसे रात को ही चुराने के उद्देशय से अपने दो साथियों के साथ मंदिर में चुराने पहुंच जाता है लेकिन गांव वालों को पता चल जाता है तो लिंगा को चोर समझ लिया जाता है । इस पर सरपंच उन्हें उसके दादा की कहानी सुनाता हैं कि किस तरह उन्होंने गांव वालों के लिये डेम बनवाने और उन्हें साधन संपन्न बनाने के लिये अपनी सारी दौलत अंग्रेजो और डेम बनाने पर खर्च कर दी थी । फिर एक शडयंत्र के तहत उन्हें इस गांव से जाना पड़ा।

lingaa-aka-linga-latest-images-32

बाद में जब गांव वालों को असलियत का पता चला तो उन्होंने राजा को वापस गांव में लाने की कोशिश की लेकिन वे फिर कभी वापस नहीं आये । इसलिये आसपास के तीस पेतींस गांव और उनकी जमीन इन्हीं की तो संपत्ति हैं तो फिर उनके पोते को चोरी करने की क्या जरूरत है, सब उसी का तो है । अपने दादा की कुर्बानीयों को देखते हुये लिंगा की आंखे खुल जाती है। बाद में वो वहां के एमपी को बांध उड़ाने की साजिश के तहत दंड देता है और एक बार फिर गांव पर आया खतरा लिंगा की बदौलत टल जाता है ।

lingaa-aka-linga-latest-images-46

साउथ में रजनीकांत को भगवान का दर्जा दिया जाता है । लेकिन उनकी बुरी फिल्मों को दर्शकों ने अपनाना बंद कर दिया है । इसलिये कोचडयान के बाद लिंगा रजनी की दूसरी फिल्म हैं जो हर जगह फ्लॉप साबित रही । फिल्म एक आम मसाला फिल्म की तरह शुरू होती है लेकिन फिर फ्लैशबैक में राजा लिंगेश्वर की कहानी शुरू होती है जो अंत तक चलती है ।

lingaa-aka-linga-latest-images-35

वो दर्शकों को जरा भी पंसद नहीं आई । उपर से फिल्म इतनी लंबी कि दर्षक को फिल्म से पीछा छुड़ाना मुश्किल हो जाता है । जहां तक रजनी कांत की बात की जाये तो इस उम्र में भी वे बीस साल पहले के चाकचैबंद रजनी लगते हैं उनकी अदायें आज भी वैसी ही हैं । फिल्म की लंबाई कम करते हुये सोनाक्षी सिन्हा की भूमिका पर भी कैंची चली । वैसे भी उसकी भूमिका में कुछ भी खास नहीं था। उससे कहीं ज्यादा लैंथ तो साउथ की हीरोइन अनुष्का को मिली । ए आर रहमान का संगीत भी साधारण ही रहा । फिल्म के बारे में इससे ज्यादा बताने के लिये और कुछ भी नहीं है । क्योंकि एक तो बासी विषय । दूसरे फिल्म को उसकी लंबाई मार गई ।

6

SHARE

Mayapuri