Browsing Category

रिव्यूज

मूवी रिव्यू: बचकानी ‘पागलपंती’

रेटिंग** बिग बजट पारिवारिक हास्य फिल्मों के मास्टर अनीस बज्मी इस बार चूक गये लगते हैं क्योंकि हमेशा की तरह इस बार भी भारी भरकम बजट और उतने ही बड़े सितारों से भरी फिल्म ‘ पागलपंती’ में वे अपनी अन्य फिल्मों वाला जादू नहीं चला पाये। लिहाजा…
Read More...

मूवी रिव्यू: औजस्वी तथा प्रेरक कृति ‘झलकी’

रेटिंग*** कैलाश सत्यार्थी एक ऐसा नाम जो अभी तक छियासी हजार बच्चों को नाबालिग बच्चों से काम करवाने वाले माफिया से छुड़ा कर उनके घर पहुचा चुके हैं। ढेरों पुरस्कार ओढ़े हुये इस महापुरूष से प्रेरित हो डायरेक्टर बृहमानंद एस सिंह ने ‘झलकी’ जैसी…
Read More...

मूवी रिव्यू: एवरेज मर्डर मिस्ट्री ‘लफंगे नवाब’

रेटिंग** सनोज मिश्रा निर्देशित फिल्म ‘लफंगे नवाब’ एक मर्डर मिस्ट्री फिल्म है। जिसमें हमेशा की तरह एक मर्डर होता हैं, बाद में सारे किरदार उस मर्डर के इर्द गिर्द घूमते दिखाई देते है,जब तक असली हत्यारा नहीं पकड़ा जाता। कहानी अमीर बाप का बेटा…
Read More...

मूवी रिव्यू: बेहतरीन अभिनय ‘मोतीचूर चकनाचूर’

रेटिंग*** शहरों में रह रहे मघ्यवर्ग की अपनी समस्यायें और सपने होते हैं, जिन्हें लेकर वे न जाने क्या कुछ दुष्वारियां झेलते रहते हैं। निर्देशक देवा मित्रा बिस्वाल की फिल्म ‘ मोतीचूर चकनाचूर’ में इन्हीं समस्याओं को उजागर करने की कोशिश की है।…
Read More...

मूवी रिव्यू: मसालेदार एक्शन ‘मरजांवा’

रेटिंग 1/2 अस्सी और नब्बे के दशक का सिनेमा आज भी दर्शक को खूब भाता है इसका सबसे बड़ा सुबूत है विभिन्न चैनलों पर साउथ की हिन्दी में डब फिल्में। शायद इसी बात से प्रेरित हो लेखक निर्देशक मिलाप जवेरी ने फिल्म ‘मरजांवा’ बनाई। लेकिन इस बार फिल्म…
Read More...

मूवी रिव्यू:  हल्की फुल्की कॉमेडी ‘बागपत का दूल्हा’

रेटिंग*** केबल आज हर इंसान को एक महत्वपूर्ण अंग बन चुका है लिहाजा हर किसी घर में रोटी न हो, लेकिन वहां टीवी में केबल जरूर होगा। अब जब इतनी महत्वपूर्ण चीज है तो उसके लिये कंपीटशन भी जरूर होगा। करण कश्यप द्धारा निर्देशित फिल्म ‘बागपत का…
Read More...

मूवी रिव्यू: भारतीय फौज को सेल्यूट करती फिल्म ‘सैटेलाइट शंकर’

रेटिंग**** हीरो के करीब चार साल बाद रिलीज सूरज पंचोली की इरफान कमल द्धारा निर्देशित फिल्म ‘ सैटेलाइट शंकर’ दूसरी फिल्म है। जो एक फोजी द्धारा देश की अखंडता की बात करती है। जंहा एक फोजी, हर किसी के लिये कुछ करने वाले स्वभाव के तहत पूरे देश…
Read More...

मूवी रिव्यू: हास्य के बीच मैसेज जारी करता ‘बाला’

रेटिंग*** हमारे समाज में मोटी पतली काली लड़कियों को हेय दृष्टि से देखा जाता रहा है और ये पंरपरा आज की नहीं बल्कि सदियों से चली आ रही है । ये तो हुई महिलाओं की बात, अब अगर पुरूषों की बात की जाये तो वहां भी बाल रहित पुरूष समाज में हास्य के…
Read More...

मूवी रिव्यू: कमजोर कहानी ‘बाईपास रोड़’

नील नितिन मुकेश के भाई नमन नितिन मुकेश द्धारा निर्देशित सस्पेंस थ्रिलर फिल्म ‘ बाई पास रोड़’  तकरीबन सब कुछ सही होने के बावजूद दर्शकों की पंसद पर खरी साबित नहीं हो पाई। उसकी प्रमुख वजह रही पहले से दौहराई जा चुकी बासी कहानी। कहानी नील…
Read More...

मूवी रिव्यू: मैसेज वाली फिल्म ‘उजड़ा चमन’

रेटिंग*** किसी ने कहा है कि दिलों की बात करता है जमाना पर  मोहब्बत आज भी चेहरे से होती है। ये कहावत निर्देशक अभिषेक कपूर की फिल्म ‘ उजड़ा चमन’ पर बिलकुल फिट बैठती है। जबकि मूल मंत्र है कि इंसान को उसकी सूरत से नहीं बल्कि सीरत से आंका जाना…
Read More...