Browsing Category

रिव्यूज

मूवी रिव्यू: हास्य का मसालेदार तड़का ‘पति पत्नि और वो’

एक अरसा पहले आई संजीव कुमार, विद्या सिन्हा तथा रंजीता को लेकर बी आर चोपड़ा की फिल्म ‘ पति पत्नि और वो आई थी, वो फिल्म आज भी लोगों को याद है। अब उसी टाइटल के साथ करीब चालीस साल बाद निर्देशक मुदस्सर अजीज  अपनी हास्य फिल्म लेकर आये हैं। जिसमें…
Read More...

मूवी रिव्यू: फिर वही प्यार में धोखा,और बदला ‘ये साली आशिकी’

रेटिंग** इस सप्ताह मरहूम अमरीश पुरी के पौत्र वरदान पुरी के साथ शिवालिका ऑबेरॉय ने निर्देशक चिराग रूपारेल की थ्रिलर फिल्म ‘ये साली आशिकी’ से डेब्यू किया है। प्यार में धोखा खाने या देने वाले सब्जेक्ट पर अभी तक न जाने कितनी फिल्में बन चुकी…
Read More...

मूवी रिव्यू: 26 /11 का सजीव चित्रण ‘होटल मुबंई’

रेटिंग 3.5 26 नवंबर 2008 का दिन मुंबई ही नहीं बल्कि पूरा देश कभी नहीं भूल सकता। आंतकीयों द्धारा इस दिन मुंबई के कुछ स्थलों जैसे वीटी रेलवे स्टेशन, लियोपोल्ड रेस्ट्रारेन्ट, होटल ताज महल तथा रिट्रेट होटल में खून की होली खेली थी जिसमें कई सो…
Read More...

मूवी रिव्यू: जबरदस्त एक्शन पैक्ड फिल्म ‘कमांडो 3’

रेटिंग*** हमारे फिल्म मेकर्स अपनी फिल्मों में आतंकवाद जैसे विशयों को खूब भुना चुके हैं। निर्देशक आदित्य दत्त की फिल्म ‘ कमांडो 3’ भी आतंकवाद पर आधारित हैं लेकिन फिल्म के हीरो विद्युत जामवाल अपने जबरदस्त एक्शन से फिल्म को खास बना देते हैं।…
Read More...

मूवी रिव्यू: बचकानी ‘पागलपंती’

रेटिंग** बिग बजट पारिवारिक हास्य फिल्मों के मास्टर अनीस बज्मी इस बार चूक गये लगते हैं क्योंकि हमेशा की तरह इस बार भी भारी भरकम बजट और उतने ही बड़े सितारों से भरी फिल्म ‘ पागलपंती’ में वे अपनी अन्य फिल्मों वाला जादू नहीं चला पाये। लिहाजा…
Read More...

मूवी रिव्यू: औजस्वी तथा प्रेरक कृति ‘झलकी’

रेटिंग*** कैलाश सत्यार्थी एक ऐसा नाम जो अभी तक छियासी हजार बच्चों को नाबालिग बच्चों से काम करवाने वाले माफिया से छुड़ा कर उनके घर पहुचा चुके हैं। ढेरों पुरस्कार ओढ़े हुये इस महापुरूष से प्रेरित हो डायरेक्टर बृहमानंद एस सिंह ने ‘झलकी’ जैसी…
Read More...

मूवी रिव्यू: एवरेज मर्डर मिस्ट्री ‘लफंगे नवाब’

रेटिंग** सनोज मिश्रा निर्देशित फिल्म ‘लफंगे नवाब’ एक मर्डर मिस्ट्री फिल्म है। जिसमें हमेशा की तरह एक मर्डर होता हैं, बाद में सारे किरदार उस मर्डर के इर्द गिर्द घूमते दिखाई देते है,जब तक असली हत्यारा नहीं पकड़ा जाता। कहानी अमीर बाप का बेटा…
Read More...

मूवी रिव्यू: बेहतरीन अभिनय ‘मोतीचूर चकनाचूर’

रेटिंग*** शहरों में रह रहे मघ्यवर्ग की अपनी समस्यायें और सपने होते हैं, जिन्हें लेकर वे न जाने क्या कुछ दुष्वारियां झेलते रहते हैं। निर्देशक देवा मित्रा बिस्वाल की फिल्म ‘ मोतीचूर चकनाचूर’ में इन्हीं समस्याओं को उजागर करने की कोशिश की है।…
Read More...

मूवी रिव्यू: मसालेदार एक्शन ‘मरजांवा’

रेटिंग 1/2 अस्सी और नब्बे के दशक का सिनेमा आज भी दर्शक को खूब भाता है इसका सबसे बड़ा सुबूत है विभिन्न चैनलों पर साउथ की हिन्दी में डब फिल्में। शायद इसी बात से प्रेरित हो लेखक निर्देशक मिलाप जवेरी ने फिल्म ‘मरजांवा’ बनाई। लेकिन इस बार फिल्म…
Read More...

मूवी रिव्यू:  हल्की फुल्की कॉमेडी ‘बागपत का दूल्हा’

रेटिंग*** केबल आज हर इंसान को एक महत्वपूर्ण अंग बन चुका है लिहाजा हर किसी घर में रोटी न हो, लेकिन वहां टीवी में केबल जरूर होगा। अब जब इतनी महत्वपूर्ण चीज है तो उसके लिये कंपीटशन भी जरूर होगा। करण कश्यप द्धारा निर्देशित फिल्म ‘बागपत का…
Read More...