जो लड़के डांस करते थे, उनको ‘गे’ बोला जाता था – श्यामक दावर 

1 min


जो लड़के डांस करते थे, उनको 'गे' बोला जाता था - श्यामक दावर 

भारत में डांस को प्रतिष्ठा दिलाने वाले बॉलीवुड के जाने-माने कोरियोग्राफर श्यामक दावर ने ‘दिल तो पागल है’ के 22 साल पूरे होने पर अपने एक डांस शो ‘सेल्काउथ’ पर पुरानी यादें ताजा की। दिल तो पागल  है से श्यामक दावर ने बॉलीवुड में कोरियोग्राफर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म में श्यामक दावर को उनकी बेहतरीन कोरयोग्राफी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।

इस फिल्म व नृत्य पर बात करते हुए श्यामक दावर ने कहा कि, ‘इस फिल्म से पहले लोग नृत्य को एक बुरा पेशा समझते थे और जो लड़के डांस में रुचि रखते थे या डांस करते थे, लोग उनको ‘गे’ या ‘लड़कियों वाली हरकत करने वाला’ कहते थे और जो लड़कियां डांस करती थी उनको गलत चरित्र का बताया जाता था। आज 30 साल बाद लोग बदल चुके हैं। उनको समझ आ गया है कि नृत्य स्वस्थ रहने और कॉन्फिडेंस बढ़ाने का एक बढ़िया तरीका है। आज पेरेंट्स खुद अपने बच्चों को कम उम्र में ही डांस क्लास भेज देते हैं पर 30 साल पहले छोटे बच्चे बिल्कुल भी नहीं दिखते थे क्लास में। पर ‘दिल तो पागल है’ के बाद लोगों में डांस के प्रति सोच बदल गई। लोग इसे अश्लील या घटिया नहीं बल्कि आर्ट का एक गुड फॉर्म मानने लग गए। आज देश में लोगों को नृत्य के प्रति इतना जागरूक देखकर मुझे बहुत खुशी होती है। सफर कठिन जरूर था पर जीत आखिरकार हमारी ही हुई ‘।
श्यामक दावर ने पहली बार भारत में डांस के कंटेंपरेरी जैज़ और वेस्टर्न शैली को इंट्रोड्यूस किया था। आज  देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर में श्यामक दावर डांस क्लासेस चलती है जहां बच्चे अपनी नृत्य की प्रतिभा को प्रतिदिन निखारते हैं।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये