मूवी रिव्यू: गतिवान और रोमांच से भरपूर इमोशन भरा एक्शन

1 min


रेटिंग ***

फिल्म ‘ब्रदर्स’

बेशक रिगं फाइट पर बॉक्सर तथा अपने जैसी फिल्में आ चुकी हैं लेकिन धर्मा प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित और करण मल्होत्रा निर्देशित फिल्म ‘ब्रदर्स’ का ताना बाना बॉक्सिंग को लेकर बुना गया है। जो एक हद तक रोमांच और इमोशन से भरपूर है।

कहानी

जैकी श्रॉफ अपने वक्त में जबरदस्त फाइटर रहे हैं, लेकिन उनकी पत्नि शैफाली छाया उनकी शराब पीने की लत से तो दुखी हैं ही, लेकिन उनका सबसे बड़ा दुख है जैकी की दूसरी पत्नि का बेटा। बावजूद इसके वो अपने सौतेले बेटे को भी अपने बेटे जैसा प्यार देते है। घर में जैकी की शराब की आदत से रोजाना झगड़े होते हैं ऐसे ही झगड़े में एक दिन शैफाली एक एक्सिडेंट में मारी जाती है लिहाजा अपनी मां की मौत का जिम्मेदार उसका बड़ा बेटा डेविड यानि अक्षय कुमार अपने पिता और अपने सोतेले भाई मोन्टी यानि सिद्धार्थ मल्होत्रा को मानते हुये उनसे अपने संबन्ध तोड़ लेता है। जैकी को अपनी पत्नि के कत्ल के एवज में छब्बीस साल की सजा हो जाती है। जैकी को जेल से बाहर आने के बाद पता चलता हैं कि अक्षय एक टीचर बन चुका है इसके अलावा वो स्ट्रीट फाइटर भी है लेकिन उसने अपनी पत्नि  जैकलिन के कहने पर फाइट छोड़ दी है लेकिन  मोन्टी आज एक जबरदस्त स्ट्रीट फाइटर बन चुका  है।

akshay-story_647_081415100240

जैकी उसी के साथ रहते हैं, उन्हें एहसास है कि शराब की लत की वजह से उनका करियर तो चौपट हुआ ही था बल्कि वे अपनी पत्नि और बेटे से भी हाथ धो बैठे। वे अक्षय से माफी मांगने की कोशिश करते हैं लेकिन वो उन्हें माफ न करते हुये धुत्कार कर भगा देता है। अक्षय की छोटी सी बेटी है जिसे किडनी को लेकर गंभीर बीमारी है, उसके लिये उसे ढेर सारा पैसा चाहिये। इसलिये एक दिन वो न चाहते हुये भी एक फाइट में कूद जाता है। लेकिन जब जैकलिन उसे अपना वादा याद दिलाती है तो वो कहता है मैने तीन महीने की पगार महज एक फाइट लड़कर महज तीन घंटे में कमा ली, और एक दिन नौकरी छूटने के बाद वो पूरी तरह इन्टरनेशनल बॉक्सिंग में उतरने का फैसला कर लेता हैं उधर सिद्धार्थ को जैकी बड़ी फाइट के लिये तैयार कर देते हैं। दोनों भाई एक साथ पहली दफा इन्टरनेशनल रिंग में उतरते हुये बड़े बड़े फाइटर्स को धूल चटा देते हैं। लिहाजा मजबूरन फाइनल में उन्हें आमने सामने आना पड़ता है अंत में जीत किसकी होती है ? और क्या अक्षय की पूरी फैमिली कंपलीट हो पाती है ?

dguj1bdtv5tk4bjq.D.0.Jacqueline-Fernandez-Akshay-Kumar-Movie-BROTHERS-Still

डायरेक्टर

करण मल्होत्रा इससे पहले अग्निपथ जैसी हिट फिल्म बना चुके हैं। ये उनकी दूसरी फिल्म है। जो हॉलीवुड फिल्म वॉरियर से प्रेरित है लेकिन करण ने उस फिल्म को अपनी फिल्म पर जरा भी हावी नहीं होने दिया। कलाइमेक्स में उसने लिबर्टी लेते हुये कुछ सीन्स में इमोशन भरने की कोशिश की है जो जरूरी था परन्तु फिल्म के पहले भाग में उन्होंने कुछ ज्यादा ही मिस्ट्री फैलाने की कोशिश की है लिहाजा दर्शक हर पात्र के सामने खडे़ एक सवाल को देखते हुये झुंझला जाता है लेकिन दूसरे भाग में दर्शक के इमोशन के अलावा थ्रिल, रोमांच के तहत रोगंटे खड़े हो जाते हैं। बेशक इस बार भी करण एक गतिवान और रोमांचकारी फिल्म बनाने में सफल रहे है।

Gaaye-Jaa-Shreya-Ghoshal-Mohd.-Irfan-Full-Song-Track-Free-Mp3-Download-Brothers-2015

अभिनय

करण ने जैकी की प्रतिभा का क्या खूब इस्तेमाल किया है और उन्होंने भी एक बार फिर साबित किया है कि वे पूरी तरह डायरेक्टर के एक्टर हैं। अक्षय ने एक बीमार बच्ची के पिता की मजबूरी को एक कुशल अभिनेता के तौर पर निभाया हैं। अपनी बेटी के प्यार में हर समझौता करने वाले पिता के तौर वे जबरदस्त अभिनेता के तौर पर उभरकर आते हैं । सिद्धार्थ मल्होत्रा हालांकि एक विलन में पूरी तरह एहसास करवा चुके हैं कि वे लंबी रेस के घोड़े हैं  लेकिन इस फिल्म में अपने लुक, फाइटर्स वाली बॉडी और अभिनय में वे अक्षय से भी आगे निकलने की कोशिश करते दिखाई देते हैं। जैकलिन इस बार एक ग्लैमरसहीन भूमिका में दिखाई दी। अपनी संक्षिप्त सी भूमिका को उसने सहजता से निभाया है। लेकिन मेहमान भूमिका में शैफाली छाया अपनी बेहतरीन  परफार्मेंस से दर्षक के दिल और दिमाग में पूरी तरह से छा जाती हैं। एक अरसे बाद आषुतोश राणा को ढंग की भूमिका मिली है जिसे उसने एक एक्टर की तरह निभा कर दिखाया। आइटम सांग में करीना कपूर ने डांस तो खूब किया लेकिन सांग थोड़ा कमजोर रहा। राज जुत्षी और कुलभूषण खरबंदा भी अच्छा काम कर गये ।

emotional-photo-of-sidharth-malhotra-from-brother-movie-10308

म्युजिक

अजय अतुल के सामने बड़ी चुनौती थी क्योंकि इस बार उन्हें पाश्र्व में कहानी के साथ चलने वाले गीत बनाने थे। वे अपने काम में एक हद तक सफल साबित रहे। क्योंकि एक भी गीत फिल्म की रफ्तार में बाधक नहीं बनता ।

क्यों देखें

हॉलीवुड में बॉक्सिंग पर बनी फिल्मों रॉकी या वॉरीयर जैसी फिल्में पसंद करने वाले दर्शकों ये फिल्म जरा भी निराश नहीं करेगी ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये