इन बॉलीवुड हस्तियों का नहीं है कोई गॉडफादर

1 min


ऐसा माना जाता है कि बॉलीवुड में जब तक किसी का कोई फिल्मी बैकग्राउंड ना हो या फिर गॉड फादर न हो, तो उसे सफलता नहीं मिलती या फिर कोई मुकाम हासिल नहीं होता। पर बहुत से लोग इस बात को गलत साबित कर बॉलीवुड के स्टार बन गए है उनकी सच्ची लगन, ढृढ़संसल्प ने ये साबित कर दिया कि बिना गॉडफादर के भी मुकाम हासिल किया जा सकता है। बालीवुड में बच्चन और कपूर खानदान के अलावा रोशन, खान और चोपड़ा फैमिली भी अपना दबदबा बनाने में लगी हुई है। ऐसे में उन स्टार्स की कामयाबी कहीं न कहीं और भी ज्यादा अहम हो जाती है, जिन्होंने अपने दम पर फिल्म इंडस्ट्री में मुकाम बनाया हो। इन सितारों के करोड़ो चाहने वाले भी हैं जिन्हें उनकी फिल्मों का बड़ी ही बेसब्री से इंतजार होता हैं। आइए आपको ऐसे ही लोगों के बारे में बताते है जो आज बॉलीवुड के जगमगाते सितारे हैं।

शाहरूख खान

बॉलीवुड में किंग खान कहे जाने वाले शाहरूख खान ने छोटे पर्दे के बेहद लोकप्रिय धारावाहिक फौजी से अपने कैरियर की शुरूआत की इन्होंने अपनी किस्मत खुद के दम पर ही बनाई उनके पास कोई गॉडफादर नहीं था। जब शाहरूख ने इस इंडस्ट्री में कदम रखा तो उनके पास कोई सिफारिश नहीं थी। उन्होंने अपने दम पर अपनी सफलता की कहानी लिखी। उन्होंने फिल्म दिवाना से अपने फिल्मी दुनिया में कदम रखा इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में एक से एक धमाकेदार फिल्में दी तभी आज उन्हें बॉलीवुड का किंग खान कहा जाता है। इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए उन्हें फिल्म फेयर की ओर से नए अभिनेता का फिल्म फेयर पुरस्कार भी मिला। इसके बाद शाहरुख ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और डर, बाजीगर, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, करन-अर्जुन जैसी सफल फिल्में देकर बॉलीवुड में एक खास मुकाम हासिल किया ।

अक्षय कुमार

बॉलीवुड के इस खिलाड़ी कुमार के भी क्या कहने.. न कोई फिल्मी बैकग्राउंड था, न कोई गॉडफादर। लेकिन उसमें संघर्ष करने की क्षमता थी  फौलादी इरादे थे और वह हार कभी नहीं मानता था। उसने जी तोड़ मेहनत की और आज उस राजीव हरी ओम भाटिया को दुनिया अक्षय कुमार के नाम से जानती हैं। उनकी इसी बात को ध्यान में रखते हुए फिल्म ‘खिलाड़ियों का खिलाड़ी’ में एक गाना उन पर फिल्माया गया है- ना हम अमिताभ, ना दिलीप कुमार, ना किसी हीरो के बच्चे, हम हैं सीधे-सादे अक्षय-अक्षय…’ जो सीधे तौर पर उनकी कहानी को बयां करता है बता दें कि खिलाड़ी कुमार बॉलीवुड में कदम रखने से पहले बैंकॉक में बावर्ची का भी काम किया है।

कंगना रनोट

पहाड़ की इस गौरी का फिल्मों और फिल्मी दुनिया से कोई रिश्ता नहीं था यानि की इनका भी कोई गॉडफादर नहीं है। फिल्मी बैकग्राउंड न होने की वजह से कंगना को तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा। जब उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखने की इच्छा अपने घर वालों की सामने रखी तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा लेकिन वो अपने फैसले पर अडी रही और मुंबई आ गई। उन्हें फिल्म क्वीन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुका है। बॉलीवुड की क्वीन बनना उनके लिए आसान नहीं था उन्हें ये मुकाम हासिल करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी। गैंगस्टर से लेकर वो लम्हे, लाइफ इन ए मेट्रो, फैशन, तनु वेड्स मनु तक अपने अभिनय का लोहा मनवाया है। क्वीन फिल्म की सफलता ने कंगना को बॉलीवुड में पूरी तरह से स्थापित कर दिया है और अब ये लगातार आगे बढ़ती जा रही है।

जॉन अब्राहम

जॉन अब्राहम एमबीए करने के बाद मुंबई आए और उन्होंने कई कारपोरेट कंपनियों में जॉब की, लेकिन जब वो एक एड एजेंसी में बतौर मीडिया प्लानर जॉब कर रहे थे तो उन्हें मॉडलिंग का अवसर मिला वहीं से उनकी किस्मत चमकी वो केवल उनके लुक्स ही थे जो उनके काम आए दर्शकों का दिल जीतने में जिसके बाद शुरूआत हुई उनके फिल्मी सफर की। जॉन ने अपने दमदार अभिनय से कई खिताब हासिल किए हैं उन्हें सेक्स सिंबल भी कहा जाता है। मीडिया प्लानर से लेकर मॉडलिंग तक और माडलिंग से लेकर बी-टाउन तक का उनका ये सफर आसान नहीं रहा जो उन्होंने किसी गॉडफादर के दम पर नहीं बल्कि कुद ही बनाई। जिस्म का बोल्ड अंदाज हो या फिर गरम मसाला में हंसाने वाला किरदार या फिर मद्रास कैफे में कड़ी मेहनत वाला गंभीर रोल ये सब बखूबी अदा किए जॉन ने।

विद्या बालन

विद्या का भी बॉलीवुड में कोई गॉडफादर नहीं था विद्या को अपने शुरुआती फ़िल्मी करियर में उपेक्षाओं का सामना करना पड़ा, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी। विद्या ने अपने करियर की शुरूआत में कई टीवी कमर्शियल ऐड और टीवी सीरियल में काम किया, लेकिन वो फेमस हुईं प्रसिद्ध टीवी शो हम पांच से जिसमें उन्हें उनके काम के लिए खूब सराहना मिली। विद्या ने कई म्यूजिक एल्बम/ वीडियोज में सहायक भूमिकाओं में यूफोरिया (bands), सुभा मुदगल और पंकज उधास जैसे गायक और बैंड के साथ काम किया। विद्या को उनके फिल्मीं करियर का पहला ब्रेक फिल्म परिणीता में मिला, ये फिल्म बॉक्सऑफिस पर असफल साबित हुई थी, लेकिन इस फिल्म में अपने बेहतरीन अभिनय से विद्या ने दर्शकों के दिलों में जगह बना ली थी इतना ही नहीं उन्हें इस फिल्म के लिए  शाइनिंग स्टार बॉलीवुड के पुरुस्कार से सामनित भी किया गया। विद्या की कुछ सर्वश्रेष्ठ फिल्में पा, डर्टी पिक्चर, डेढ़ इश्किया,  भूल भुलैया, कहानी, नो वन किल्ड जेसिका,  हमारी अधूरी कहानी है।

दीपिका पादुकोण

आज के टॉप एक्ट्रेस में शुमार दीपिका पादुकोण नॉन फिल्मी बैकग्राउंड से हैं, उनके पिता प्रकाश पादुकोण देश के बैडमिंटन प्लेयर रहे हैं। दीपिका ने मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की, 2006 में किंगफिशर कैलेंडर गर्ल बनने और म्यूजिक एल्बम में आने के बाद उन्हें फिल्म ऑफर हुई। दीपिका पादुकोण ने बॉलीवुड में 7 साल पूरे कर लिए हैं और कई उतार-चढ़ाव देखने के बाद आज वो बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस में गिनी जाती हैं। दीपिका की ये कामयाबी खास इसलिए भी हैं, क्योंकि ये मुकाम उन्होंने अपनी मेहनत और टैलेंट के दम पर हासिल किया है। अपनी पहली ही फिल्म ओम शांति ओम में शाहरूख खान के साथ नजर आने वाली इस अभिनेत्री ने आज वो मुकाम हासिल कर लिया है जिस तक पहुंचना आसान नहीं होता। कॉकटेल के बाद तो उनकी किस्मत का सिक्का ऐसा उछला कि उन्होंने एक के बाद एक हिट फिल्में दी।

SHARE

Mayapuri