स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की प्रार्थना सभा में शामिल हुई हस्तियाँ

1 min


Sh. Shahnawaz Hussain, Sh. Vijendra Gupta and Dr. Jagdish Mukhi

स्वर्गीय दादी लीला ममतानी सुखद स्मृति को श्रद्धांजली स्वरूप 26 नवंबर 2017 रविवार को उनकी पहली बरसी पर सिंधी सामाजिक एवं सांस्कृतिक समाज ने भिन्न क्षमता वाले लोगो के अंर्तराष्ट्रीय दिवस को समर्पित एक कार्यक्रम का आयोजन किया। दादी लीला ममतानी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, लेखिका, गायिका, विशिष्ट कवि एवं महत्वपूर्ण सामाजिक कार्यकर्ता थी। इसी बीच दादी लीला ममतानी की पहली बरसी पर दृष्टिबाधित छात्रों के एक समूह सक्षम स्वरांजली द्वारा भक्ति संगीत का कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। छात्रों ने अपनी बेहतरीन प्रस्तुति से सबका मनमोह लिया। सोसायटी के सदस्यों ने सक्षम स्वरांजली के छात्रों को भेट दी एवं सहभोज के रूप में उनके साथ भोजन साझा किया।

सिंधी सामाजिक एवं सांस्कृतिक समाज के इकट्ठा हुए लगभग 400 सदस्यों का जिसमें सक्षम, जनकपुरी के आर डब्ल्यू ए, सिंधी जनरल पंचायत, ममतानी परिवार एवं अन्य लोग थे, को संबंधित करने हुए असम के माननीय गर्वनर डाॅ. जगदीश मुखी ने श्रीमती लीला ममतानी की तस्वीर पर श्रद्धांजली अर्पित की एवं उन्हें विद्वान एवं बहुमुखी प्रतिभा की धनी व्यक्तित्व के रूप में व्याख्यापित किया। उन्होंने कहा कि उन्होंने सिंधी भाषा को अपने गीतों, भजनों एवं संगीत के माध्यम से जीवंत बना दिया। हम सबके लिए वो एक आदर्श है एवं उनके पद चिन्हों का अनुसरण करना चाहिए।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री शहनवाज हुसैन ने कहा कि दादी लीला ममतानी उनकी मां की तरह थी। उन्होंने उन्हें विभिन्न प्रतिभा संपन्न ममतामयी एवं लोगों के दुख-दर्द में साथ देने वाली महिला के रूप में व्याख्यापित किया। उन्होंने कहा कि वो एक सकारात्मक सोच रखने वाली महिला थी जो जरूरतमंदो की मदद को तत्पर रहती थी। उन्होंने आगे कहा कि हर उम्र के लोगो के सामंजस्य बिठा लेने की उनके भीतर अद्भुत क्षमता थी। उन्होनें यह कहते हुए अपना वक्तवय समाप्त किया कि उनके जीवन में दादी लीला ममतानी की उपस्थिति से वे धन्य अनुभव करते है।

नेताविपक्ष, दिल्ली विधान सभा श्री विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि दादी लीला ममतानी निःस्वार्थ एवं बहुमुखी प्रतिभा की धनी व्यक्तित्व वाली महिला थी। हमें गर्व है कि उनके जैसा महुमूल्य रत्न हमारे बीच रहा। सामाजिक जीवन, साहित्य, तृत्य, नाटक संगीत एवं कविता की दुनिया में अपने असीमित योगदान के लिए वे हमेशा याद रखी जाएगी। गुजरात के माननीय गवर्नर श्री ओ पी कोहली, पूर्व मेयर, दिल्ली श्री पृथ्वी राज साहनी एवं श्री श्याम शर्मा एवं महानगपालिका दिल्ली के सदस्य श्री नरेंद्र चावला, श्रीमती प्रमिला घई के अतिरिक्त बड़ी संख्या में लेखकों, कवियों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं विभिन्न संगठनों के शीर्ष लोगों ने कार्यक्रम में भागीदारी कर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

late Dadi Lila Mamtani – a freedom fighter, writer, singer, distinguished poet
Sh. Shahnawaz Hussain,
Sh. Shahnawaz Hussain, Sh. Vijendra Gupta and Dr. Jagdish Mukhi
FREEDOM FIGHTER REMEMBERED

Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये