‘उड़ता पंजाब’ के आगे नहीं झुका सेंसर बोर्ड

1 min


pehlaaz-nihalani-with-udta-punjab.gif?fit=650%2C450&ssl=1

‘उड़ता पंजाब’ फिल्म को लेकर विवाद बढ़ता ही चला जा रहा है। दरअसल फिल्म को लेकर निर्माता अनुराग कश्यप ने कहा कि ‘फिल्म से पंजाब शब्द को नहीं हटाया जा सकता है क्योंकि फिल्म पंजाब में ड्रग्स के प्रयोग पर आधारित है और पंजाब शब्द पूरी तरह से फिल्म के लिए अतिआवश्यक है। साथ ही सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी पर अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा कि फिल्म रिलीज होने में केवल नौ दिन बचे हैं और फिल्म में इतने बदलाव कर दिए गए हैं, यह तो पूरी तरह तानाशाही रवैया है। तो वहीं फिल्म सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी ने फिल्मकार अनुराग कश्यप द्वारा खुद को तानाशाह बताए जाने पर व यह आरोप लगाए जाने पर कि फिल्म में यह कट पंजाब चुनाव के मद्देनजर लगाए गए हैं, इन कट्स का पंजाब चुनाव से कोई लेना देना नहीं है। निहलानी ने कहा कि बोर्ड के निर्णय को कोई राजनीतिक दबाव नहीं बदल सकता।

पहलाज निहलानी का कहना है कि फिल्म पर बेवजह विवाद खड़ा किया जा रहा है। यह सब कुछ अनुराग कश्यप का पब्लिसिटी स्टंट है। फिल्म के 73 फीसदी हिस्से को मंजूरी दी गई हैं। फिल्म में 89 कट की बात नहीं की गई। मैंने अनुराग से बात नहीं की है। फिल्म में कट पैनल सदस्यों की सलाह पर निर्भर करता है

उन्होंने आगे कहा कि केवल पूरी फिल्म देखने के बाद ही यह समझ पाएंगे कि क्यों पंजाब शब्द हटाया गया है। फिल्म के बारे में अनुराग कश्यप के आरोप बिल्कुल बेबुनियाद हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये