‘चंद्रगुप्त मौर्य की शौर्य गाथा’ अब दंगल पर

1 min


सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के साम्राज्य से भला कौन परिचित नही। लेकिन उसके पीछे एक महान आचार्य का हाथ था जिसकी अदभुत परिकल्पना, राजनीति और संकल्प ने एक साम्राज्य के अनाचारों का अंत किया। जिसके पांडित्य न एक निम्न वर्ग के बालक को न केवल सम्राट बनाया बल्कि महान साम्राज्य मौर्य का संस्थापक भी बनाया। आचार्य की प्रबल बुद्धि कौशल ने खंड खंड में बटे राज्य को एक सूत्र में बंधे विशाल राष्ट्र के रूप में स्थापित किया। जिसकी कूटनीति का हर शताब्दी में लोहा माना गया। ऐसे ही आचार्य चाणक्य के शिल्प गाथा है ‘चंद्रगुप्त मौर्य’

chandrgupt morya

ये एक ऐसी गाथा है जो हर वर्ग के दर्शक को पसंद आने वाली है। ये धारावाहिक आधुनिक तकनीक, साउंड, थ्री डी इफेक्ट से युक्त टीवी के सफल धारावहिकाों में शामिल होने वाला है। दंगल टीवी पर इसका प्रसारण 20 दिसम्बर से हर शनिवार रविवार रात 7:30 बजे होने जा रहा है।
दंगल टीवी के प्रमुख मनीष सिंगल ने कहा कि दंगल टीवी व्यापक प्रसार वाला ऐसा लोकप्रिय चैनल हैं जिस पर वीर शिवाजी, झांसी की रानी और जय जय बजरंग बली जैसे पौराणिक धारावहिकों का प्रसारण किया जा रहा है। दंगल टीवी की पिक्चर तथा अन्य गुणों के तहत इस पर प्रसारित सभी धारावाहिकों पसंद किये जा रहे है। इसी क्रम में अब ये धारावाहिक भी प्रसारित होने जा रहा है जो पहले एनडीटीवी इमेजन में दिखाया जा रहा था।
सागर आर्टस बैनर द्वारा प्रस्तुत भूषण पटेल के निर्देशन से सजे इस धारावाहिक के प्रमुख कलाकार हैं मनाीष वाधवा, रूषिराज तथा सूरज थापर।

SHARE

Mayapuri