मूवी रिव्यू: जबरदस्त एक्शन पैक्ड फिल्म ‘कमांडो 3’

0 179

रेटिंग***

हमारे फिल्म मेकर्स अपनी फिल्मों में आतंकवाद जैसे विशयों को खूब भुना चुके हैं। निर्देशक आदित्य दत्त की फिल्म ‘ कमांडो 3’ भी आतंकवाद पर आधारित हैं लेकिन फिल्म के हीरो विद्युत जामवाल अपने जबरदस्त एक्शन से फिल्म को खास बना देते हैं।

कहानी

अपनी इंटैलीजेंस से पता चलता है कि देश में जल्द ही आतंकीयों द्धारा कोई बड़ा हमला होने वाला है, तो इसे विफल करने के लिये नंबर वन कमांडो करण सिंह डोगरा यानि विद्युत जामवाल को बुलाया जाता है। करण को जांच पड़ताल के बाद पता चलता है कि हमलों का मास्टर माइंड लंदन में बैठा ये ऑपरेशन सर्च कर रहा है । करण उसे नेस्तनाबूद करने का निष्चय कर लंदन की तरफ उड़ लेता है। उसके साथ है एनकांउटर स्पेलिस्ट ऑफिसर भावना शर्मा यानि अदा शर्मा है। लंदन जा कर पता चलता है, कि आतंकवादी मास्टर माइंड बराक अंसारी यानि गुलशन देवैया इस ऑपरेशन के पीछे है । वहां करण के साथ ब्रिटिश इंटैलीजेंस के दो ऑफिसर मल्लिका सूद यानि अंगिरा धर और अरमान यानि सुमित ठाकुर भी जुड़ जाते हैं। बराक एक बेहद शातिर अपराधी है जो करण से दो कदम आगे चलता है। आगे क्या होगा ये तो फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा।

अवलोकन

किसी भी एक्शन फिल्म में ये देखने में आता है कि कहीं न कहीं निर्देशक एक्शन के लोभ में कहानी को ताक पर रख देते हैं। कमांडो 3 में भी निर्देशक का ज्यादा जौर एक्शन की तरफ ही रहा, जो कि फ्रेंचाइजी होने के नाते स्वाभाविक भी है। फिल्म की कहानी अगर कुछ कमजोर है तो तकनीकी पक्ष उतना ही मजबूत रहा। कितनी ही जगह जबरदस्त एक्शन दृश्य दर्शक को मुंह खोलने पर मजबूर कर देते हैं। इसका श्रेय एक्शन मास्टर एलन अमीन, रवि वर्मा तथा एंडी लॉग को जाता है। एक्शन फिल्म होने के नाते म्यूजिक को ज्यादा अहमियत नहीं दी गई,  इसे निर्देशक की समझदारी कहा जा सकता है। क्लाइमेक्स में देश भक्ति भरा भाषण अखरता है ।

अभिनय

विद्युत जामवाल एक ऐसे ओरीजनल मार्शल आर्टस योद्धा हैं जिनके सामने टाइगर या रितिक रोशन भी पूरी तरह फिल्मी लगते हैं। उन्हें इंतजार है, एक ऐसी फिल्म का जहां उनके हुनर का सही उपयोग किया जा सके। यहां वे पूरी फिल्म को अंत तक अपने कंधों पर उठाये रहते हैं। कितनी ही जगह उनका हैरतंगेज एक्शन रौंगटे खड़े कर देता है, अफसोस कि फिल्म में एक्शन के सामने उन्हें एक्टिंग करने का मौका कम ही मिला। अदा शर्मा का साउथ इंडियन एक्सेंट प्यारा लगता है। फिल्म में उसके और अंगिरा धर के एक्शन दृश्य अच्छे बन गये हैं। सुमित ठाकुर भी ठीक ठाक रहे, लेकिन बराक अंसारी की नगेटिव भूमिका में गुलशन देवैया खास तौर पर प्रभावित करते हैं।

क्यों देखें

एक्शन पैक्ड फिल्मों के शौकीन दर्शकों को फिल्म खूब भायेगी।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply