मनोरमा जी को उनकी पुण्यतिथि पर याद करते हुए

1 min


मशहूर अभिनेत्री मनोरमा साल 1972 की फिल्म “सीता और गीता” और साल 1969 कि फिल्म “एक फूल दो माली” और साल 1968 की फिल्म “दो कलियां” आदी जैसी फिल्मों में कॉमिक तानाशाह चाची के रूप में अपनी भूमिका के लिए जानी जाती हैं।

उन्होंने 1936 में बेबी आइरिस के नाम से लाहौर में एक बाल कलाकार के रूप में अपना करियर शुरू किया था। इसके बाद, उन्होंने 1941 में एक एडल्ट एक्ट्रेस के रूप में अपनी शुरुआत की, और 2005 में आई फिल्म ‘वाटर’ में अपनी अंतिम भूमिका निभाई, वह इंडस्ट्री में 60 साल से अधिक समय तक रही। अपने करियर के माध्यम से उन्होंने 160 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया।

1940 के दशक की शुरुआत में नायिका की भूमिकाएँ निभाने के बाद, वह खलनायक या हास्य भूमिकाएँ निभाने लगीं थी। उन्होंने किशोर कुमार और मधुबाला के साथ उनकी सुपरहिट फिल्मों में एक ‘हाफ टिकट’ में हास्य भूमिकाएँ निभाईं थी। उन्होंने ‘दस लाख’, ‘झनक झनक पायल बाजे’, ‘मुझे जीने दो’, ‘महबूब की मेहंदी’, ‘कारवां’, ‘बॉम्बे टू गोवा’ और ‘लावारिस’ में यादगार परफॉरमेंस दीं।

मायापुरी कि ओर से प्राथना है कि, भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।

अनु- छवि शर्मा


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये