रामायण की सीता दीपिका चिखलिया की सरोजिनी फिल्म का पोस्टर जारी, देखें फर्स्ट लुक की तस्वीरें

1 min


Sarojini Film ka Poster

सरोजिनी नायडू की बायोपिक में लीड रोल निभा रही हैं दीपिका चिखलिया

लॉकडाऊन में जब रामानंद सागर की रामायण का दोबारा प्रसारण हुआ तो इसके कलाकारों को उस दौर से भी ज्यादा प्रसिद्धि मिल रही है। रामायण की सीता हो या फिर राम या लक्ष्मण..इन किरदारों को निभाने वाला हर कलाकार अब काफी पॉपुलर हो गया है। शायद इसी पॉपुलैरिटी के चलते हाल ही में दीपिका चिखलिया को सरोजिनी नायडू की बायोपिक में लीड रोल ऑफर हुआ था और अब दीपिका ने सरोजिनी फिल्म का पोस्टर शेयर कर दिया है।

इस फिल्म में अपने फर्स्ट लुक की तस्वीर दीपिका चिखलिया ने खुद अपने फैंस के साथ साझा की है जिसे लोग पसंद कर रहे हैं और देखते ही देखते वो वायरल भी हो गई है।

दीपिका ने अपने फैंस को दिया सरप्राइज़

अभिनेत्री दीपिका ने सरोजिनी फिल्म का पोस्टर अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर करके अपने फैंस को सरप्राइज़ दिया है। पोस्टर पर लिखा है – स्वतंत्रता की नायिका की एक अनकही कहानी। वहीं फिल्म से अपने इस फर्स्ट लुक को शेयर करते हुए दीपिका ने लिखा – ‘सरोजिनी नायडू… फर्स्ट लुक… पोस्टर’।

फिल्म का डायरेक्शन करेंगे आकाश नायक

एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया ने खुद इस बात की जानकारी दी थी कि वो सरोजिनी नायडू की बायोपिक में काम कर रही हैं जिसका निर्देशन आकाश नायक करेंगे। वहीं फिल्म को धीरज मिश्रा ने लिखा है। अब दीपिका ने सरोजिनी का पोस्टर भी शेयर कर दिया है जिसमें उनका लुक काफी दमदार नज़र आ रहा है।

रामायण में सीता का किरदार निभाया है दीपिका चिखलिया ने

साल 1987 में आई रामानंद सागर की रामायण में दीपिका चिखलिया सीता बनी थीं। लॉकडाऊन में ये धार्मिक धारावाहिक दूरदर्शन पर दोबारा से रिलीज़ हुआ जिसे लोगों का खूब प्यार मिला। लोगों ने रामायण को देखा और ये टीआरपी में नंबर वन पर आ गया। रामायण खत्म होने के बाद ही उत्तर रामायण शुरू किया गया। जिसके सभी एपिसोड भी संपन्न हो चुके हैं। सिर्फ रामायण ही नहीं इस वक्त दूरदर्शन पर महाभारत और श्री कृष्णा भी दिखाए जा रहे हैं।

पद्म सम्मान देने की उठाई है मांग

हाल ही में दीपिका चिखलिया ने रामायण के कलाकारों को कभी कोई सम्मान ना मिलने पर दुख भी जताया है। दीपिका ने कहा कि किसी भी सरकार ने उन कलाकारों को किसी भी तरह से सम्मानित नहीं किया और उनकी अनदेखी की। वहीं अगर मोदी सरकार को लगता है कि उन्होने रामायण के जरिए संस्कृति में कुछ योगदान दिया है तो उन्हें पद्म सम्मान देने के बारे में सोचें।

और पढ़ेंः रामायण सीरियल में इस शख्स ने निभाए हैं कई किरदार, अरूण गोविल की जगह कई बार बने ‘श्री राम’