दीपिका पादुकोण की फिल्म “छपाक” की कहानी पर राकेश भारती का दावा

1 min


Kanagan Ranaut Deepika Padukone

बॉलीवुड ग्लैमर की दुनिया है. यहां पर सभी के मन में नाम, शोहरत – दौलत पाने की लालसा होती है और जिनको बॉलीवुड में यह सब मिल जाता है, वह भी अपना मुकाम बनाए रखने के लिए कुछ न कुछ करते ही रहते हैं. फिल्मकार अपनी फिल्म को प्रसिद्धि दिलाने के लिए हिट कराने के लिए कोई न कोई स्टंट करते हैं या पीछे से स्टंट करवाते हैं. अभिनेता – अभिनेत्री भी कोई न कोई गॉसिप या न्यूज़ स्टोरी क्रिएट करवाते हैं. सन दो हजार अट्ठारह में रिलीज संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत (पूर्व शीर्षक पद्मावती) के विवाद की जानकारी सभी को होगी. फिल्मी दुनिया में ऐसे विवाद होते रहते हैं और फिल्मों के गीत संगीत और कहानी की चोरी को लेकर के भी कई मामले सामने आते रहे हैं.

यह नया साल 2020 है. अभी सप्ताह भर भी नहीं हुआ है कि,  मेघना गुलजार निर्देशित दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक को लेकर एक विवाद हाईकोर्ट में पहुंच चुका है. याचिकाकर्ता ने फिल्म पर कहानी चोरी के आरोप लगाते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है. उनका आरोप है कि एसिड अटैक सर्वाइवर की जिस कहानी पर फिल्म बनी है, वह उन्होंने लिखी है.

 आपको बता दें कि, “छपाक” एसिड हमले की शिकार हुई  महिला लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी पर आधारित फिल्म है. इस फिल्म में अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और विक्रांत मैसी ने मुख्य भूमिका निभाई है. यह फिल्म देशभर में 10 जनवरी 2020 को प्रदर्शित होगी. राकेश भारती ने दावा किया है कि, सन 2015 में उन्होंने “ब्लैक डे” नाम से फिल्म बनाने की योजना बनाई थी और इस विषय पर वह लगातार काम करते रहे हैं. फिल्म निर्माण के सिलसिले में ही उन्होंने फॉक्स स्टार स्टूडियोज में निर्माता को फिल्म की कहानी सुनाई थी, जिस पर छपाक बनी है. किसी कारणवश लेखक राकेश भारती अपनी फिल्म ‘ब्लैक डे’ नहीं बना सके और फॉक्स स्टार स्टूडियोज द्वारा फिल्म का निर्माण कर दिया गया है. इसके तहत उन्होंने मुंबई हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की है. जिसकी सुनवाई 27 दिसंबर 2019 को की गई थी और अगली सुनवाई के लिए 7 जनवरी 2020 की तारीख निर्धारित की गई है.

याचिकाकर्ता राकेश भारती का दावा कदाचित मजबूत नहीं है. यह शोहरत – दौलत पाने के लिए एक स्टंट – सा लगता है. तभी तो याचिकाकर्ता ने मांग की है कि, उसे एक सह – लेखक के तौर पर फिल्म ‘छपाक’ में श्रेय दिया जाये. इस संबंध में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस मुंबई अंधेरी पश्चिम स्थित रहेजा क्लासिक क्लब में की गई है. प्रश्न यह है कि, इस प्रेस कॉन्फ्रेंस से याचिकाकर्ता को लाभ मिलेगा या फिल्मकार को लाभ पहुंचाने के लिए यह सब एक पब्लिसिटी स्टंट है. क्या इस पब्लिसिटी से “छपाक” सिनेमाघरों में हिट हो जाएगी या कोर्ट का आदेश आएगा और फिल्म का प्रदर्शन रोक दिया जाएगा.

और पढ़े: हॉलीवुड के टॉप 10 कैरेक्टर्स को हिंदी में आवाज देने वाले आर्टिस्ट की लिस्ट


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये