देवानंद और उनकी काली शर्ट

1 min


देवानंद

अली पीटर जॉन

देवानंद साठ के दशक में सफलता की ऊंचाइयों पर थे। वो जितनी फिल्में चाहते साइन कर सकते थे, क्योंकि लोग और खासकर महिलाएं उनको देखने के लिए पागल थी। पर उन्होंने साल में 5 से ज्यादा फिल्में  कभी साइन नहीं की। उन्होंने एक बार मुझसे कहा, ‘अली, अगर मैं सभी फिल्में  करने लगूं जो मेरे पास आते हैं तो मैं आधा बॉम्बे खरीद लूं, पर मैंने ऐसा कभी नहीं किया क्योंकि मेरे लिए अच्छा काम जो सालों तक याद रखा जाए वो करना ज्यादा महत्वपूर्ण है।’

देवानंद साठ के दशक में सफलता
देवानंद

साठ के दशक में ही जब देव काली शर्ट पहन के घर से बाहर निकलते थे तो महिलाओं का हुजूम लग जाता था उनको देखने के लिए और  देवानंद काले शर्ट में इतने हैंडसम लगते थे कि महिलाएं अपनी भावना रोक नहीं पाती थी और पागल हो जाती थी। इसलिए सरकार ने देव आनंद को काली शर्ट पहनने पर बैन कर दिया और फिर देवानंद ने पूरे जीवन काली शर्ट नहीं पहनी ।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये