धर्मेन्द्र

1 min


बॉलीवुड के गर्म धर्म को जन्मदिन मुबारक

आज हिंदी फिल्मो के ही मैन धर्मेंद सिंह देओल उर्फ़ धर्मेंद्र का जन्मदिन है धर्म सिंह देओल जिनका स्टेज नेम धर्मेंद्र है और इनका जन्म 8 दिसम्बर 1935 को नसराली, पंजाब, ब्रिटिश इंडिया में हुआ था उनके बारे में आज हम आपको गर्म धर्म  बॉलीवुड के हैंड्स ही मैन धर्मेंद्र के बारे में कुछ ऐसा बताने वाले हैं जिसके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे ।

धर्मेद्र को भारत सरकार ने पद्म भूषण से भी सम्मानित किया।

धर्मेंद्र के पिता का नाम केवल किशन सिंह और माँ का नाम सतवंत कौर है | इनके पिता एक स्कूल के हेडमास्टर थे।

धर्मेन्द्र ने अपनी स्कूल की पढ़ाई गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल और इंटरमीडिएट की पढ़ाई रामगढ़िया कॉलेज, फगवारा से 1952 में पूरा कि ।

धर्मेंद्र की अब तक की लाइफ में तीन हेरोइनो से अफैर सबसे ज़्यादा मसहूर रहे मीना कुमारी ,सायरा बानू और हेमा मालिनी ।

धर्मेंद्र ने अपने जीवन में दो शादियाँ की पहली शादी साल 1954 में प्रकाश कौर कि थी और इन दोनों कपल्स के चार बच्चे भी हुए

जिनमे दो बेटे सनी देओल और बॉबी देओल हैं और ये दोनों बॉलीवुड फिल्म अभिनेता है और दो बेटियां विजेता देओल और अजिता देओल है और इन दोनों की शादी हो चुकी है । उसके बाद धर्मेंद्र का अफेयर्स हेमा मालिनी से फिल्म शोले के दौरान शुरू हुआ और इन दोनों ने २ मई साल 1980 में शादी कर ली और इन दोनों कपल्स की भी दो बेटियों हुई ऐश देओल और अहाना देओल ।

अपनी पहली पत्नी के डिवोर्स न देने के कारण इन्होंने मुस्लिम धर्म को अपना लिया और अपना नाम दिलावर खान रख लिया ताकि ये हेमा मालिनी से दूसरा विवाह कर सके ।फ़िल्मी पर्दे पर यह जोड़ी चाहे कितनी भी बेहतरीन दिखे पर असल ज़िंदगी में दोनों अलग-अलग रहते हैं। जहां हेमा मालिनी अपनी बेटियों के साथ रहती हैं वहीं धर्मेन्द्र सन्नी और बॉबी देओल के साथ रहते हैं।

धर्मेंद्र की पहली फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे ’ जो साल 1958 में सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी।लेकिन इन्होंने इन्हें हिंदी फिल्मो में पहचान मिली इन्होने अपनी पहचान मेरा गाँव मेरा देश, चुपके चुपके, दिल्लगी, नौकर बीवी का, सीता और गीता, शराफत, पत्थर और पायल, शोले, दोस्त, धरम वीर, चरस, कातिलों के कातिल, राजपूत, जनि दोस्त, जीने नहीं दूंगा, हुकूमत, राजतिलक, मोहब्बत की कसम, सल्तनत, बरसात, अपने, यमला पगला दीवाना और यमला पगला दीवाना 2 जो की इनकी हिट फिल्मे भी हैं ।

1975 में प्रदर्शित हुई फ़िल्म ‘शोले’ धर्मेंद्र के कैरियर की सबसे बड़ी हिट साबित हुई इस फिल्म के बाद धर्मेंद्र की गिनती विश्व के 25 बेजोड़ अभिनेताओं में होने लगी।

धर्मेंद्र की फ़ेवरेट एक्टर्स हेमा मालिनी और सुरैया हैं और एक्टर दादा साहब फाल्के हैं ।

धर्मेंद्र को शायरी लिखने का भी बहुत शोक है ।

धर्मेंद्र अभिनेता ही नहीं बल्कि निर्माता भी हैं। वर्ष 1983 में धर्मेंद्र ने अपने बड़े बेटे सन्नी देओल को फ़िल्म ‘बेताब’ और 1995 में छोटे बेटे बॉबी देओल को ‘बरसात’ फ़िल्म का निर्माण कर उन्हें बॉलिवुड में पर्दापण कराया।

70 के दशक में धर्मेन्द्र को दुनिया के सबसे ख़ूबसूरत मर्दों में से एक चुना गया था। यह सम्मान पाने वाले वह भारत के पहले शख्स थे। उनके अलावा यह सम्मान सिर्फ सलमान खान के पास है। इसके साथ ही उन्हें विश्व स्तर पर “वर्ल्ड आयरन मैन अवार्ड” भी हासिल है।

धर्मेंद्र को अपनी पूरी लाइफ में सिर्फ 3 ही अवार्ड्स मिले -पद्म भूषण (2012) सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार ‘घायल’ (1991) लाइफ़टाइम अचीवमेंट पुरस्कार (1997)

SHARE

Mayapuri