दिलीप कुमार अदालत से बा-इज्जत बरी

1 min


बॉलीवुड के जानेमाने मशहूर एक्टर दिलीप कुमार को 18 साल पुराने एक मामले में अदालत ने बरी कर दिया। उनकी पत्नी और मशहूर अदाकारा सायरा बानो ने ट्वीट करके यह जानकारी दिलीप साहब के प्रशंसकों को दी है।

सोशल मीडिया में इतनी ज्यादा उम्र में दिलीप कुमार को पेश होने के आदेश को लेकर काफी आलोचना हो रही है। दिलीप साहब एक पुराने केस में मंगलवार को गिरगांव में मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट बी.एस. खराडे की अदालत में पेश हुए। यह केस डेक्कन सीमेंट्स ने फाइल किया था। 1998 में दिलीप कुमार कोलकाता स्थित ट्रेडिंग कंपनी जीके एक्जिम इंडिया लिमिटेड में डायरेक्टर थे। डेक्कन सीमेंट्स ने जीके में 1 करोड़ रुपए का निवेश किया था। जब यह निवेश चुकाने का समय आया, तो दिलीप कुमार की कंपनी ने दो चेक इशू किए लेकिन वो बाउंस हो गए। उन पर चेक बाउंसिंग का केस निगोशेबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट की धारा 138 में किया गया।

SHARE

Mayapuri