‘डायरेक्टर कभी स्वार्थी नहीं हो सकता’ कहते हैं रणबीर कपूर

1 min


आज के पॉपुलर स्टार रणबीर कपूर ने जब बॉलीवुड में कदम रखा था तो उन्होंने हीरो बनना नहीं चाहा था बल्कि डायरेक्टर बनने की नीयत से फिल्म ‘प्रेम ग्रंथ’ ब्लैक तथा आ अब लौट चले को बतौर एसिसटेन्ट डायरेक्टर, डायरेक्ट किया था। लेकिन किस्मत ने मारी पलटी तो रणबीर डायरेक्शन के डिपार्टमेन्ट को बाय शाय करके हीरो बन गये। तो क्या रणबीर ने हमेशा के लिए डायरेक्टर बनने का इरादा छोड़ दिया? यह पूछने पर तमक कर रणबीर बोले, ‘‘आज नहीं तो कल मुझे फिल्में डायरेक्ट जरूर करनी है पर पहले मुझे कोई अच्छी कहानी मिले तो सही जिसे डायरेक्ट करने में मुझे मजा आये दूसरी बात यह कि बतौर हीरो मैं जरा स्वार्थी सा महसूस कर रहा हूं अपने आप को, एक डायरेक्टर स्वार्थी नहीं हो सकता, उसे पूरी यूनिट को साथ लेकर चलना पड़ता है, सारी मेहनत डायरेक्टर करता है पर नाम दूसरों का होता है, उसे यह सहन करना पड़ता है, जब मैं ऐसा कर पाऊंगा तभी डायरेक्टर बन सकता हूं।’’

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये