मेरी उनसे अच्छी बॉन्डिंग है – दिशा पटानी

1 min


दिशा पटानी ने अपना करियर तेलुगु फिल्मों से शुरु किया। बस जब एक बार दिशा – मुंबई एक इवेंट के लिए आयी और उसके बाद से मॉडलिंग एवं फिल्मों का ताँता सा लग गया। …बॉलीवुड में ‘एम.एस. धोनी – दी अनटोल्ड स्टोरी’ में एक छोटा सा किरदार निभा कर उन्होंने फिल्मी दुनिया के निर्देशक एवं निर्माताओं के दिल में अपने लिए एक जगह बना ली। हालांकि दिशा का फिल्मी सफर बहुत छोटा सा ही है, अभी तो उन्हें एक लम्बा सफर तय करना है। बहुत जल्द टाइगर श्रॉफ के साथ फिल्म ‘बागी 2’ जो रिलीज पर है -में दिशा कुछ एक्शन सीन्स भी करते हुए नजर आने वाली है।

 ‘बागी 2’ में अपने किरदार के बारे में कुछ बताएं ?

दरअसल में मेरे किरदार के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दे सकती हूँ सिर्फ इतना ही कहना चाहूँगी कि यह ‘बागी’ फिल्म से बहुत ही अलग किरदार है। यह मेरे रियल लाइफ जैसा किरदार बिल्कुल भी नहीं है। थोड़ा बहुत रिलेट कर पाती हूँ।  जिस तरह में रियल लाइफ में हों उससे बहुत अलग किरदार है यह। इस किरदार में मुझे अपने से एक अलग पॉइंट ऑफ व्यू लेकर सोचना है। यह अत्यंत परिपक्व करैक्टर है। पर हाँ, पूरी दुनिया को मैं सिर्फ और सिर्फ प्यार का सन्देश देना चाहती हूँ।

आप ने फिल्मी दुनिया में अपने बलबूते पर कदम रखा। क्या कहना है आपको ?

जी, बिल्कुल मैं खुश किस्मत हूँ कि मेरे को मेरे माता -पिता का भी ढेर सारा समर्थन मिला। मैं जब मुंबई एक बारी एक इवेंट में भाग लेने आयी, तब एक एजेंसी ने मुझे देखा और साइन कर लिया। बस इसी तरह मुझे हर महीने एक ना एक ऑडिशन का बुलावा भी भेज दिया करते वह लोग। फिर क्या था? मेरे को मॉडलिंग, कमर्शियल्स और अब फिल्मों में भी काम मिलने लगा। मेरे हिसाब से मॉडलिंग हमें फिल्मों में काम करने के लिए एक अच्छा अनुभव देता है। पर दोनों मेरे लिए एक जैसे ही है।

आपने खुद मुंबई आने का निर्णय लिया ?

बिल्कुल, मेरा कोई भी गॉड फादर नहीं है। मैंने कॉलेज के बाद, जब मुंबई में आकर मॉडलिंग और फिल्मों का हिस्सा बनना चाहा। उस समय मैं केवल 500/- रुपए लेकर कर घर से निकली थी। यहाँ मुंबई आने के पश्चात मैंने अपने माता- पिता से भी पैसे नहीं मांगे उसके बाद। मैं चाहती थी काम करके खुद पैसे कमाऊं। मैं खुश किस्मत हूँ, ईश्वर ने इसमें मेरा साथ भी दिया। जब मैंने अपनी पहली कमाई पायी तब मुझे सिर्फ यही याद है कि- मैंने अपने पूरे परिवार के लिए शॉपिंग की थी और मेरे सारे पैसे खत्म हो गए थे। 

टाइगर श्रॉफ के साथ लिंक अप की खबरें पढ़ कर कैसा लगता है ?

देखिये, लिंक अप के बारे में दूसरे शहरों के लोगों को कोई फर्क नहीं पड़ता है इन सब बातों से। मुझे नहीं लगता लिंक अप से हमें कोई भी फायदा होता है। फायदा तो आपको अपने काम से मिलता है। यदि काम अच्छा किया हो तो लोग पसंद भी करते हैं। लिंक अप जैसी खबरे केवल सोशल मीडिया के लिए खबर हो सकती है। मेरा रिश्ता टाइगर के साथ एक सामान्य सा रिश्ता है। और मैं उनके माता आयशा श्रॉफ, एवं पिता जैकी श्रॉफ के साथ भी मिलती जुलती हूँ। उनसे मिलने के बाद मुझे यह एहसास हुआ कि टाइगर इतना ग्राउंडेड कैसे है। मैं आपको बता दूँ -जैकी जी और उनकी माँ दोनों इतने मिलनसार व्यक्तित्व रखते हैं और साथ ही सबकी मदद करने के लिए हमेशा तत्पर भी रहते हैं, बहुत ही अच्छे स्वभाव का व्यक्तित्व है उन दोनों का। इसीलिए टाइगर भी मानवीय मिजाज के बन्दे हैं, मेरी उनसे अच्छी बॉन्डिंग है अतः हमारी ऑनस्क्रीन कैमेस्ट्री भी बहुत बेहतरीन लगती है।

बॉलीवुड में और कौन-कौन आपके दोस्त है ?

मेरे दोस्त केवल और केवल टाइगर और उनका परिवार ही है। मैं ज्यादा पार्टीज या बिना वजह किसी से ज्यादा मेल -जोल नहीं रखती हूँ। मैं आपको यह कह सकती हूँ- जो लोगों में धारणा बनी हुई है – यदि बॉलीवुड में पार्टीज में शामिल हो तो ही आपको फिल्मों में काम मिलेगा। तो यह धारणा बिल्कुल गलत है। जिस तरह दूसरे प्रोफेशन में भी यदि आप में टैलेंट है और यदि आप अपने काम में निपुण है तभी आपको काम भी मिलेगा और उसकी सराहना भी होगी। बस मैं अपने काम में फोकस्ड रहती हूँ। और मुझे काम मिल रहा है। अभी तो मेरी शुरुआत है, बहुत छोटी सी जर्नी तय की है मैंने। मुझे और भी मेहनत करनी है और अपना बेस्ट भी देना होगा। तभी मैं इस फिल्मी दुनिया में एक लम्बा सफर तय कर पाऊँगी।

आलोचना को कैसे लेती है आप? क्या आपको बुरा लगता है ?

देखिये फिल्म रिलीज होने के बाद क्रिटिक अपना मत तो जग जाहिर कर ही देते हैं। मेरी फिल्म ‘एम एस धोनी….’ में मेरी तारीफ ही हुई थी हालांकि बहुत ही चिंटू सा किरदार था मेरा। मुझे खुशी हुई कि  मेरे किरदार को लोगों ने पसंद किया। इससे मेरे जेहन में एक बात घर कर गयी -मुझे मेहनत करनी है। ….डेस्टिनी भाग्य मुझे हर वह चीज जरूर देगी जो मेरे नसीब में है। किन्तु बिना मेहनत के नहीं मिलता है। मैं बहुत ही सकारात्मक विचारों की लड़की हूँ , तो यदि आलोचना भी मिली तो उसे सोचूंगी -समझूंगी और उसे सुधारने की कोशिश ही करुँगी मैं।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Lipika Varma

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये