INTERVIEW!! फिल्म महिला वर्ग को पसंद आने वाली है ’’- दिव्या खोसला कुमार

1 min


यारियां के बाद दिव्या खोसला कुमार की दूसरी फिल्म का नाम है ‘ सनम रे’ । फिल्म का म्यूजिक और ट्रेलर काफी पसंद किया जा रहा है। इस लव स्टोरी फिल्म को लेकर क्या कहना है दिव्या खोसला कुमार का।

फिल्म को लेकर आपकी प्रतिक्रिया क्या होगी ?

मुझे यही कहना हैं कि मेरी पहली फिल्म ‘ यारियां ’ से ये फिल्म कतई अलग है । यारियां यंग स्टूडेन्ट्स पर आधारित थी लेकिन सनम रे एक लव स्टोरी है। इसमें प्यार को लेकर कई नयें सवाल हैं ।आप कह सकते हैं कि इस बार ये फिल्म यश चैपड़ा या संजय लीला भंसाली की फिल्मों से रिलेट करेगी ।

dir. divya khosla

क्या इसे ट्राएगंल लव स्टोरी है ?

ये ट्राएंगल लव स्टोरी नहीं है। बेशक फिल्म में दो लड़कियां और एक लड़का है । दरअसल फिल्म सोल मेट की बात करती है। हीरो यानी आकाश एक छोटे से शहर कनकपुर का हैं उर्वशी रौतेला पूरी तरह से आज की आधुनिक लड़की है यामी गौतम गांव की सीदी सादी खूबसूरत लड़की की भूमिका में है। अब तीनों में क्या मेल है यह फिल्म देखने के बाद पता चलेगा ।

फिल्म की कहानी के बारे में क्या कहना है ?

कहानी के लिये शॉर्ट में मेरा ये कहना हैं कि पुलकित सम्राट, यामी गौतम तथा उर्वशी रौतेला बचपन से एक दूसरे को जानते हैं बाद में किस प्रकार एक बार फिर तीनों मिलते हैं वैसे ये पुलकित और यामी की लव स्टोरी है। फिल्म का तीसरा किरदार उर्वशी रौतेला सरप्राइज है। लेकिन यह ट्रायगंल नही है ।

CasKMrDUAAAD1LK

फिल्म में क्या कुछ अलग है ?

काफी कुछ। जैसे एक तो फिल्म वेलेनटाइन डे पर रिलीज है इसलिये यूथ इस दिन को फिल्म से रिलेट करेगा। दूसरे फिल्म प्यार ही नहीं बल्कि दर्शक को भावनात्मक रूप से प्रभावित करने वाली है। मुझे विश्वास है कि फिल्म महिला वर्ग को बहुत पसंद आने वाली है। मैं म्यूजिक सिचवेशन ज्यादा पसंद करती हूं । इसलिये भूषण जी से सिचवेशन को लेकर काफी बातें होती हैं इसके बाद ही म्यूजिक तैयार किया जाता है। किसी भी गाने मे भूषण जी के काफी इनपुट्स होते हैं। दूसरे इस बार मैने सारे गाने खुद कोरियोग्राफ किये हैं।

CawYKYHUMAEE3tm

सुना हैं पुलकित और यामी को साइन करने के लिये आपने काफी टाइम लिया ?

ऐसा नहीं था। पुलकित सम्राट को साइन करने की एक वजह थी लेकिन उसे साइन करने के लिये मैने ज्यादा वक्त नहीं लिया था। दरअसल पुलकित की आंखों में एक अजीब सी उदासी दिखाई देती है उसी चीज को देखते हुये मैने उसे कहा कि मैं तुम्हें इसलिये साइन कर रही हूं क्योंकि मुझे तुम्हारी आंखों में एक अजीब सी उदासी दिखाई देती है। बाद में वह मुझसे शूटिंग के वक्त अक्सर खींचता रहता था कि उसकी आंखों में किस हद तक उदासी दिखाई दे रही हैं या आज तो मुझें आपकी आंखों में कुछ उदासी दिखाई दे रही है। फिल्म में पुलकित की एक ऐसी यात्रा हैं जिसमें वह अपने लिये इत्मिनान तलाशने की कोशिश करता रहता है। मेरा दावा हैं कि उसे मैने उसकी अभी तक की फिल्मों से बेहतर तरीके से यूज किया है। हां यामी गौतम को साइन करने में मैने थोड़ा वक्त लिया था। उसकी सबसे बड़ी वजह थी कि वह एक बेहद बिजी मॉडल है इसलिये उसका एक्सपोजर काफी है । फिल्म में मुझे उसे फ्रेश दिखाना था। लेकिन कैसे? कैसे उसके चेहरे पर ताजगी लाई जाये। इसके लिये मैने बाद में यामी के साथ ढेर सारी वर्कशॉप्स की। आज मैं कह सकती हूं कि जिसने भी फिल्म देखी हैं उसे यामी अपने मौजूदा परिवेश से अलग लगी है। उर्वशी रौतेला जैसी हैं उसे लगभग वैसा ही दिखाया गया है । उसकी बॉडी लैंगवेज, बोलचाल रहन सहन वैसा ही है जैसी वह है ।

7HK86D9q

यारियां और सनम रे में कितना फर्क है ?

देखिये, हर कहानी के लिये अलग ट्रीटमेंट होता है, उसकी अलग प्रस्तुति होती है । जिस प्रकार यारियां एक यंग ग्रुपऐज की थी उसके हिसाब से मैने उसकी कहानी में एक रफ्तार बनाये रखी थी, किरदारों की संवाद अदाईगी फास्ट रखी थी। दूसरे यूथफुल होने की वजह से वह हाई एनर्जिक फिल्म थी। जबकि सनम रे उसके विपरीत है, यहां कहा जाता है इतना तेज मत भागो थोड़ा ठहरो और अपने दिल की आवाज सुनो। फिल्म के एक डायलॉग के अनुसार कि ‘बडे़ शहरों में इतना शौर शराबा होता है कि आप अपने दिल की भी आवाज भी नहीं सुन सकते ।

divya-khosla-kumar_625x300_51409459753

फिल्म में ऋषि कपूर की क्या भूमिका है ?

ऋषि कपूर जी का फिल्म में केमियों है। वे पुलकित के दादा जी बने हैं। फिल्म मे उनके साथ पुलकित के सीन बहुत शांत और गहरे बन पड़े हैं ।

फिल्म को कहां कहां फिल्माया गया ?

हमने शिमला, चंडीगढ़ ,कालपाई , लद्दाख, कनाडा तथा मुबंई आदि की लोकेशंस पर फिल्म की शूटिंग की ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये