डा. रोजश बक्षी ने अनिल कपूर पर दबाव बनाने का आरोप लगाया

1 min


बॉलीवुड में किस तरह एक नामचीन स्टार या फिल्म मेकर छोटे प्रोडयूसर को अपने प्रभाव में लेने की कोशिश करता है। इस बात को प्रमाणित करती है इन दिनों बॉलीवुड में अनिल कपूर की फिल्म और एक छोटे प्रोडयूसर डॉक्टर राजेश बक्षी की फिल्म के टाइटल को लेकर छिड़ी जंग। दरअसल राजेश बक्षी की फिल्म का नाम ‘ वीरे की वेडिंग’  है तथा अनिल कपूर  ने अपने प्रोडक्षन की फिल्म का नाम रखा है ‘ वीरे दी वेडिंग’। राजेश बक्षी ने ये टाइटल पिछले साल इंपा में रजि. करवाया था इसके अलावा उनका ये ट्रेडमार्क भी रजि. है। इसके अलावा उनकी फिल्म की शूटिंग पिच्छतर प्रतिशत हो चुकी है, बस उसका लास्ट शेड्यूल बाकी है जो इसी महिने शुरू होने जा रहा है। जबकि अनिल कपूर की फिल्म की शूटिंग अभी स्टार्ट होगी।  हाल ही में अनिल कपूर ने  अपना स्टारी असर दिखाते हुये, इंपा में एक लैटर देते हुये राजेश बक्षी की फिल्म का टाइटल रोकने का आग्रह किया है। जिसके जवाब में राजेश बक्षी ने भी मय सुबूत एक लैटर इंपा को  दिया है।

राजेश बक्षी से बातचीत करने पर जो कहानी सामने आई वो इस प्रकार है। डा.राजेश का कहना है कि हमने पहले से ही इंपा में वीरे की वेडिंग टाइटल  रजि. करवा रखा है साथ ही इसका ट्रेडमार्क भी हमारे पास रजि. है लेकिन अनिल कपूर ने अपनी फिल्म का नाम वीरे दी वेडिंग बताते हुये  इंपा को लेटर दिया है कि वीरे की वेडिंग को रोका जाये। हमारी फिल्म पिच्छतर प्रतिशत कंपलीट हो चुकी है जबकि अनिल कपूर की फिल्म अभी स्टार्ट होनी है इसलिये जवाब में हमने भी मय सुबूतो के उनके खिलाफ इंपा में एक लेटर दे दिया है।  टाइटल रजि. कराने की प्रक्रिया बताते हुये राजेश कहते हैं कि जब भी कोई टाइटल रजि. करवाया जाता है तो  टाइटल रजि. करने से पहले इंपा एक दो महिना लगाती है क्योंकि इस बीच वो अपने सभी मेंबर्स से तहकीकात करती है कि वो टाइटल उनके पास तो नहीं है लिहाजा सब जगह से क्लीयरेंस मिलने के बाद अप्लाई करने वाले को वो टाइटल दे दिया जाता है। हमें ये टाइटल सारी प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद मिला। इसके बाद मैने से ट्रेडमार्क भी करवा लिया था । लेकिन अब अनिल कपूर इस पर जबरदस्ती दावा ठोकने की फिराक में हैं, यही नहीं वे हमारे पर मनोवैज्ञानिक दबाव  बनाने की कोशिश करते हुये इंपा में बडे़ और असरदार लोगों से  फोन तक करवा रहे हैं । लेकिन चूंकि मैं सही हूं इसलिये किसी धमकी में न आते हुये कोर्ट में जाने की सोच रहा हूं । मैने अपना टाइटल रजि. करवाने के अलावा ट्रेडमार्क भी करवा रखा है इसलिये इसे किसी रीजनल फिल्म में भी यूज नहीं किया जा सकता है । सभी का पता है अनिल कपूर ने शुरूआत में अपनी फिल्म का टाइटल वीरे की शादी रखा था। आप ट्रेड मेगजीसं या गूगल पर इस बात की ताकीद कर सकते हैं ।

वीरे की वेडिंग में जिम्मी शेरगिल, पंजाबी स्टार हीरोइन दिलजौत कौर है । वैसे उनके अपोजिट तीन हीरोइनें है । बाकी एक नया कपल है जिसका फिल्म की मार्केट स्ट्रेजी के तहत बाद में एनाउंसमेंन्ट किया जायेगा ।

डा. राजेश इससे पहले बतौर प्रोडयूसर डायरेक्टर हरियाणवी में बहूरानी, प्रेमी रामफल, प्यारा भरतार आदि फिल्में बना चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने इंडिया की पहली रेसलिंग हरियाणवी फिल्म बनाई थी जिसमें महाबली सतपाल हीरो थे। उन्होंने कई पंजाबी फिल्में निर्देशित की, जैसे मुकेश खन्ना को लेकर मावा ठंडिया छावा,फाएज अनवार की इश्क दा खूंटा तथा आर बी फिल्मस की मुर्गा ल्या मुर्गा। इसके अलावा उन्होंने बतौर एक्टर ढेर सारी फिल्मों में काम किया है जैसे आक्रोश, अथिति तुम कब जाओगे, बिट्टू बॉस, जिला गाजियाबाद, देसी कट्टे,टौर मित्रा दी तथा राजा हसन की राजस्थानी फिल्म मरू दा म्हारौ घर इत्यादि। उनकी आने वाली फिल्में हैं स्माल घर, बांबे ड्रीम तथा कैश है एश है । टाइटल की इस लड़ाई को लेकर उनका कहना हैं कि सांच को आंच नहीं। अगर मुझे प्रेशराइज किया तो मैं  कोर्ट जाउंगा।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये