Dulquer Salman ने सुपरस्टार पिता के साये से हटकर बनाई अपनी पहचान

1 min


Dulquer Salmaan

अभिनेता Dulquer Salmaan के जन्मदिन के अवसर पर, उनकी अपकमिंग तेलुगु फिल्म से उनके कैरेक्टर का पहला लुक बुधवार को जारी किया गया। इस फिल्म में वो लेफ्टिनेंट राम की भूमिका में दिखाई देंगे। 2018 के रनवे हिट, महानती के बाद तेलुगु में Dulquer की ये दूसरी फिल्म है। हनु राघवपुडी द्वारा निर्देशित फिल्म तेलुगु, मलयालम और तमिल में रिलीज़ होगी।

35 साल के Dulquer भारत के सबसे प्रसिद्ध फिल्म सितारों में से एक, ममूटी के बेटे हैं। उनकी अपनी पहली फिल्म के लिए स्ट्रगल नहीं करनी पड़ी लेकिन वो इससे बाहर निकलकर खुद काम करने में कामयाब रहे। उन्होंने अपने पिता की छाया में रहकर भी खुद की पहचान बनाई। वह आज पूरी तरह से अपनी योग्यता के दम पर एक स्टार के रूप में फैंस फॉलोइंग बनाई। उन्हें न केवल मलयालम सिनेमा के प्रशंसकों के लिए जाना जाता है, बल्कि पूरे देश में पहचाने जाते हैं।

Dulquer बचपन में फिल्म इंडस्ट्री से दूर रहना चाहते थे। इसका कारण ये था कि वो नहीं चाहते थे कि उनकी तुलना हमेशा उनके सुपर सफल पिता से की जाए, जो तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता सुपरस्टार ममूटी है। इसलिए उन्होंने अपनी पढ़ाई पर ध्यान दिया और पर्ड्यू यूनिवर्सिटी से बिजनेस मैनेजमेंट में डिग्री हासिल की। हालांकि, उन्हें जल्द ही पता चल गया कि वो 9 से 5 की नौकरी के लिए नहीं बने हैं। उनके लिए जिंदगी बोरिंग होती जा रही थी। इसलिए उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने का फैसला किया।

Dulquer ने अपने पिता के नक्शेकदम पर चलने का फैसला करने के बाद, उनकी माँ सल्फ़थ कुट्टी ने आगाह किया कि वे अपने पिता के समान सफलता पाने की उम्मीद न करें। यही कारण है कि Dulquer ने अपनी पहली फिल्म को बहुत बड़ा बनाने की कोशिश नहीं की।

वह देखना चाहते थे कि अपने सुपरस्टार पिता से कोई समर्थन प्राप्त किए बिना फिल्म कैसी बनती है। इसलिए वह निर्देशक श्रीनाथ राजेंद्रन की टीम में शामिल हो गए, जहां अधिकांश नए लोग थे। फिल्म हीट हुई और Dulquer ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

SHARE

Pragati Raj