एपिक चैनल की प्रस्तुति ‘संरचना- मैजिक ऑफ ऑफ एन्शियंट आर्किटेक्चर

1 min


महत्वपूर्ण ढंग से स्थित ज्योतिषीय टॉवर से लेकर प्रभावी एवं अचम्भित करने वाले मक़बरों तक, भारतीय वास्तुशिल्प आधुनिक मशीनरी की सहायता के बगैर सदियों से डिजाइन एवं अभियांत्रिकी की सीमाओं को पार करते रहे हैं। भारत के बेहतरीन वास्तुशिल्पीय रहस्यों से पर्दा हटाने के लिए एपिक चैनल अपने नये शो ‘संरचना-मैजिक ऑफ एन्शियंट आर्किटेक्चर‘ को पेश करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

epicइसमें देश के सबसे खूबसूरत स्मारकों का प्रदर्शन किया जायेगा, जो बरसों बाद भी जस के तस हैं। शो का प्रसारण प्रत्येक गुरूवार को रात 10 बजे किया जायेगा। ‘संरचना-मैजिक ऑफ एन्शियंट आर्किटेक्चर‘ का प्रसारण गुरूवार 15 जनवरी 2015 से किया जायेगा। यह दर्शकों को हमारे इतिहास के लोकप्रिय स्थानों की सैर करने और भारतीय इतिहास में दर्ज स्मारकों को खोजने तथा वास्तुशिल्प के लिहाज से महत्वपूर्ण स्मारकों के रहस्यों को जानने के लिए आमंत्रित करता है। ऐतिहासिक स्मारकों के त्रुटिरहित निर्माण को देखकर हर कोई आश्चर्यचकित रह जाता है। इनका निर्माण आज से लगभग पांच हजार साल पहले आधुनिक मशीनों और यांत्रिकी की मदद के बगैर किया गया था।

भारत के इन उत्कृष्ट वास्तुशिल्पीय अजूबों की सैर कीजिये जो समय की कठिन मार के बावजूद आज भी डटकर खड़े हैं। शो के विषय में श्री महेश समत, संस्थापक, एमडी, एपिक टेलीविजन नेटवर्क ने कहा, ‘‘पिछले कुछ महीनों में, एपिक चैनल को दर्शकों से जबर्दस्त प्रतिसाद मिला है। खासतौर से हमारे नॉन-फिक्शन लाइन-अप को काफी सराहा गया है। इसे ध्यान में रखकर, हमने अपनी नॉन-फिक्शन पेशकश में संरचना का समावेश करके इसे और समृद्ध बनाया है। संरचना में भारत के बेहतरीन वास्तुशिल्पीय इमारतों का प्रदर्शन किया जायेगा। हमें भरोसा है कि दर्शक संरचना-मैजिक ऑफ एन्शियंट आर्किटेक्चर के साथ पूरे देश की यात्रा करना पसंद करेंगे।‘‘ यह शो चैनल के लोकप्रिय नॉन-फिक्शन लाइन-अप अदृश्य, एकांत, रक्त और राजा, रसोई और अन्य कहानियां में ताजा संकलन होगा। संरचना-मैजिक ऑफ एन्शियंट आर्किटेक्चर का निर्माण मिलिंद सोमण के साथ साझेदारी में फेस एन्टरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया गया है जिसकी प्रमुख मोनिया पिंटो हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये