INTERVIEW!! “अम्मी 80 वर्ष की हो चली हैं – उनका “बनारस” का पुश्तैनी घर उन्हें गिफ्ट करना चाहता हूँ – आमिर

1 min


लिपिका वर्मा

आमिर खान अपना जन्मदिन, जो सी फेसिंग घर बांद्रा में स्थित है, वहां हर वर्ष मीडिया के साथ मनाया करते हैं। सो इस वर्ष वह 51 वर्ष के हो चले हैं हम सब सुबह सुबह उनके घर उनसे मिलने गए। आमिर खान जो कि अपने परिवार के बहुत ही करीब हैं और साथ ही एक इमोशनल बेटे भी हैं, उन्होंने इस जन्मदिन पर अपनी इच्छा जाहिर की है- तो जानिए आमिर खान क्या चाहते हैं इस जन्मदिन के उपलक्ष्य में ?

आप के 51 वर्ष पूरे हो चले हैं क्या विश पूरी करनी है आपको ?

मेरी अम्मी 80 वर्ष की हो चली हैं, मैं कुछ वर्ष पहले अस्सी घाट – बनारस गया था, अपनी अम्मी का पुश्तैनी घर देखा जो वहां पर है, बस मेरी दिली ख्वाहिश है कि मैं उन लोगों से आग्रह करूँ जो इस घर में फ़िलहाल रहते हैं कि यह घर मुझे वापस कर दें ताकि मैं इस घर को अपनी अम्मी को अपने जन्मदिन की भेंट में दूँ। उन्हें उनका “बनारस” का पुश्तैनी घर गिफ्ट करना चाहता हूँ!! मेरी सबसे बडी विश मेरी आने वाली फिल्म, “दंगल” की सफलता नहीं है परन्तु मेरी माँ अपने बचपन की यादों को वहां जाकर ताजा करें यही सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण इच्छा है मेरी।

aamir-khan-interview

यह ख्याल कब और कैसे आपको आया ?

दरअसल में, मैं कई दिनों से यही सोच रहा था कि अपनी अम्मी को ऐसा कुछ दूँ कि वह गदगद हो जायें और जब  मैं वहां गया तो मेरी इस इच्छा ने ज़ोर पकड़ लिया और मेरे पास भी बनारस में एक घर होगा वो भी अपनी अम्मी का पुश्तैनी घर। अगर ऐसा हो पाता है तो मैं सबसे ज्यादा खुश होऊंगा।

आपको किसने जन्मदिन की बधाई दी ?

सबसे पहले आज़ाद और किरण ने मुझे जन्मदिन की बधाई दी। आज़ाद ने मेरे लिए एक शर्ट पर कुछ कलाकृति की और उस शर्ट को किरण ने मेरे लिए बनवाया, यही वह शर्ट है जिसे आज में आप लोगों के समक्ष पहने हुआ हूँ।

आज आप बहुत भावुक हैं परिवार को लेकर जुनैद के लिए क्या कर रहे हैं आप ?

देखिये, मुझसे पहले मेरा परिवार आता है, सो जाहिर सी बात है बच्चों को जो कुछ भी चाहिए होगा उसे मैं पूर्ण करूंगा जुनैद को मेरा पूरा पूरा सपोर्ट है। वह जो कुछ भी करना चाहेंगे मेरा साथ होगा उसे। मेरे बच्चे जो कुछ भी निर्णय लेते हैं जो कोई भी काम करना चाहेंगे मेरा सपोर्ट है उन्हें।

AAMIR_001jpg (2)

अपने फैंस को कुछ संदेश देना चाहेंगे आप ?

मेरा रिश्ता अपनी ऑडियंस के साथ पिछले २७ सालों से चला आ रहा है। लगभग सब के सब मुझे बहुत ही प्यार करते हैं। जो लोग मुझ पर प्रश्न चिन्ह लगाते हैं वह लोग मुझे पसंद नहीं करते हैं और ऐसे लोग हर जगह होते हैं। मैं जो कुछ भी करूँ वह प्रश्न करने के लिए तत्पर रहते हैं हमेशा। दरअसल कुछ नाकारात्मक लोग हर जगह होते हैं और वह लोग जोर से हल्ला करते हैं उनकी आवाज़ तेज होती है, सो लोगों को निगेटिव चीज़ ही पता चलती है।  मेरे हिसाब से हम जो कुछ भी करते हैं वह हमे सचेत अवस्था में करना चाहिए, हमें हमेशा साकारात्मक ही रहना चाहिए और फोकस रहकर अपना काम करना चाहिए। मैं यही सब करता हूँ। नाकारत्मक लोगों को अपने ही हाल पर छोड़ देना चाहिए।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये