INTERVIEW!! ‘‘मैं भूमिका देखता हूं उसकी उम्र नहीं’’ – अनिल कपूर

1 min


अनिल कपूर उम्र के मुताबिक आज भी काम के पीछे नहीं भागते । उन्हें जो भूमिका अच्छी लगती वे वही करते हैं । जैसे पिछले दिनों अपने ही सीरीयल‘24’ में उन्होंने एक जवान लड़की के पिता की भूमिका निभाई, और वे उस भूमिका में बड़े स्वाभाविक लगे ।अब एक बार फिर वे जोया अख्तर की फिल्म ‘ दिल धड़कने दो’ में शेफाली शाह के पति और रणबीर सिंह तथा प्रियंका चैपड़ा के पिता की भूमिका निभा रहे है ।इस भूमिका को लेकर क्या सोचते हैं अनिल कपूर । बता रहे हैं इस मुलाकात में।

बेशक अनिल कपूर किसी भूमिका को बहुत सोच समझ कर करते हैं । लेकिन इस बार रणबीर सिंह और प्रियंका चोपड़ा के पिता की भूमिका स्वीकार करना,उनके लिये कितना चेलेंजिग रहा ?

मैं भूमिका देखता हूं उसकी उम्र नहीं । इससे बहुत पहले मैं इससे डेढ़ गुनी ज्यादा उम्र की भूमिकायें निभा चुका हूं । जबकि मेरी उम्र के कुछ अभिनेता आज भी बाल काले कर नायक की भूमिका का इंतजार करते हुए घर बैठे हैं ।जंहा तक इस भूमिका की बात है आज रणबीर या प्रियंका और मेरी बेटी सोनम की उम्र में दो चार साल का फर्क होगा, तो भला मुझे ऐसी भूमिका करने से क्यों एतराज होगा।

anil-kapoor-dkd-759

अपनी भूमिका के बारे में क्या बताना चाहेगें ?

यहां में एक ऐसे परिवार का मुखिया हूं जो चाहता है कि पूरा परिवार उसके इशारे पर चले । लेकिन क्या ऐसा संभव है । ये आपको फिल्म में ही देखना पड़ेगा ।

आपने बताया कि आपने इससे पहले भी इस तरह की भूमिकायें की हैं ?

जैसा कि मैने बताया मैने उन दिनों फिल्म लम्हें में अधेड़ भूमिका निभाई थी जब में मुष्किल से पेंतीस साल का था ।उसके बाद ईष्वर में तो मैने दादा का रोल किया था । इन सबसे पहले मैं कन्नड़ फिल्म में एक अधेड़ भूमिका निभा चुका हूं । मैने हमेशा भूमिका की डेफ्त देखी है,उसकी उम्र नहीं ।

01_Anil Kapoor on Salute red carpet

लगातार समुद्र में सफर करना हर किसी के बस की बात नहीं होती । आपने तो करीब पेंतीस दिन लगातार एक क्रूज पर शूटिंग की ?

बेशक फिल्म का अधिकांश भाग कू्रज पर ही शूट हुआ लेकिन हम हमेशा कू्र पर नहीं रहे । हम रात को सोते कू्रज पर थे लेकिन अगले दिन हमारी आंख खुलती थी तो हम एक नये देश में होते थे। हमने करीब आधा दर्जन कन्ट्रीज में शूटिंग की जैसे फ्रांस, इटली,ट्युनेशिया,अफ्रिका तथा बारसोलीना आदि । हर देश में हमें कहीं चार घंटे तो कहीं पांच घंटे की क्रूज ठहराने की अनुमति मिलती थी । उसी रिकार्ड टाइम में हमें वहां के सारे सीन शूट करने होते थे ।लेकिन इतना जरूर कहना चाहूंगा कि अपने पूरे कॅरियर के दौरान ये मेरा पहला अनोखा अनुभव था जंहा काम करने का अलग आंनद उठाने का अवसर मिला ।

सुना है आपने विग लगाने से मना कर दिया था इस लिये आपके ओरीजनल बालों को रंगा जाता था ?

दरअसल विग में एक नकलीपन झलकने लगता है । लेकिन शुरू में मेरे बालों के साथ हेयर ड्रेसर कई कई घंटे लगाने लगे तो एक दिन जोया ने खुद उन्हें टोकते हुए कहा ये क्या रहे हो । अगर इन्हें कोई कैमिकल इफेक्ट कर गया तो ? इसके बाद उन्होंने मुझे वहीं सफेदी लगानी शुरू कर दी जो अक्सर फिल्मों में यूज की जाती रही है ।

anil5

एक लेडी डायरेक्टर के साथ काम करने का कैसा अनुभव रहा ?

जंहा तक जोया की बात की जाये तो उसके तो खून में कला है । जावेद अख्तर और फरहान अख्तर की बहन भी तो उन्हीें के जितनी टेलेंटिड होगी । ऐसा वह अपनी पहली फिल्म में ही साबित कर चुकी है। जोया का कहानी कहने का बहुत अच्छा सेंस है । उसने फिल्म के लिये भी ऐसी कहानी चुनी है जो कहने को तो पारिवारिक फिल्म हैं लेकिन साफ पता चलता है कि उसका टारगेट आज के युवा भी हैं। फिल्म का ट्रीटमेंट इतना अलग है कि फैमिली फिल्म होते हुए भी इसमें आपको कहीं रोना धोना नहीं दिखाई देगा ।

रणबीर सिंह और प्रियंका के बारे में कया कहना चाहगें ?

ये बड़ा ही घिसा पिटा सवाल है । आज प्रियंका को कौन नहीं जानता कि वह कितनी बड़ी स्टार है बावजूद इसके फिर भी कितनी डाउन टू अर्थ लड़की है । इन दिनों वह एक इंगलिश सीरियल में काम कर रही है । इसके बारे में उसने पहले मुझे सलाह ली थी । मैने उसे कहा था कि उसे वो शो जरूर करना चाहिये । रणबीर कमाबेश अभी नया है लेकिन उसने इतने कम समय में ही स्टार का दर्जा हासिल कर लिया । ये उसकी मेहनत का ही नतीजा है । वो काफी अच्छा और अपने सीनियर की इज्जत करने वाला लड़का है । वहीं क्यों शेफाली शाह कितनी बड़ी एक्ट्रेस हैं उसके साथ काम करते बहुत अच्छा लगा ।

आपकी आने वाली अन्य फिल्में ?

आने वाली फिल्म का नाम है ‘ वेलकम बैक’ लेकिन इसके बारे में बाते करना अभी मुनासिब नहीं होगा ।

welcome_back_0


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये