“मेरे बालों में तेल वाली तस्वीर आपको कहीं न कहीं जरूर मिल ही जाएगी” माधुरी दिक्षित

1 min


लिपिका वर्मा 

माधुरी दिक्षित अपने समय की न केवल एक अच्छी अभिनेत्री रही है किन्तु बहुत अच्छी डांसर भी रही है। आजकल कभी कुछ रियलिटी डांस शोज की जज बनी नजर आती  है और वह अब अपने  वेबसाइट के द्वारा हर एक डांसर को अपनी तरह निपुण बनाना चाहती है। हाल ही  में  ‘फिक्की “एफ आई सी सी आई  2017 में अपने पति के साथ डिजिटल दुनिया के ऊपर बातचीत करते हुवे हुए ढेर सारी  जानकारी दे गयी माधुरी । आज के बच्चो को किस तरह डिजिटल वर्ल्ड  से ढेर सारी  एजुकेशन मिल रही है उस पर भी उन्होंने प्रकाश डाला । और तो और माधुरी ने अपने  गानों पर जो डांस किया है वह  आज भी पसन्द किये जाते है उसके लिए अपने फैंस और अपने फोल्लोवेर्स को लेकर तहदिल से आभारी भी है माधुरी जी।

पेश है माधुरी दिक्षित के साथ लिपिका  वर्मा की बातचीत के कुछ अंश।

डिजिटल दुनिया के बारे में और आपने  भी जो डिजिटल डांस की दुनिया के लिए रास्ते  खोले हैं उस पर ज़रा  प्रकाश  डाले?

यह कहना गलत नहीं होगा कि आज डिजिटल दुनिया बड़ी तेजी से बढ़ रही है। आज के युग के बच्चे फिक्शनल कहानियां सुनना नहीं पसन्द करते है। हमने अपनी नानी दादी से ,”चंदामामा” की कहानियां सुनी हैं , वही  हम सुन कर बड़े हुए हैं। और उन्हें सुनकर हम बड़ा ही लुफ्त उठाते  थे. किन्तु आज यदि मैं यह बोलू कि  एक महिला चाँद पर रहती है तो मेरे बच्चे मुझे तुरन्त करेक्ट करते हुए कहते हैं -चाँद पर गुरुत्वाकर्षण शक्ति होती है माँ। वो भला वहां कैसे रह सकती है ? आज के बच्चो को तथ्य पूर्ण कहानियां चाहिए होती है।

डिजिटल वर्ल्ड के फायदे क्या लगते है आपको  अपना विचार शेयर करे?

डिजिटल वर्ल्ड के फायदे बहुत है हम सारी  दुनिया  के सम्पर्क में रह सकते है। और हर जानकारी भी हासिल कर सकते है। अब फ़िल्में देखने के लिए –  सिर्फ 70 एमएम का पर्दा ही नहीं रह गया है। आप के पास , “आई  फ़ोन “भी है ,  जो आप कही भी कभी भी, कोई भी गाने और फिल्म देख कर एंटरटेन  हो सकते है। आज गूगल  करके किसी भी विषय पर हर बच्चा जानकारी हासिल कर सकता है ।  चाहे फिर उसे किसी स्पोर्ट्स (खेल कूद) से जुडी कोई जानकारी , या फिर फिल्मों  या फिर अपनी पढ़ाई  से सम्बन्धित जानकारी लेनी  हो ? यह सब एक क्लिक पर उसे मिल जाती है। आज का बच्चे किसी जानकारी का  मोहताज नहीं है।

 आप ने डांस क्लासेस की एक वेबसइट भी  खोली  है। क्या इससे  सब लोग  डांस सीख पाएंगे ?

 देखिये , सीधी  सी बात है जब मैं पहली बारी अपने पति  डॉक्टर नेने को मिली थी तब वह हेल्थ केयर के ऊपर कुछ डिजिटल काम कर रहे थे।  तब मेरे मन में भी उसी समय एक विचार आया -क्या मै भी अपने डांस के जूनून को डिजिटल पर पेश कर सकती हूँ ? मैंने जो कुछ भी अपने गुरु सरोज खान जी एवेम बिरजू महाराज से सीखा  है क्या वह सब में एकजुट कर अपने फेंस को  नृत्य  सिखा सकती हूँ? जब मुझे इस बात का ज्ञान हुआ तो मैंने उसी समय यह तय कर लिया कि- मैं अपनी नृत्य की एक वेबसाइट खोलूंगी और उस में अलग अलग कोरियोग्राफर  लेकर कुछ  डांस के एपिसोड बना कर  उस पर लोड कर  दूंगी। और ऐसा किया मैंने। आज मेरे फैंस उस वेबसाइट पर जाकर अपने आप उन एपिसोड्स को बार -बार देख कर अपने आप को डांस में निपुण कर  सकते है। आज उन्हें ऐसे गुरु भी मिलना मुश्किल है। सब कुछ व्यवसायिक हो गया है। जबकि हमारी वेबसाइट से वह बहुत कुछ सीख सकते है। यह मेरे लिए एक ख़ुशी की बात है कि – जो कुछ मुझे मिला है वह मैं सबमें बाँट रही हूँ। और यह सब डिजिटल उन्नति की वजह से ही हो पाया है। वह कहते है न -अपना ज्ञान जितना बांटोगे वह उतना ही बढेगा।

madhuri-launch

शादी ब्याह में भी नाचने वालो को कुछ सीख मिल जाती है क्या आपके इस वेबसाइट से?

जी बिलकुल, आज डेस्टिनेशन वेडिंग बहुत ही प्रचलित है। इणिडया में यु एस  में और अन्य देशों में भी लोग एक दूसरे की शादी में नाचना पसन्द करते है। आज ऐसी शादियों में ,यह  सब एक साथ एक कदम ले कर नाच सकते है। हर कोई अलग अलग देशों में रहता है। किन्तु शादी के समय एक जुट होता है। यदि वह किसी गाने का चयन कर ले तो उस गाने के एपिसोड हमारे साइट से निकाल  कर रिहर्सल  कर सकता है हर कोई । इस से दूर और अलग रह कर भी जब शादी स्थल पर पहुँचते है तो सब यह देख कर खुश होते है किउनके स्टेप्स एक साथ ही चल रहे है। यह  डिजिटल उन्नति की वजह से ही हो पाया  है।

क्या आज  की अभिनेत्री बॉलीवुड के गांनो  पर नाच कर खरी उतर रहीहै ? बॉलीवुड के गाने आज कल आइटम सांग ही  बन कर रह गए है ? क्या कहना चाहेंगी आप?

देखिये, आज मेरी पहचान बॉलीवुड में अभिनय और डांस कर के ही हुई  है। आज जो कुछ भी मै हूँ बॉलीवुड की वजह से ही हूँ -नाम और शौहरत  बॉलीवुड ने ही दी है मुझे ।  यह जरूर है कि  लोग अच्छे नृत्य बॉलीवुड में देखना पसन्द करते है। मैंने जो कुछ नटखट गाने किये  है उसका  श्रेय सरोज जी को जाता है। इनकी वजह से उनके स्टेप्स की वजह से आज भी मेरे गाने  डांस -‘चोली के पीछे, मोहे रंग  दे  वैगरा गाने लोगों को न केवल पसन्द है किन्तु आज भी उनको देखना  चाहते है। यह इसलिए है क्योंकि उस में अदा  है नजाकत है। दरअसल  में कत्थक सीखने के बाद डांसर में एक अदा  और नजाकत खुदबखुद आ जाती है। आजकल कही कही वह मिस हो रहा  है। हर गाने में अदा  होना जरुरी है तभी उस में एक खूबसूरती आती है।

आज भी आपके बहुत फैंस है। कभी उनके साथ सेल्फी शेयर करने में आपको कोई एतराज होता है ?

 बिलकुल  नहीं। हमारे टाइम में तो ऑटोग्राफ साईंन करने का चलन हुआ करता था। लेकिन आज हर कोई सेल्फी लेना  चाहता  है और अपने फैंस के साथ सेल्फी खिंचाने में मुझे कोई एतराज  नहीं होता है। आजकल जब कभी मैं कुछ थोड़ी बहुत शॉपिंग खुद कर लिया  करती हूँ। … खासकर जब कभी अपने बच्चो के लिए दूध लेने नीचे इमरजेंसी में उतारना होता है ,और मेरे बालो में तैल लगा होता है , कई बारी तो में यू ही कुछ भी पहन के निकल जाया करती हूँ , उस समय भी जब मेरे फैंस मुझ से सेल्फी लेने की गुजारिश करते है तो मैं उन्हें सेल्फी दे ही देती हूँ, उन्हें निराश करना नहीं चाहती हूँ। आज जो कुछ भी हूँ उन्ही की वजह से हूँ। आप गूगल कर  देख लिजिये , मेरे  बालों में तेल वाली तस्वीर आपको कही न कहीं जरूर मिल ही जाएगी।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये