INTERVIEW!! ‘महिलाओँ की इज्जत करना आना चाहिए’ – पाखी हेगड़े

1 min


भोजपुरी मराठी तेलुगु पंजाबी फिल्मों की नंबर वन अदाकारा पाखी हेगड़े से हरविन्द्र मांकड़ की एक अतरंग मुलाकात

प्रतिभा किसी भाषा, किसी प्रदेश या देश की मोहताज नही होती। आपकी कला, आपका अभिनय और हर वो गुण जो ईश्वर ने आपको नवाजा है वो एक ना दिन अपनी चमक दुनिया को दिखा ही देता है।

ऐसी ही एक बहुप्रतिभामुखी अभिनेगी है पाखी हेगड़े। महाराष्ट्रीयन होने के बावजूद उन्होंने हिंदी टीवी सीरियल, भोजपुरी फिल्में, तेलुगू फिल्में की है। और अब तो उन्होंने एक पंजाबी फिल्म में भी अपना लोहा मनवा लिया है। मेरी उनके घर पर पारिवारिक भेंट हुई और उन्होंने अपने कुछ अनुभव मुझसे शेयर किये।

आप भोजपुरी फिल्मों की सुपरस्टार हैं। कैसा लगता है जब लोग आपको अपना आदर्श मानते है?

हरविन्द्र जी, यह मेरा सौभाग्य है कि भोजपुरी फिल्मों में मुझे ज्यादातर किरदार ऐसे मिले जो औरत को उसका हक दिलाते है। फीमेल बेस्ड किरदार ऐसे मिले जो औरत को उसका हक दिलाते है। फीमेल बेस्ड कहानियां ज्यादातर मेरे हिस्से में आई है। और मैं महिलाओँ को इंसाफ दिलाती नजर आती हूं। दर्शक उन फिल्मों को अपने जीवन से जोड़ते हैं और अक्सर अपनी समस्याएं लेकर मेरे पास आते है।

IMG_20150616_192244-2

यानि आपने सोशल वुमेन वाली फिल्में ज्यादा की है?

समाज की हर बुराई के खिलाफ में लड़ी हूं। भ्रूण हत्या हो या महिला आरक्षण हो.. मैंने लगभग हर सामाजिक कुरिति के खिलाफ आवाज उठाई है।

11393379_796641357116652_6329892433958458644_o

आपका सफर टीवी से शुरू हुआ था, आज इस मुकाम पर आकर क्या वो दिन याद आते है?

मैंने अपना सफर डीडी वन के सीरियल ‘मैं बनूंगी मिस इंडिया’ से शुरू किया था जो तीन साल तक नंबर बन सीरियल रहा। आज बेशक मैं फिल्मों में व्यस्त हो गई हूं पर फिर भी टीवी मेरा पहला प्यार है। और कोई अपनी शुरूआत और अपना पहला प्यार कभी नही भूलता।

भोजपुरी सिनेमा में आपने लगभग हर कलाकार के साथ काम किया है। वहां के कुछ अनुभव बताइए?

जब मैंने स्टूडियो लिंक की ‘बैरी पिया’ की थी तो मुझे उस फिल्म का क्रिटिक्स अवार्ड मिला था। रवि किशन और नगमा के साथ मेरी फिल्म ‘सैंया से सोलह श्रृंगार’ सुपर हिट रही थी। अंक मीडिया कि ‘निरहुआ रिक्शावाल’ ने तो मेरी पहचान घर घर तक बना दी। यह अपने समय की सुपर डुपर हिट फिल्म थी। इसके अलावा ‘भैया हमार दयावान’ ‘परमवीर परशुराम’ ‘गंगा जमुना सरस्वती’ ‘प्यार मोहब्बत जिंदाबाद’ ‘देवर भाभी’ व अमिताभ बच्चन जी के साथ ‘गंगा देवी’ ‘हंटरवाली’ जैसी लगभग 50 फिल्मों से दर्शको के दिलो की गहराई को छुआ और उनका प्यार पाया।

38826_112043262180856_100001255486589_76121_2675667_n

अपनी आनेवाली फिल्मों के बारे कुछ बताइए?

मेरी पंजाबी फिल्म ‘कुंदेसन’ रिलीज़ होने जा रही है। यह एक सत्य कथा पर आधारित फिल्म है। जिसमें बिहार की एक लड़की को बेच दिया जाता है और उसका दर्द, उसकी पीड़ा को मार्मिक अंदाज में दर्शाया गया है।

गुड्डु धनोवा के डायरेक्शन में मराठी फिल्म ‘गुलाबी’ है जिसमें सचिन खेड़ेकर के साथ नजर आऊंगी। मराठी में ही ‘सत्यागत’ है जिसमें शंकर महादेवन का म्यूजिक है और सचिन तेंदुलकर के भाई नितिन तेंदुलकर गीत लिखे है।

11406980_796666130447508_4128968200734978749_n

पिछले दिनों एक कंटोर्सी भी आपके नाम के साथ जुड़ी। आखिर क्या सच्चाई है उस घटना में?

जो लोग मेरी फिल्में देखते है या मेरे फैन है, वो हर हालत में मुझसे मिलना चाहते है। बस इसी बात का कुछ असामाजिक तत्व गलत फायदा उठा लेते हैं।

बिहार की एक मासूम लड़की को मेरे फेसबुक अकाउंट से बेवकूफ बनाया गया उसे मुझसे मिलाने का लालच देकर दिल्ली तक बुला लिया गया। यह तो ईश्वर की कृपा थी कि उसकी मां उसके साथ थी। वो लोग उसे यहां वहां घुमाते रहे और अंत में वह किसी तरह मुबई मेरे तक पहुंच गई । मैं यह बात सिर्फ इसीलिए शेयर कर रही हूं कि मां बाप को बच्चों पर नजर व ख्याल दोनों रखना चाहिए। वर्ना बच्चो, खासकर लड़कियों के साथ हीरोइन बनाने के नाम पर कुछ भी अनहोनी हो सकती है।

मैं अपना इमेल आई डी दे रही हूं। जिस किसी को मेरे से बात करनी हो वो डायरेक्ट इसी के माध्यम से सीधा मुझसे संपर्क कर सकता है। मेरी इमेल आईडी है pakkhihegde@gmail.com

पाखी, यह तो आपका नेक काम है। पर मैंने सुना है आपकी खेलों में भी बहुत रूचि है इसलिए आप  CCL टीम भी खरीदने जा रही हो?

बस देखने रहिए.. उपर वाले ने चाहा तो जल्दी ही ‘भोजपुरी दबंग टीम’ के जरिए अपना खेलों के प्रति भी योगदान दूंगी।

ccl_4_semi_final_kerala_strikers_vs_bhojpuri_dabanggs_match_photos_88f3929

जाते जाते मैं उस हिंदी फिल्म की बात जरूर करूंगा, जिसके चर्चे पूरे बॉलीवुड में चल रहे है?

जी हरविन्द्र जी, वो फिल्म है “द ब्लैक ट्रुथ” यह डायन प्रथा पर आधारित फिल्म है। कैसे डायन कहकर एक औरत पर अत्याचार किये जाते हैं और कैसे उसके बावजूद वो अपने बच्चे को पढ़ाती है। आप फिल्म देखियेगा.. सब जान जायेंगे। यह भी वास्तविक घटना पर आधारित फिल्म है।

यदि हर औरत पाखी हेगड़े की तरह दबंग व जुल्म के खिलाफ खड़ी हो जाए तो शायद हमारे देश में महिलाओं को उनका वो स्थान मिल जायेगा जिसकी वो हकदार है।

 

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये