मेरा किसी से झगड़ा नही है – शत्रुघ्न सिन्हा

1 min


044-34  Shatrughan Sinha

 

मायापुरी अंक 44,1975

उस दिन शत्रुघ्न सिन्हा फेमस स्टूडियो मं ‘चम्बल की कसम’ की शूटिंग कर रहे थे। हम भी वहां पहुंच गये। उनसे मैकअप रूम में ही मुलाकात हो गई। हमने कहा।

क्या बात है आज आप अकेले ही बैठ हैं?

क्या करू अभी चान्दी वली से शूटिंग करके आया हूं। बहुत थक गया हूं। शूटिंग चलती रहे तो थकान महसूस नही होती। लेकिन यहां आने के बाद से अभी तक एक ही शॉट हुआ है। पता नही प्रोड्यूसर डेट लेकर उनका पूरा-पूरा इस्तेमाल क्यों नही करते? खुद सुस्त काम करते हैं और आरोप स्टार्स पर डाल देते हैं। शत्रुघ्न सिन्हा ने बड़ी थकी हुई आवाज़ में कहा।

आपकी फिल्म ‘अनोखा’ और जग्गू की रिलीज़ से पहले जैसी रिपोर्ट थी वैसी चली नही। इसका क्या कारण है? हमने पूछा।

कोई फिल्म क्यों नही चलती इसके बारे में मैं क्या कोई भी कुछ नहीं बता सकता। जब बी.आर.चोपड़ा की ‘ज़मीर’ रिलीज़ नही हुई थी तो उनकी भी बड़ी हवा गर्म थी। किंतु रिलीज़ होते ही रिपोर्ट ठण्डी हो गयी। दरअसल हर कलाकार कहानी सुनकर फिल्म में काम करता है। वह समझता है कि वह एक सफल फिल्म में काम कर रहा है। लेकिन अगर किसी वजह से फिल्म नहीं चलती तो उसमें मेरा या किसी स्टार का कोई दोष नही होता। फिल्म सफल भी सबकी की कोशिशों से होती है और उसकी सफलता के लिए भी सभी जिम्मेदार होते हैं। शत्रु ने बड़ी जिम्मेदारी से जवाब देते हुए कहा।

कहते हैं शूटिंग में आप अपने साथी कलाकारों को बड़ा परेशान करते हैं। इसीलिए अक्सर लोग आपके साथ काम करने से कतराते हैं। क्या यह सही है? हमने रणधीर कपूर शशिर कपूर आदि से उनके झगड़ों को मध्य नजर रखकर पूछा।

ऐसी बात तो नहीं है। लोग अपने आप ही उल्टी सीधी बातें उड़ाते रहते हैं। अगर ऐसी बात है तो ‘शोला और शबनम’ में शशि कपूर मेरे साथ काम क्यों कर रहे हैं? ‘सोनू और मोनू’ में शम्मी कपूर और ‘खान दोस्त’ में राज साहब (राज कपूर) ‘स्वामी जी’ में गुरू स्वामी प्रेम नाथ साथ काम कर रहे हैं। और ‘राजा और राणा’ में प्राण साथ काम करने वाले हैं। शत्रु ने बताया।

अगर आपका कपूर खान दान से झगड़ा नहीं है तो आपने ‘हाथ की सफाई’ में रणधीर कपूर के साथ काम क्यों नही किया? जब कि कहा जाता है कि विनोद खन्ना वाला रोल सलीम-जावेद ने आपके लिए लिखा था। हमने कहा।

हाथ की सफाई वाला रोल में ‘भाई हो तो ऐसा’ ‘समझौता’ आदि फिल्मों में कर चुका था। इसीलिए ‘हाथ की सफाई’ वाले रोल में मुझें कोई नयापन नज़र नही आया था। वरना जिस तरह धर्मेन्द्र मेरे अच्छे दोस्त हैं उसी तरह डब्बू से मेरे बड़े अच्छे संबंध है। हम लोगों में बड़ी पटती है। अगर कोई ऐसी गलत बातें कहता है तो उस पर कान मत धरना। शत्रु ने कहा।

SHARE

Mayapuri