मुझे लोगों से घुल मिलने में समय लगता है – विद्या सिन्हा

1 min


Vidya-Sinha-Pic

 

मायापुरी अंक 42,1975

ज्योति स्टूडियो में फिल्म ‘छोटी-सी बात’ (निर्माता बी.आर.चोपड़ा) की शूटिंग के दौरान विद्या सिन्हा मिल गईं। हमने उनसे कहा।

आज जबकि आप के लिए फिल्म इंडस्ट्री के दरवाजे खुल चुके हैं, आपकी मनोकामना क्या है

आमतौर पर अन्य अभिनेत्रियों की तरह में भी लोकप्रिय की सबसे ऊंची पायदान पर पहुंचना चाहती हूं। मैंने जीवन भर मीना कुमारी की फिल्में देखी हैं और उन्हें पसंद किया है। इसलिए मैं उनका रिक्त स्थान भरने की चेष्टा में हूं।

मीना जी तो इस दुनिया में नही है। मौजूदा अदाकारों में आप किसे पसंद करती हैं और किस किस के साथ काम करने की अभिलाषी हैं हमने पूछा।

दिलीप कुमार, राज कपूर, देव आनंद आदि के साथ काम करने तमन्ना है।“ विद्या सिन्हा ने निसंकोच बताया।

आपके बारे में सुना जा रहा है कि अब आप में भी आम स्टारों जैसा नखरा आ गया है। सैट पर देर से आती हैं। लोगों से ठीक से नहीं मिलती। क्या स्टार बनने के बाद आदमी इतना बदल जाता है? हमने पूछा।

मैंने कभी अपने को ‘स्टार’ नही समझा। और न ही मैं आम फिल्मी लोगों की तरह हिप्पोक्रेट हूं। इसलिए मेरे बारे में यह बातें क्यो उड़ीं? मैं नही जानती। हां, इतना जरूर है कि मैं जल्दी लोगों से मिक्सअप नही होती। कोई बात करता है तो ठीक तरह बात करती हूं। अलबत्त फिल्मी पार्टियों में मैं कम जाती हूं। अगर इस पर भी लोग उल्टी-सीधी बातें उड़ाते हैं तो उड़ाया करें। मेरी सेहत पर उसका कोई असर नही पड़ता। विद्या ने कहा।

SHARE

Mayapuri