एक सच्ची खौफनाक घटना पर आधारित है फिल्म‘ हॉरर नाईट’

1 min


निर्देशक फैसल सैफ की अगली फिल्म का नाम है हॉरर नाइट’ । इससे पहले वे जिज्ञासा, पांच घंटे में पांच करोड़, श्राप आदि फिल्में बना चुके हैं तथा उनकी फिल्म मैं हूं रजनीकांत अपने शीर्षक को लेकर खासी विवादित फिल्म साबित हुई थी।

पत्रकारिता के बाद डायरेक्शन में आये फैसल खान मौजूदा फिल्म के बारे में कहते हैं कि ये एक सच्ची घटना से प्रेरित फिल्म है जो दर्शकों के रौंगटे खड़े कर देगी। घटना के अनुसार उन्नीस सो चौसठ में गया के एक होटल में वहां ठहरने वाले कस्टमर्स को मारकर वहीं के कस्टमर्स को उनका मांस परोस दिया जाता था। इस घटना से मैं काफी पहले से परिचित था और इस पर फिल्म बनाना चाहता था। फैसल को रोमांचक फिल्में बनाने का शौक है। यहां फैसल का कहना है कि मैं वो हॉरर फिल्में बनाना चाहता हूं जो डर पैदा करें लेकिन डर सिर्फ भूत प्रेतों से ही पैदा नहीं होता, डर, घर में लाइट चली जाने से पैदा हो सकता है, लिफ्ट में फंस जाने से भी हो सकता है, यहां तक कहीं सूनसान जगह गाड़ी बंद पड़ने पर भी डर पैदा हो सकता है। मैं ऐसा डर अपनी फिल्मों में दिखाना चाहता हूं।

Kavita, Director Faisal Saif, Faisal khan
Kavita, Director Faisal Saif, Faisal khan

फिल्म में इस बार भी उनकी फैवरेट नायिका कविता राधेष्याम है। यहां फैसल का कहना हैं कि कविता बहुत उम्दा अभिनेत्री है। पहली फिल्म के बाद मैं उसके साथ बार बार काम करता रहा हूं। हम अभी तक लगातार तीन फिल्में कर चुके हैं। लिहाजा हमारे बीच में अब एक तगड़ी ट्यूनिंग हो चुकी है। कविता श्रॉप के बाद एक बार इस फिल्म में नगेटिव रोल में नजर आने वाली है। जहां नायक के तौर पर आमिर खान के भाई फैसल खान को फिल्म में लेने की बात की जाये तो मुझे भूमिका के लिये जिस तरह का एक्टर चाहिये था वो सारी खूबियां फैसल में दिखाई दी। वैसे भी उसे मैं उसे उस वक्त से जानता हूं जब वो जो जीता वहीं सिंकदर तथा रंगीला जैसी फिल्मों में बतौर सहायक काम कर रहा था। बीच में उसके साथ काफी बड़ा हादसा हुआ, उसे दिमागी तौर पर एक हद तक पागल मान लिया गया। उसकी बीवी उसे छोड़ कर चली गई। लेकिन पता नहीं क्यों मुझे उसे देखकर कभी नहीं लगा कि वो मानसिक तौर पर एक अनफिट इंसान है। आप खुद इस बात के गवाह हैं कि वो आपसे भी एक समझदार और जिम्मेदार शख्स की तरह बात कर रहा था।

कहानी की बात की जाये तो यहां एक गुजराती कपल ऐसे शैतानों के बीच फंस गया हैं जंहा से उसका बचकर निकल पाना मुश्किल लग रहा है। क्या वो अपने और अपनी बीवी को बचा पायेगा। फिल्म में फैसल के अपोजिट वेदिता काम कर रही है ।होटल की मालकिन कविता राधेश्याम है, जिसके चार भाई हैं जो मिलकर इस जघन्य अपराध को अंजाम देते हैं । फिल्म के प्रस्तुतकर्ता अली जी़ हैं। तथा लेखन और निर्देशन फैसल सैफ का है। फिल्म अपने मुहूर्त के साथ ही सेट पर जा चुकी है ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये