जम्मू-कश्मीर में दुनियाभर के फिल्म मिर्नाताओं को न्योता

1 min


जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के दो साल पूरे होने पर वीरवार को नई शुरुआत हुई। बरसों से बालीवुड के महबूब रहे कश्मीर में फिल्म निर्माण को गति देने, स्थानीय कलाकारों और फिल्म निर्माताओं को प्रोत्साहित करने और उनके हितों के संरक्षण को सुनिश्चित बनाने के लिए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने भव्य समारोह में जम्मू कश्मीर की फिल्म नीति-2021 को जारी किया। उन्होंने दुनियाभर के फिल्म निर्माताओं को जम्मू कश्मीर आने का न्योता दिया। इस मौके पर अभिनेता आमिर खान और फिल्म निर्माता निर्देशक राजकुमार हिरानी भी मौजूद रहे। इससे बड़ा शुभ संकेत क्या होगा कि फिल्म नीति के घोषित होते ही मशहूर फिल्मकार महावीर जैन ने अपनी अगली फिल्म और वीर हिरानी ने वेब सीरीज को शत फीसद शूटिंग कश्मीर में करने का ऐलान कर दिया।

डल झील के किनारे शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में देर शाम हुए समारोह में फिल्म नीति को जारी करते हुए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर का भारतीय सिनेमा के साथ गौरवमयी और मजबूत रिश्ता रहा है। जम्मू कश्मीर में फिल्म निर्माण का स्वर्णम दौर वापस लाने के लिए हम यहां फिल्मों के निर्माण व संबंधित गतिविधियों के लिए एक जीवंत वातावरण व सुविधाएं तैयार कर रहे हैं। हम जम्मू कश्मीर को फिल्म शूटिंग का अंतरराष्ट्रीय स्तर का प्रतिष्ठित स्थान बनाने को प्रयासरत हैं। हमारी यह फिल्म नीति पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ है, जो जम्मू कश्मीर को पूरी तरह बदलते हुए फिल्मों के लिहाज से इसके स्वर्णम दौर को वापस लाएगी। मैं आज यहां इस मंच से दुनियाभर के फिल्म निर्माताओं को जम्मू कश्मीर आकर इसके अद्वितीय सौंदर्य को अपने कैमरों में कैद करने के लिए आमंत्रित करता हूं। उन्हें यहां फिल्म शूटिंग के लिए प्रदेश सरकार की तरफ से विश्वस्तरीय सुविधाएं और वित्तीय लाभ व अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी।

नयी फिल्म नीति में उपराज्यपाल ने कहा कि नयी फिल्म नीति के तहत सरकार ने एकल खिड़की मंजूरी सुविधा, शूटिंग उपकरण, लोकेशन व प्रतिभा डायरेक्टरी के अलावा फिल्म शूटिंग के लिए विभिन्न प्रकार के प्रोत्साहन और सुविधाएं शामिल की हैं। नयी नीति में स्थानीय प्रतिभाओं को ज्यादा से ज्यादा अवसर प्रदान करने और विभिन्न लोगों के लिए आजीविका के अवसरों का सृजन भी शामिल है। इस नीति को विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों की फिल्म नीतियों और विशेषज्ञों की मदद से तैयार किया गया है। यूरोप और अमेरिका में जो सुविधाएं मिलती हैं, वही सुविधाएं हम जम्मू-कश्मीर में फिल्म शूटिंग स्थल पर उपलब्ध कराएंगे।

SHARE

Mayapuri