भारतीय मूल की फिल्ममेकर श्वेता राय की डॉक्यूमेंट्री फिल्म ऑस्कर अवॉर्ड्स की रेस में शामिल

1 min


फिल्ममेकर श्वेता राय

ऑस्कर अवॉर्ड्स की रेस में एक और नाम शामिल होने में कामयाब रही है। अमेरिका में रहने वाली भारतीय मूल की फिल्ममेकर श्वेता राय की बनाई हुई एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म ऑस्कर पुरस्कार की रेस में शामिल हो गई है।

इस फिल्म का नाम है “ए पैंडेमिक: अवे फ्रॉम द मदरलैंड।” ये फिल्म पांच डाक्टरों पर आधारित है। इस डॉक्यूमेंट्री में उन पलों को कैद किया गया है जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से पीड़ित थे। लेकिन “कोरोना वर्रिएर” डॉक्टरों ने अपनी जान की फ़िक्र किये बिना लोगों का इलाज किया।

श्वेता राय

ये फिल्म 65 मिनट की है जिसे श्वेता राय ने कोरोना महामारी के समय लॉस एंजेलिस में अपने घर में रहते हुए शूट किया था।

अपनी फिल्म “ए पैंडेमिक: अवे फ्रॉम द” के बारे में बात करते हुए श्वेता कहती हैं कि “यह कहानी किसी भी अप्रवासी हेल्थ केयर वर्कर की हो सकती है जो इस जानलेवा वायरस से लड़ रहा हो। इस वायरस ने हर किसी की जिंदगी बदल दी। इस वायरस ने हर किसी को अंदर से तोड़ दिया। एक वक्त तो ऐसा भी रहा जब आवश्यक कार्य में लगे लोगों के अलावा अपने घरों से कोई भी बाहर ही नहीं निकल सकता था। ऐसे में यह डॉक्यूमेंट्री बनाना बहुत मुश्किल था।”

उन्होंने आगे कहा कि “जब मैंने अपनी टीम को बताया कि हम इस डॉक्यूमेंट्री को अमेरिका और भारत दोनों में ऑनलाइन ही शूट करेंगे तो मेरे सिनेमैटोग्राफर डेविड बौजा और मेरे वीडियो एडीटर जोश मस्केटीन ने तुरंत हां कह दी। मैंने और डेविड ने मिलकर जूम और व्हाट्सएप कॉल के जरिए डॉक्टरों के साथ इस फिल्म को शूट किया। जोश के लिए यह एक चुनौती रही कि वह इस फिल्म को अलग-अलग साधनों से संपादित करते रहे। कभी-कभी डॉक्टर अपने निजी बातें भी खुद ही शूट कर देते थे।”


Like it? Share with your friends!

Pragati Raj

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये