बेजुबान इश्क के म्यूजिक लांचिंग पर पुरस्कारों की फिक्सिंग

1 min


निशांत, स्नेहा उल्लाह, सिंगर तोची रैना, निर्देशक अब्बास मस्तान

अभी तक आपने क्रिकेट में फिक्सिंग देखी होगी । लेकिन पहली बार किसी फिल्म की म्यूजिक लांचिंग पार्टी पर एक गेम के तहत दिये गये पुरस्कारों की फिल्म के पीआरओ द्वारा बाायदा फिक्सिगं की गई। लेकिन उनका भांडा बीच में ही फूट गया। दरअसल फिल्म बेजुबान इश्क की म्यूजिक लांचिंग पार्टी में वहां आये पत्रकारों द्वारा एक फार्म भरवाया गया। बाद में लाॅटरी द्वारा जिस भी फार्म का नाम आता उसी पत्रकार का गिफ्ट मिलना था। और जब पहला नाम जिस पत्रकार का एनाउंस हुआ, कमाल ये था वो पार्टी में आ ही नहीं आया था। फिर उसका फार्म किसने भरा? या भरा नही वैसे ही उसका नाम पुरस्कार के लिये घोषित कर दिया गया। यानि वो नाम पुरस्कार के लिये पहले से फिक्स था और दूसरा नाम मिडिया में लोकप्रिय आर जे का था । इस तरह बीच में ही फिल्म की पीआरओ महोदया की पोल खुल गई। बाद में वो इनाम एक गुजराती पेपर के पत्रकार को दिया गया। दरअसल होता कया है कि कुछ पीआरओ कुछ मुंह लगे पत्रकार होते हैं इसलिये ऐसे अवसरों पर पीआरओ उन्हें ही फायदा पहुंचाने के कोशिश करते हैं ।लेकिन फिर ये गेम और लाॅटरी का ढांग कयों उन्हें जो देना है वैसे ही दे देना चाहिये।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये