अगर मुझे बोलने की आजादी है तो चुप रहने का अधिकार भी तो है – शाहरुख़ खान 

1 min


असहिष्णुता के विषय पर दिए गए अपने बयान से विवाद खड़ा कर चुके अभिनेता शाहरुख खान ने सोमवार को कहा कि बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का अधिकार भी होता है। उन्होंने कहा की उनकी मर्जी है वो क्या बोले या न बोले, कोई जबरदस्ती तो आपको बोलने के लिए कह नही रहा है। दरअसल आजकल सबको किसी न किसी बात का इशु बनाने का मौका चाहिए सो एक चुप सौ सुख।

वह अपनी आने वाली फिल्म ‘फैन’ के ट्रेलर लांच के मौके पर बोल रहे थे। असहिष्णुता के मुद्दे पर अपने बयान के बाद के अनुभव के बारे में पूछे जाने पर शाहरुख ने यह बयान दिया।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये