चिडि़याघर में गधा प्रसाद ने ढूंढा खजाना

1 min


‘‘चिडि़या घर‘‘ मस्ती पसंद करने वाले एक परिवार की कहानी है, जिसके विभिन्न सदस्यों की कुछ विशिष्ट आदतें हैं। अपने अलग-अलग नाम के अनुसार सभी सदस्य विषिष्ट आदतों को दर्शाते हैं, जो कि उनके व्यक्तित्व और व्यवहार को परिभाषित करते हैं।

हालिया कहानी में, गधा प्रसाद का किरदार निभा रहे जीतू शिवहरे जंगल में घूम रहे हैं, तभी उनकी नजर कुछ लोगों पर पड़ती है, जो सीक्रेट पासवर्ड का उपयोग कर गुफा के अंदर जा रहे हैं। गधा प्रसाद जानना चाहता है कि इस गुफा के अंदर क्या है और इन लोगों के बाहर जाने के बाद गुफा में घुसने का फैसला करता है। अगले दिन जब गधा प्रसाद गुफा के अंदर जाता है, तो उसे वहां पर काफी पैसे और गहने मिलते हैं। वह जितना ज्यादा हो सके पैसे और गहने इकट्ठा करने का फैसला करता है, तभी घोटक की भूमिका निभा रहे परेश गणात्रा उसे गहनों और पैसों के साथ देख लेता है। अगले दिन घोटक, गधा प्रसाद का पीछा करने का फैसला करता है और गुफा के अंदर बहुत सारा धन-दौलत देखकर खुशी से पागल हो जाता है। खुशी में वह गुफा का दरवाजा खोलने का पासवर्ड भूल जाता है। जब डकैत वापस आते हैं, तो घोटक को बंधक बना लेते हैं। अब घोटक के पास गुफा से बाहर की दुनिया से मदद मिलने का इंतजार करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचा है।

Jitu Shivhare as Gadha Prasad from Chidiya Ghar

गधा प्रसाद का किरदार निभा रहे जीतू शिवहरे ने बताया, ‘‘हम सभी हर संभावित तरीके से अपने बचपन को दोबारा जीना चाहते हैं। इस कहानी से हमे एक शानदार अवसर मिला। चिडि़या घर के मौजूदा सीक्वेंस के लिये ‘अली बाबा और 40 चोर‘ की कहानी को प्रेरणा के तौर पर इस्तेमाल किया गया है। बचपन में हम सभी ने यह कहानी सुनी है, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन मुझे इस कहानी का हिस्सा बनने का मौका मिलेगा। इस ट्रैक के लिये सेट का निर्माण बेहद खूबसूरती से किया गया था। मुझे इस कहानी में काम कर काफी अच्छा लगा और मुझे पूरा भरोसा है कि दर्शक भी इसे पसंद करेंगे।‘‘

क्या गधा प्रसाद और चिडि़या घर के लोग घोटक को उसके अपहरणकर्ताओं से बचाने में सफल होंग?

मस्ती और काॅमेडी का आनंद उठाने के लिये देखते रहिये, चिडि़या घर, सोमवार से शुक्रवार, रात 9 बजे, सिर्फ सब टीवी पर


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये