गांधीजी पर चर्चा…

0 23

Advertisement

प्रधानमंत्री के आवासीय हॉल में फिल्म इंडस्ट्री का एक ‘जत्था’ पीएम से मिलकर बॉलीवुड में वापस लौटा है। 50 से अधिक फिल्मवालों का समूह प्रधानमंत्री के साथ वार्ता में शरीक था। जितने लोग उतनी कहानियां! बेशक किसी एक की कहानी ऐसी नहीं है जिसमें कहा गया हो कि फिल्म इंडस्ट्री को क्या मिला? महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर सितारों को प्रधानमंत्री ने कहा है कि वे गांधीजी के आदर्शों को सिनेमा के माध्यम से प्रचारित करें- क्योंकि सिनेमा प्रचार का सबसे सशक्त माध्यम है, और बस!

प्रधानमंत्री से मिलकर लौटने वाले नाम हैं- शाहरुख खान, आमिर खान, करण जौहर, एकता कपूर, जैकी श्रॉफ, प्रीतम, कपिल शर्मा, राजकुमार हिरानी, कंगना रनोट, जैकलिन फर्नांडीस, सोनम कपूर, नितेश तिवारी, भूषण कुमार, अनुराग बसु, बोनी कपूर, इम्तियाज अली, राज शांडिल्य, जयंतीलाल गाडा, दिनेश वीजन, अजय बिजली, साजिद नाडियाडवाला आदि। और तमाम नाम जो उस भीड़ का हिस्सा थे, जो पीएम की चाय पार्टी का हिस्सा बनकर लौटे वो किस्से पर किस्सा सुना रहे हैं। दरअसल एक साल पहले प्रधानमंत्री मोदी ने फिल्म वालों से हुई एक अनौपचारिक मुलाकात में कहा था कि गांधीजी की 150वीं जयंती (जो 2 अक्टूबतर से आरंभ हो चुकी है) पर कुछ प्रोग्राम तैयार किया जाए! पिछले दिनों उसी सूत्र को नवीनता देने के लिए पीएम ने दिल्ली में अपने आवास के हॉल में फिल्मवालों को आमंत्रित किया था। सिर्फ 12 मिनट में 3 शार्ट फिल्में पीएम को दिखाई जा सकी। इनमें से एक शॉर्ट फिल्म राजकुमार हिरानी की थी, जो सिर्फ 2 मिनट की थी। इस शार्ट फिल्म में सितारों ने गांधीजी के लिए अपने भाव व्यक्त किये थे। दूसरी शॉर्ट फिल्म ‘स्वच्छ भारत मुहिम’ को लेकर थी और तीसरा प्रदर्शन था ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की टीम का जिसमें गांधी को भावभिव्यक्ति को फनी रूप में दिखाया गया।

बहरहाल प्रधानमंत्री ने फिल्मवालों से कहा है कि गांधीजी की भावनाओं से जुड़ा सिनेमा बनाया जाए। 1857 के गदर से लेकर 1947 तक के स्वतंत्रता आंदोलन को दिखाया जाए और 1947 से 2022 तक देश की प्रगतिशीलता के चित्रण से भरा सिनेमा निर्माण हो। देखने वाली बात यह है, कि कितने कलाकार गांधीजी पर हुई चर्चा का अनुसरण करते हैं। बस बता दें कि जब भी कोई डेलीगेशन पीएम से मिलकर लौटता है, सरकार से कई अनुदान और बजट लेकर लौटता है। पर यहां तो सरकार के हवाई फलसफे भी सुनाई नही पड़े। और किसी फिल्मी वीर ने नही पूछा कि पीएम साहब, सर्वाइवल की लड़ाई लड रहा फ़िल्म उद्योग कैसे कुछ कर पाएगा…क्या अनुदान दे रहे हैं उस उद्योग को जो हर साल करोड़ों का इनकम टैक्स अदा करता है। प्रधानमंत्री जी कृपया फिल्म उद्योग पर गौर करें क्योंक इसमें हर समाज का व्यक्ति जुड़ा हुआ है और अपनी जीविका चला रहा है। खासकर नारी शक्ति जो जोर शोर से इंडस्ट्री से जुड़ रही है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.