गणपत स्टार कृति सेनन ने Koo पर खोला अपना अकाउंट महज एक हफ्ते में मिले 20 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स

1 min


Koo पर खाता खोलने के एक हफ्ते के अंदर ही गणपत स्टार कृति सेनन के अब भारत के अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उनके 20,000 से ज़्यादा फॉलोअर हो गए हैं। हैंडल @kritisanon, का उपयोग करते हुए, उभरती बॉलीवुड स्टार अभिनेत्री ने अब मंच पर अपनी उपस्थिति मज़बूती से स्थापित कर ली है। लगभग दो हफ्ते पहले, उनके सह-कलाकार और दोस्त, टाइगर श्रॉफ ने माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म से जुड़कर अपने प्रशंसकों को आश्चर्यचकित कर दिया था, और उन्हें ज़बरदस्त प्रतिक्रिया मिली थी।  कृति के कू में शामिल होने के बाद, कम से कम उनके चार फैनक्लब ने भी प्लेटफॉर्म पर अपने हैंडल बना लिए हैं – @FAN_OF_KS, @Kriti_Sanon_FC, @kritsaffection, @team_kritian.

कृति सनोन ने मंच पर अपनी आंखों की एक विचारोत्तेजक तस्वीर के साथ आने की घोषणा की और कू पर अपनी उपस्थिति के बारे में अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी अपने प्रशंसकों के बताया। हाल ही में, अभिनेत्री की एक ख़ूबसूरत तस्वीर को 1,700 से अधिक लाइक्स मिले हैं। कृति कई भाषाओं में अपने प्रशंसकों से जुड़ने के लिए कू का इस्तेमाल करेंगी।

कृति सनोन, उन युवा अभिनेत्रियों में से एक हैं, जो लोकप्रियता हासिल कर रही हैं और अपनी परियोजनाओं और पटकथाओं से लोगों को लुभा रही हैं। उन्होंने हाल ही में एक ओटीटी प्लेटफॉर्म के माध्यम से एक सुपरहिट, मिमी, जिसे पटकथा और उनके प्रदर्शन के लिए आलोचकों से सराहना मिली है। कृति वर्तमान में अपने सह-कलाकार प्रभास और सनी सिंह के साथ काम कर रही हैं और मैग्नम ओपस ड्रामा, आदिपुरुष की रिलीज़ की तैयारी कर रही हैं।

Koo कैसे डाउनलोड करें: यह ऐप यूज़र्स के लिए मोबाइल ऐप स्टोर पर डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है। उपयोगकर्ताओं के पास अपने मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी का उपयोग करके पंजीकरण करने का विकल्प होता है। एक बार पंजीकरण पूरा हो जाने के बाद, वे कू पर अपने पसंदीदा हस्तियों, एथलीटों, राजनेताओं, मनोरंजनकर्ताओं और विचारशील नेताओं का अनुसरण कर सकते हैं। कू उपयोगकर्ताओं को उनकी मूल भाषाओं में संवाद करने की अनुमति देकर सशक्त बनाता है, यदि वे चाहें तो।

Koo के बारे में: Koo की स्थापना मार्च 2020 में भारतीय भाषाओं में एक माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में की गई थी। कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होने के कारण, भारत के विभिन्न क्षेत्रों के लोग अपनी मातृभाषा में ख़ुद को व्यक्त कर सकते हैं। एक ऐसे देश जहाँ भारत का सिर्फ़ 10% हिस्सा अंग्रेजी बोलता है, वहाँ एक ऐसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की गहरी ज़रूरत है जो भारतीय उपयोगकर्ताओं को व्यापक भाषा अनुभव प्रदान कर सके और उन्हें जुड़ने में मदद कर सके। कू उन भारतीयों की आवाज़ को एक मंच प्रदान करता है जो भारतीय भाषाओं को पसंद करते हैं।

SHARE

Mayapuri