कानूनी पचड़े में फंसी ‘आंखें 2’

1 min


0

2002 की फिल्म ‘आंखें’ की सीक्वल शुरू होने से पहले ही फिल्म सुर्खियों मे आ गई। दरअसल फिल्म की घोषणा से पहले ही निर्माता गौरांग दोषी के खिलाफ अदालत की अवमानना का एक आदेश जारी किया गया। सूत्रों की माने तो राजतरु स्टूडियोज लिमिटेड के तरुण अग्रवाल ने यह सवाल किया था कि जब 2002 में रिलीज हुई फिल्म ‘आंखें’ के सारे अधिकार उन्होंने सालों पहले प्राप्त कर लिए थे, तो फिर गौरांग दोषी कैसे इस फिल्म को बना सकते हैं।


Mayapuri