‘चिड़ियाघर’ में घोटक की जगह उसके हमशक्ल ने ली

1 min


घोटक के हमशक्ल के आने के साथ सोनी सब के ‘चिड़ियाघर’ की कहानी में एक और  ट्विस्ट आने वाला है। अपनी ड्यूटी के दौरान, घोटक (परेश गनात्रा) ने एक यात्री से टिकट के लिये पूछा, लेकिन वह यात्री गुंडागर्दी करने लगता है। उसने घोटक को धमकाया कि यदि वह उसे अगली बार मिला, तो गोली मार देगा। घोटक बहुत डर जाता है और घर आकर अपने कमरे में छुप जाता है। परिवार के लोग उससे उसके डर के बारे में पूछते हैं, तो वह पूरी घटना उनसे कहता है। बाबूजी, घोटक को एफआईआर दर्ज करवाने की सलाह देते हैं, लेकिन वह मना कर देता है। उसी समय पागलखाने का स्टाफ डॉक्टरों को बताता है कि बबलू नाम का एक मरीज अस्पताल से उस समय भाग गया, जब वे बबलू का जन्मदिन मना रहे थे। डॉक्टर अस्पताल के स्टाफ को तुरंत ही पुलिस में शिकायत करने को कहते हैं, क्योंकि बबलू बहुत खतरनाक है और बाहर इस तरह खुले में नहीं घूम सकता। घोटक ऑफिस नहीं जाता है और उसके बदले में 3 दिन की छुट्टी ले लेता है। घर से बाहर नहीं निकलने पर बाबूजी, घोटक को डांटते हैं और उसे सलाह देते हैं कि कम से कम बगल वाली गली तक तो जाये। घोटक चिड़ियाघर की गली तक जाता है, इसी बीच बबलू भी पुलिस से बचने के लिये वहां पहुंचता है और एक सब्जी के ढेले के नीचे छुप जाता है। पुलिस वहां पहुंचती है और घोटक को बबलू समझ लेती है और उसे पकड़ लेती है। ढेले के नीचे छुपा बबलू वहां से भागने की कोशिश करता है लेकिन भागने के दौरान ढेला ऊपर की तरफ उठ जाता है और सब्जियां सड़क पर बिखर जाती हैं। ढेले का मालिक बबलू को पीटने के लिये उसके पीछे भागता है, लेकिन उस रास्ते से गुजर रही मयूरी (शफाक नाज), उसे घोटक समझ लेती है और उसे घर ले आती है।

घर पर बबलू देखता है कि कोयल (अदिति सजवान) सब्जियां काट रही है और बाबूजी डर के मारे रूलर से चूहे को भगाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हें देखकर बबलू डर जाता है और उसे लगता है कि वो उसे मारना चाहते हैं। हर किसी को यह लगता है कि घोटक अब भी गुंडे की धमकी के कारण सदमे में है। बबलू को हमेशा मयूरी के साथ-साथ देखा जाता है, क्योंकि उसे लगता कि वह उसे बचा लेगी। बबलू के अजीब व्यवहार के कारण बाबूजी को शक होता है कि यह घोटक नहीं है। क्या नारायण परिवार घोटक के हमशक्ल के पीछे का राज ढूंढ पायेगा?

घोटक की भूमिका निभा रहे परेश गनात्रा, इस ट्रैक के बारे में बताते हुए कहते हैं, ‘‘घोटक के हमशक्ल बबलू की एंट्री के साथ, ढेर सारा ड्रामा होने वाला है। असली घोटक को पुलिस ने बबलू समझकर पकड़ लिया है, लेकिन इसके बाद उसके साथ क्या होता है यह देखने वाली बात होगी।’’

चिड़ियाघर में इस दिलचस्प ड्रामे का आनंद उठायें सोमवार-शुक्रवार, रात 9 बजे, केवल सोनी सब पर!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये