पाॅप एलबम से वापसी विनय आनंद की

1 min


आमदनी अठन्नी खर्चा रूपया तथा दिल ने फिर याद किया आदि फिल्मों से अपने करियर की शुरूआत करने वाला गोविंदा का भांजा विनय आनंद हिन्दी फ्लॉप होने के बाद भोजपुरी फिल्मों में चला गया । वहां उसे जरूर आंशिक सफलता हासिल हुई । बकौल विनय मैं शुरू से ही पाॅप स्टार बनने के सपने देखा करता था ।
vinay anand 2

दरअसल विनय की नानी यानि गोविंदा की मां निर्मला देवी ठुमरी गायिका थी । उन्हीं से प्रेरित हो विनय ने गायक बनने का सपना देखा था । लेकिन बाद में वो गायक न बन अभिनेता बन गया और उसने भोजपुरी में लगभग पचास फिल्में की । दो साल पहले एक बार फिर विनय ने पाॅप एलबम का सोचा तो इस बार उसने बाकायदा एलबम पर काम भी शुरू कर दिया।
vinay anand
इस एलकम में आठ गाने हैं जो हर उम्र के श्रोता के लिये हैं । विनय ने एलबम का निमार्ण अपनी कंपनी फ्लाइंग हाॅर्सेस के तहत किया है । एलबम में संगीतकार दुर्गेश विश्वकर्मा की कंपोजिंग में सभी गाने विनय ने गाये हैं । एल्बम के गीत लिखे हैं ज्योेति आंनद तथा संजय कबीर ने । विनय की कंपनी आगे भोजपुरी फिल्मों का निर्माण भी करने जा रही है ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये