मलाला युसुफजई की बायोपिक का पोस्टर हुआ रिलीज़

1 min


आपको पाकिस्तान की मलाला युसुफजई तो याद होंगी जिन्होंने 17 साल की उम्र में ही पाकिस्तानी लड़कियों के अधिकार के लिए गोली तक खा ली थी। उसी बहादुर और निडर नॉवेल पुरस्कार से सम्मानित मलाला युसुफजई पर एक बायोपिक बनाई जा रही है जिसका नाम है ‘गुल मकाई’ और जिसका फर्स्ट लुक भी रिलीज कर दिया गया है। इस फिल्म से टीवी शो ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ में नायरा का किरदार निभा चुकी चाइल्ड एक्ट्रेस रीम शेख बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही हैं। मलाला की बायोपिक को अमजद खान डायरेक्ट कर रहे हैं।

रीम शेख ने सीरि‍यल ‘अशोका’, ‘नीर भरे तेरे नैना देवी’, ‘ना आना इस देश लाडो’, ‘ना बोले तुम ना मैंने कुछ कहा’, ‘ये रि‍श्‍ता क्‍या कहलाता है’ में चाइल्‍ड आर्टि‍स्‍ट के रूप में काम किया है। तो चलिए सबसे पहले हम आपको मलाला युसुफजई के बारे में बताते हैं 17 साल की मलाला युसुफजई सबसे कम उम्र की नोबेल पुरस्कार विजेता है और इन्हें ये पुरस्कार पाकिस्तान में नारी अधिकारों और उनकी शिक्षा के लिए आवाज उठाने के लिए दिया गया था।  पाकिस्तान के एक छोटे से इलाके खैबर प्ख्तुन्ख्वा की रहने वाली मलाला युसुफजई को आतंकी संगठन तालिबान द्वारा नारी शिक्षा को प्रतिबंधित कर दिए जाने के बाद उसका विरोध किये जाने के कारण आतंकियों ने मलाला के सिर में गोली मार दी थी लेकिन किस्मत से सही समय पर इलाज़ उपलब्ध हो जाने के कारण मलाला को बचाया जा सका और इसी वजह से तालिबान द्वारा प्रतिबंधित नारी शिक्षा को अन्तराष्ट्रीय पहचान मिली।  अब इसी बहादुर लड़की पर फिल्म बन रही है।

Gul Makai Poster

इस फिल्म के लिए अमजद खान को एक ऐसे चेहरे की तलाश थी जिसकी आंखों और चेहरे से भोलापन झलकता है। काफी ढूंढने के बाद उन्हें इस फिल्म के लिए रीम का चेहरा एक दम सटीक लगा। पोस्टर की बात करें तो ये काफी अट्रेक्टिव है। इसमें रीम को खुली किताब पकड़े दिखाया गया है। उनका चेहरा आधा दिखाया गया है वहीं आधे चेहरे को दहशत के धुंए से ढक दिया गया है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये