गलीबॉय से भारत के पोस्टरबॉय बने नवाजुुुद्दीन सिद्दीकी देखें तस्वीरें

1 min


उत्तर प्रदेश के छोटे शहर में पैदा हुए नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक ऐसे परिवार से हैं, जिन्हें दो वक्त रोटी कमाने के लिए रोज संघर्ष करना पडता था। चौकीदारी करने से लेकर दवाई की दुकान में काम करने तक उन्होंने कई अलग-अलग जगहों पर काम किया। आखिर में वह नैशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में शिक्षा ली। और फिर इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

सरफरोश, ब्लैक फ्रायडे और पीपली लाइव जैसी फिल्मों से उन्होंने अपने आपको साबित किया। और फिल्म इंडस्ट्री को दिखा दिया की वह ‘लंबी रेस का घोडा’ हैं। कहानी और गैंग्स ऑफ वासेपुर यह फिल्में तो उनके करियर का टर्निंग पॉईंट बन गयीं।

फिल्म इंडस्ट्री ने उनके काम को सराहा और फिर वह तलाश, बदलापुर, लंचबॉक्स, किक, बजरंगी भाईजान और रईस जैसी बडी कमर्शिअल फिल्मों का अहम हिस्सा बन गयें। उनके बेहतरीन अभिनय से बड़े-बड़े मैगजीन्स ने उनमें रूची दिखानी शुरू की। यह बात तो कोई नही टाल सकता की, नवाजुद्दीन प्रतिभाशाली अभिनेता हैं। जीक्यु, फोर्ब्स और सोसायटी जैसे मैगजीन्स ने उनकी स्ट्रगल स्टोरी अपने पत्रिकाओं में छापने के बाद तो यह गलीबॉय पोस्टरबॉय बन गयें।

जबकि जीक्यू लक्जरी अंक ने उन्हें “भारत का सबसे बेहतरीन अभिनेता” बताया है। सोसायटी पत्रिका ने उनकी फर्श से अर्श तक की संघर्ष यात्रा को अपने अंक में स्थान दिया हैं। फोर्ब्स ने उनकी प्रेरणादायक कहानी को शीर्षक दिया हैं, “नवाजुद्दीन सिद्दीकी- एक अहम व्यक्ति”।

Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui
Nawazuddin Siddiqui


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये