बैडमैन है सबसे गुडमैन-गुलशन ग्रोवर -जन्मदिन पर विशेष

1 min


बैडमैन के नाम से सारी दुनिया में अपनी पहचान बनाने वाले गुलशन ग्रोवर ने अपनी प्रतिभा के जरिये न सिर्फ बॉलीवुड मे बल्कि हॉलीवुड में भी अपनी सशक्त अदाकारी से एक मुकाम हासिल किया है। गुलशन ग्रोवर ने जितनी भी फिल्मों मे अभिनय किया उनमें हर पात्र को एक अलग अंदाज में दर्शकों के सामने पेश किया। वह हर बार नये तरीके से संवाद बोलते नजर आए। खलनायक का अभिनय करते समय गुलशन ग्रोवर उस भूमिका में पूरी तरह डूब जाते हैं और उनका गेट अप अलग तरीके का होता है। इसीलिए कई बार उनको गेटअप ग्रोवर कह कर भी पुकारा जाता है।

गुलशन ग्रोवर का जन्म आज ही के दिन 21 सितंबर 1955 को दिल्ली में एक मध्यम वर्गीय पंजाबी परिवार में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली में पूरी करने के बाद श्रीराम कॉलेज से स्नातक की डिग्री ली। गुलशन ग्रोवर ने अस्सी के दशक में मुंबई का रूख किया। मुंबई आने के बाद गुलशन ग्रोवर को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

सबसे पहले गुलशन ग्रोवर को सुनील दत्त निर्देशित फिल्म रॉकी में एक छोटी सी भूमिका निभाने का अवसर मिला। वर्ष 1983 गुलशन ग्रोवर के बॉलीवुड करियर का सबसे ख़ास वर्ष साबित हुआ। इस वर्ष उनकी सदमा और अवतार जैसी फिल्में प्रदर्शित हुई। फिल्म अवतार में उन्होंने अभिनेता राजेश खन्ना के लड़के की भूमिका निभाई थी। फिल्म में उनकी भूमिका कुछ हद तक ग्रे शेड्स लिए हुए थी। इस फिल्म के जरिए गुलशन ग्रोवर  दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब हो गए। वर्ष 1989 में प्रदर्शित फिल्म राम लखन ने  गुलशन ग्रोवर को सबका प्यारा खलनायक बना दिया । किरदार का नाम था केसरिया विलायती। इस फिल्म में उनका बोला गया संवाद बैडमैन दर्शको के बीच काफी लोकप्रिय हुआ। इस फिल्म के बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और हर फिल्म के साथ अपनी एक नई पहचान बनाते चले गए। इसके बाद गुलशन ग्रोवर फिल्म इंडस्ट्री में बैडमैन के नाम से मशहूर हो गए। गुलशन ग्रोवर को फिल्म आई एम कलाम के लिए राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड भी मिल चुका है।

मायापुरी परिवार उनको जन्मदिन की मुबारकबाद देता है और कामना करता है की गुलशन आने वाले वर्षों में और भी सफलता का पायेदान छुएं।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये