गुलज़ार को सुनने के लिये बेचैन यह दुनिया

1 min


महान गीतकार , कवि श्री गुलज़ार के कलम में वो जादू है कि क्रिएटिव जगत का हर चितेरा उनके गीतों और कविताओं को अपने रचनात्मक प्रस्तुति में पिरोने को आतुर रहतें हैं। फिल्ममेकर राकेश ओमप्रकाश मेहरा अपनी अगली फिल्म ‘मिर्ज़्या'( जिसमे अनिल कपूर के बेटे हर्षवर्धन कपूर और सैयामी खेर डेब्यू कर रहें है ) के म्यूजिक लांच के अवसर पर एक स्पेशल और मनोरंजक इवेंट की तैयारी में लगें हैं जिसकी सबसे खास बात यह है कि इस इवेंट में गुलज़ार साहब अपनी कवितायेँ सुनाएंगे। उन्होंने इस फिल्म की स्क्रीन प्ले और गीत भी लिखे हैं। सिर्फ बड़े लोग ही क्यों, गुलज़ार साहब के गीतों और कविताओं के रसिया तो छोटे छोटे बच्चे भी हैं और यह बात गुलज़ार साहब जानते है इसलिये बच्चों की फिल्मों के लिये लिखना उन्हें हमेशा अच्छा लगता रहा है। उन्होंने कॉसमॉस एंटरटेनमेंट और माया डिजिटल स्टूडियो के असोशिएशन से बनी फिल्म ‘मोटू पतलू किंग ऑफ किंग्स’ जो चौदह अक्टूबर को रिलीज हो रही है और जिसके मुख्य किरदार है प्रसिद्ध चिल्ड्रन’स् मैगज़ीन ‘लोट पोट’ के प्रसिद्ध चरित्र मोटू पतलू, के गीत भी इतने मस्त लिखें हैं कि घर घर के बच्चे बच्चे जो मोटू पतलू को बिग स्क्रीन पर देखने के लिये बेचैन हैं, वे मोटू पतलू के लिये लिखे गुलज़ार जी के लिरिक्स को सुनने, देखने के लिये भी बेसब्री से इंतज़ार कर रहें है। प्रोड्यूसर केतन मेहता, दीपा साही, अनीश मेहता निर्मित मोटू पतलू को लोटपोट पत्रिका से उछल कर बड़े स्क्रीन पर गुलज़ार जी के लिरिक्स और विशाल भारद्वाज के म्यूजिक के साथ देखना बच्चों के लिये जितना रोचक है, बड़ों के लिये भी उतना ही आनंददायक होगा। यह हम ही नहीँ सारे लोग भी कहते हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये