जब अल्का याग्निक ने आमिर खान को रिकॉर्डिंग रूम से बाहर कर दिया था – जन्मदिन विशेष

1 min


अल्का याग्निक

अल्का याग्निक का कहना है कि एक सिंगर, गायक होने से पहले एक्टर होते हैं। लेकिन उनकी एक्टिंग उनकी आवाज के ज़रिये बाहर आती है। गुजराती परिवार में जन्मी, सिंगिंग बैकग्राउंड से बिलोंग करने वाली अल्का याग्निक की माँ शुबहा एक क्लासिकल सिंगर रह चुकी हैं। अल्का बताती थीं की उनकी माँ उन्हें जबरदस्ती सरगम सीखने को कहती थीं लेकिन उन्हें सा रे गा मा…गाना काफी बोरिंग लगता था। उनका इंट्रेस्ट फिल्मीं गानों में था। तब उनकी माँ ने उन्हें समझाया की उन्हें पहले क्लासिकल सिंगिंग सीखनी चाहिए। जिसके बाद उन्होंने रियाज़ शुरू किया। सिंगर लता मंगेशकर और आशा भोसले के बाद अल्का याग्निक वो तीसरी फीमेल सिंगर है जिन्होंने सबसे अधिक सोलो गाने गाये हैं। अल्का को अपने करियर का सबसे बड़ा ब्रेक फिल्म तेजाब के सॉन्ग “एक दो तीन” से मिला। इस गाने से जुड़ी एक मजेदार कहानी है।   

हुआ यूँ की जब अल्का ने इस गाने के लिरिक्स पढ़े तो उन्हें लगा कि यह कैसा गाने है। लेकिन धीरे धीरे जब वो आगे पढ़ती गईं तो उन्हें एहसास हुआ की यह काफी अलग सॉन्ग है जिसे बनाने में काफी मेहनत लगी है। यह एक अलग तरह का आईटम सॉन्ग है। इस गाने को गाते वक्त उन्होंने काफी एन्जॉय किया। लेकिन उनकी एक्साइटमेंट तब कम हो गई जब उन्होंने देखा की इस गाने में माधुरी दीक्षित डांस करने वाली है। पतली दुबली सी एक ऐसी लड़की जिसे देख कर अल्का को लगा की माधुरी के चेहरे पर इस गाने को परफॉर्म करने वाली बात नहीं है। वो चार्म उन्हें माधुरी के चेहरे पर नहीं दिखा। लेकिन जब माधुरी का डांस रिकॉर्ड हुआ तो अल्का की आँखे खुली रह गई। उन्हें एहसास हुआ की माधुरी से बेहतर इस गाने पर कोई और परफॉर्म कर ही नहीं सकती हैं। इस गाने के लिए अल्का को पहले फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा गया।

कई अलग अलग भाषाओं में अल्का ने गाए है गाने

हिन्दी के अलावा अल्का याग्निक ने 20 अलग-अलग भाषाओं (जैसे गुजराती, बंगाली, आसामी, मराठी, तमिल, तेलुगु, मलयालम, पंजाबी आदि) में गाने गाये हैं। लेकिन मुझे उस दिन गर्व हुआ जब मैंने पहली बार अल्का याग्निक की आवाज में मैथली गाना सुना। बिहार से होने की वजह से अपनी भाषा में फेमस सिंगर की आवाज में गाना सुनना जो न मैथली भाषा से तालुक रखती हैं, न ही कभी सुना है और जिस भाषा को बोलने में खुद बिहार के लोगों को शर्म आती है, तो ऐसे में गर्व होना लाज़मी हैं।

कहा जाता है कि अल्का, लता मंगेश्कर को बहुत मानती है और उनकी कार में केवल लता मंगेश्कर के ही गाने बजते है। न सिर्फ वो गाने जो फेमस हैं, बल्कि वो गाने भी सुनती हैं जो ज्यादा पॉपुलर नहीं हुए है। लता मंगेश्कर से भी कोई पूछता है कि उनकी फेवरेट सिंगर कौन है तो वो अल्का याग्निक का नाम लेती हैं।

आमिर खान को रिकोर्डिंग स्टूडियो से बाहर निकाला था

अल्का याग्निक कहती हैं कि वो जब भी गाने की रिकोर्डिंग करती हैं तो किसी को भी स्टूडियो में रहने नहीं देती हैं क्योंकि गाना रिकोर्ड करते समय वो लिरिक्स के साथ अपने एक्सप्रेशन चेंज करती रहती हैं। वो कहती हैं कि एक सिंगर पहले एक्टर है फिर सिंगर है। इसलिए वो नहीं चाहती की रिकोर्डिंग के समय उन्हें कोई एक्ट करते देखे।

इससे जुड़ी एक कहानी अल्का ने अपने एक इंटरव्यू में बताई थी कि जब वो फिल्म “क़यामत से क़यामत तक” के सॉन्ग की रिकोर्डिंग के लिए गई तो वहां एक मिड ऐज का लड़का उन्हें बहुत ही आश्चर्य से देख रहा था। अल्का ने उनसे रिक्वेस्ट की कि वो बाहर चले जाएँ क्योंकि उन्हें रिकोर्डिंग करनी है। रिकोर्डिंग के बाद अल्का को जब फिल्म के हीरो से इंट्रोड्यूस कराया गया तो वो वहीं लड़का – आमिर खान – था जिसे उन्होंने बाहर जाने को कहा था। अल्का कहती हैं आमिर आज भी जब मुझसे मिलते हैं तो ये बात जरुर याद दिलाते हैं कि मैंने उन्हें स्टूडियो से बाहर निकाल दिया था।

एक बार उनसे पूछा गया कि उन्हें कैसा लगता है जब उनके गाने को किसी अन्य एक्ट्रेस का नाम मिल जाता है। अल्का इसपर कहती हैं कि मैं बहुत हैरान होती हूँ कि कैसे एक्ट्रेस गानों पर अपने एक्सप्रेशन देती हैं। ये काफी चैलेंजिग है। वैसे जो सिंगिग के फैन होते है उन्हें पता होता है कि गाना किस सिंगर ने गाया है।

अल्का ने सबसे अधिक गाने उदित नारायण और कुमार सानु के साथ गाए हैं

अल्का ने कई सिंगर्स के साथ गाने गाए है लेकिन उदित नारायण के साथ उन्होंने 150 से भी अधिक गाने गाए हैं जिसमें ज़्यादातर गाने, जैसे कि “चाँद तारों में नजर आए चेहरा तेरा”, “तेरे नाम”, “दिल ने ये कहा है दिल से”, “आ अब लौट चले”, “हर दिल जो प्यार करेगा”, “हम यार है तुम्हारे”, “ऐ मेरे हमसफर”, “दिल लगा लिया”, “कहो न प्यार है”, “मेरा मन” चार्टबस्टर साबित हुए हैं और अबतक लोगों की ज़ुबान पर चढ़े हैं ।

तो वहीं अल्का ने कुमार सानु के साथ 120 से अधिक गाने गाए हैं जिनमें से “किसी दिन बनूँगी मैं राजा की रानी, ज़रा फिर से कहना”, “सातों जनम में तेरे साथ रहूँगा यार”, “मेरी मेहबूबा”, “सोचेंगे तुम्हें प्यार करें की नहीं”, “ये दुआ है मेरी रब से”, “आँख है भरी भरी और तुम, मुस्कुराने की बात करते हो” सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले गानों में से हैं।

इसके अलावा शायद ही कुछ लोगों को पता हो कि साल 1982 में अल्का याग्निक ने किशोर कुमार के साथ भी एक गाना गाया है। ये सॉन्ग फिल्म कामचोर से “तुमसे बढ़कर दुनिया में न देखा कोई और..” है।

7 फिल्मफेयर अवॉर्ड्स अपने नाम कर चुकी हैं अल्का

एक बार ऐसा हुआ कि पाँच गाने अवॉर्ड्स के लिए नॉमिनेशन में थे और पाँचों गाने अल्का याग्निक के थे। सब ये डिस्कस कर रहे थे कि कौन से गाने के लिए अल्का को अवॉर्ड दिया जाएगा। अबतक अल्का ने 7 फिल्मफेयर अवॉर्ड्स जीते हैं और साथ ही उन्हें दो नेशनल अवॉर्ड्स से नवाज़ा जा चुका है।

90 के दशक में अपनी आवाज़ से जादू बिखेरने वाली अल्का अबतक ग्यारह सौ से अधिक फिल्मों में करीब पच्चीस सौ हिंदी गाने गा चुकी हैं। साथ ही अलग अलग भाषाओं में 8 हजार से ज़्यादा गाने गाए हैं।

अल्का याग्निक एक वर्सटाइल सिंगर हैं जिन्होंने माधुरी से लेकर दीपिका पादुकोण तक के लिए गाने गाए हैं। अल्का याग्निक को उनके जन्मदिन पर मायपुरी ग्रुप की तरफ से बहुत बहुत शुभकामनाएं।


Pragati Raj