हैप्पी बर्थ डे अनुपम खेर

1 min


पद्मभूषण से नवाजे गए अनुपम खेर की मैं बहुत बड़ी फैन हूं और मैं उनकी और भी बड़ी प्रशंसक तब बनी जब मैंने अपनी ही मैग्जीन के एक आर्टिकल को पढ़ा। इस लेख को सुप्रसिद्ध लेखक अली पीटर जॉन जी ने लिखा था। मैं अली जी के हर लेख को बड़ी दिलचस्पी के साथ पढ़ती हूं पर इस बार मैं और ज्यादा उत्साहित थी क्योंकि लेख अनुपम खेर के बारे में था।

अनुपम खेर असल में कश्मीर के श्रीनगर से हैं वहाँ आपसी टकराव और वैली में फैली अशांति के कारण इनके पुरे परिवार को शिमला की बर्फीली वादियों मे शरण लेने पर मजबूर होना पड़ा| 7 मार्च 1955 को जन्में अनुपम पढ़ाई में एक साधारण दर्जे के छात्र थे। अनुपम खेर को बचपन से ही अभिनय में दिलचस्पी थी। उनका पहला प्यार जो एक्टिंग था वो तब शुरू हुआ जब उन्होंने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में थिएटर डिपार्टमेंट ज्वॉइन किया जिसने उनके लिए मानो उनकी आशाओं के सारे दरवाजे खोल दिए हो यहीं पर वो मिले अमन अल्लाना से जिन्होंने उन्हें दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा को ज्वॉइन करने की सलाह दी। बेहतरीन अभिनेता होने के बाद भी अनुपम खेर को काफी संघर्ष करना पडा। अपने संघर्ष के दिनों में उन्होंने बच्चों को एक्टिंग भी सिखायी। अनुपम खेर को साल 1982 में फिल्म आगम में काम करने का मौका मिला।

anupam-kher3

अनुपम खेर की बेहतरीन फिल्में तो कई हैं पर हम उनकी उन फिल्मों के बारे में बताने जा रहें है जो आपको ज़रूर देखनी चाहिए। उनमें सारांश, उत्सव, आखिरी रास्ता, तेज़ाब, डैडी, राम लखन, परिंदा, दिल, 1942 अ लव स्टोरी, सौदागर, बेटा, दिल है कि मानता नहीं, हम आपको है कौन, कहो ना प्यार है, मैंने गांधी को नहीं मारा, पहेली, रंग दे बसंती, खोसला का घोषला, द शौकिन्स और बेबी है।

अनुपम खेर ने फिल्मों के अलावा टीवी में भी एक अलग पहचान बनाई है। टीवी पर अनुपम खेर के कई शो आये जो काफी लोकप्रिय हुये जिनमें सवाल दस करोड़ का, से ना समथींग टू अनुपम अंकल, 24, द अनुपम खेर शो, सेंस 8 है।

अगर पुरस्कारों की बात करें तो अनुपम खेर को दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। साल 2004 में उन्हें पद्मश्री पुरस्कार मिला और इस साल वह पद्मभूषण के भी हकदार बन गए। अनुपम खेर सोशल मीडिया पर भी बेहद एक्टिव हैं साथ ही देश में हो रही हर खबरों पर इनकी निगाहें होती है और यह उन सबके बारे में अक्सर ट्विटर पर लिखते रहते हैं।

399450-anupam-kher

अनुपम खेर की निजी ज़िंदगी के बारे में बातें करें तो एनएसडी में पढ़ाई के दौरान ही अनुपम प्यार मे भी गिरे और अपनी ही एनएसडी सहपाठी मधु मालती मेहता से शादी कर ली पर ये शादी ज्यादा नहीं चल पाई और इन्होंने आपसी सहमति से तलाक ले लिया। वहीं अनुपम ने दूसरी बार साल 1985 में अभिनेत्री किरण खेर से शादी की और आज अनुपम और किरण बॉलीवुड के पावर कपल में शुमार हैं। अनुपम खेर से किरण की भी दूसरी शादी थी साथ ही अनुपम ने किरण के बेटे सिकन्दर को भी अपनाया।

अनुपम खेर की आने वाली फिल्मों में एम एस धोनी है जो इंडियन क्रिकेट टीम के महान खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के ज़िंदगी पर आधारित है। दूसरी चेस अ गेम प्लान है और मुंगीलाल रॉक्स है जो एक कॉमेडी फिल्म है। बेहतरीन अभिनय के बादशाह को उनकी जन्मदिन की ढ़ेर सारी बधाईयां।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये