हेमा मालिनी! क्या कोई इस रोशनी को बुझाने की ख्वाइश भी कर सकता है?- अली पीटर जॉन

1 min


बहुत से लोग हेमा मालिनी के बारे में जानते हैं और उनको यह पता है कि हेमा मालिनी ने फिल्‍म इंडस्ट्री में अपने 40 साल पूरे कर लिए हैं और उनकी पहली हिन्दी फिल्‍म राज कपूर के साथ थी ‘सपनों का सौदागर’ पर बहुत कम लोगों को पता है या शायद किसी को नहीं पता कि यह मौका उन्हें मिला कैसे था।

हेमा मालिनी जो अपने बीते दिनों के बारे में बहुत कम बात करती हैं उन्होंने इंडस्ट्री में अपने पहले ब्रेक के बारे में बातें बतायी। उन्होंने कहा कि उन्हें अपनी पहली फिल्‍म ‘सपनों के सौदागर’ से जुड़ी सभी बातें याद हैं, जिसमें राज कपूर उनके हीरो थे।

जो कहानी उन्होंने मुझे सुनाई है उसको अगर संक्षेप में बताऊँ तो वो कुछ ऐसे हैं।

उन्हें पारंपरिक नृत्य बहुत पसंद था और वो इसमें एक्सपर्ट थी। 6 वर्ष की उम्र तक उन्होंने दक्षिण भारत में बहुत से स्टेज शो कर लिये थे और अभिनेत्री बनने का उनका कोई सपना नहीं था। उनकी किसी शो में दक्षिण भारत के प्रोड्यूसर बी। आनंद स्वामी ने उनको नोटिस किया और उन्होंने निर्णय लिया कि वो हेमा को अपनी फिल्म में कास्ट करेंगे। वो हेमा के माता-पिता से मिले जिन्हें हेमा के अभिनेत्री बनने से कोई परेशानी नहीं थी। पर दुर्भाग्यवश वो फिल्‍म बन नहीं पाई। पर आनंदस्वामी के दिमाग में हेमा हमेशा रहती थी।

उनको एक दिन पता चला कि राज कपूर एक नई अभिनेत्री की तलाश में है जिसको वो अपनी फिल्म सपनों का सौदागर में कास्ट करना चाहते हैं। आनंद स्वामी चाहते थे कि इस फिल्‍म के लिए हेमा ऑडिशन दे। उन्होंने हेमा के माता-पिता और हेमा से इस बारे में बात की। हेमा ने कहा कि पहले तो उन्हें लगा कि आनंद स्वामी उनसे मजाक कर रहे हैं। हेमा पहली बार हवाई जहाज में बैठकर मुंबई गई। उनको तब तक विश्वास नहीं हो रहा था कि वो राज कपूर से मिलने जा रही है, जब तक वो आरके स्टूडियो के गेट पर नहीं पहुंच गई। वहां आनंद स्वामी ने हेमा मालिनी का परिचय महान शोमैन से कराया ।

उस दिन आर.के.स्टूडियो में बहुत से जाने-माने गेस्ट जैसे के आसिफ जिन्होंने मुगले– आजम बनाई थी,महेश कॉल जो सपनों का सौदागर निर्देशित करने वाले थे,राज कपूर के म्यूजिक डायरेक्टर्स शंकर जयकिशन और उनकी आवाज गायक कैश आए हुए थे। उन्होंने हेमा की तरफ एक नजर देखा और अपने सभी अतिथियों को हेमा को देखने को कहा। हेमा थोड़ी डरी हुई थी भी और साथ ही साथ इतने बड़े लोगों से मिलकर बहुत उत्तेजित भी थी।

राज ने उनसे कहा कि जिस देश में गंगा बहती है में जो पद्मिनी ने कॉस्टयूम पहना था वो पहन के आओ और राज ने उनसे ये भी पूछा कि क्या वो कुछ भी हिंदी में बोल सकती हैं। हेमा बहुत कॉन्फिडेंट थी और वो मान गई पर जब शॉट देने की बारी आई तो वो थोड़ी सी घबराई पर उनके मेकअप मैन विष्णु उन्हें प्रोत्साहित करते रहे और उन्होंने परफेक्ट शॉट दिया जैसा राज कपूर को चाहिए था। और उसके कुछ समय बाद हेमा से कहा गया कि वो सपनों का सौदागर में अभिनेत्री का किरदार निभाने के लिए सेलेक्ट हो गयी हैं। इस तरह हेमा के करियर की शुरुआत हुई जो अब तक जारी है।

हेमा मालिनी के बारे में कुछ बातें जो बहुत कम लोग जानते हैं।

हेमा मालिनी चेन्नई के दक्षिण भारतीय ब्राह्मण परिवार से आती है। उनके पिता सरकारी अफसर थे और माता एक जानी मानी नृत्यांगना थी।

हेमा का जन्म चेन्नई में हुआ था पर उनके पिता थोड़े दिन बाद दिल्‍ली शिफ्ट हो गए थे। और हेमा का शुरुआती बचपन दिल्‍ली में बीता। पर फिर उनके पिता का स्थानांतरण चेन्नई हो गया और उसके बाद वो लोग वहीं रहने लग गये।

हेमा की मां मिसेज जया चक्रवर्ती ने हेमा को पारंपरिक नृत्य को गंभीरता से लेने को कहा। 3 साल की उम्र से ही हमा को बहुत से पारंपरिक नृत्य जैसे भरतनाट्यम, कुचीपुड़ी, मोहिनीअट्टम और ओडिसी नृत्य आ गए थे हेमा बिना हिचकिचाहट के बताती हैं कि उन्होंने अपनी स्कूल भी पूरी नहीं की है और वो कहती हैं कि, “मेरी पढ़ाई में ज्यादा रुचि नहीं थी। मुझे सिर्फ एक अच्छी नृत्यांगना बनना था जो प्रक्रिया आज भी जारी है द्य” उनको बहुत से तमिल फिल्में करने के ऑफर मिले पर उन्होंने सबको ना कर दिया था। दक्षिण भारतीय निर्देशक बी अनन्त स्वामी को हेमा ने हाँ कहा और उनकी वजह से ही हेमा की हिंदी फिल्मों में करियर की शुरुआत हुई।

दुर्भाग्यवश हेमा के पिता और आनंद स्वामी के बीच पैसे को लेकर कुछ नोकझोंक हुई और उनका रिश्ता वही खत्म हो गया। इसके बाद हेमा की मां ने हेमा के कैरियर की बागडोर संभाली और साथ में उनके सेक्रेटरी आई। के। बहल थे। जिनको हेमा मेहता जी कहती हैं जो आज भी उनके लिए काम करते हैं।

हेमा ने 300 से ज्यादा फिल्मों में मुख्य भूमिका निभाई है, जो उनके नाम एक रिकॉर्ड है।

हेमा को जॉनी मेरा नाम और जोशीले के बाद काफी लोकप्रियता हासिल हुई थी। इन फिल्मों में उनके साथ देवानंद थे। उन्होंने देवानंद के साथ और भी कई फिल्में की है जो सफल नहीं हुई। हेमा देव साहब की इतनी बड़ी प्रशंसक थी कि जब भी देव साहब की कोई फिल्म रिलीज होने वाली होती थी वो हमेशा पूजा किया करती थी!

जब हेमा मालिनी एक प्रसिद्ध अभिनेत्री बन गई तो उन्होंने जुहू में अपना बंगला बनाया जो मनोज कुमार के बंगले के बिल्कूल सामने था। हेमा की बड़ी बेटी ऐशा जो कि एक अभिनेत्री है उनकी शादी हो चुकी है। जब भी कोई नल से संबंधित समारोह होता है तो हेमा उसमें जरूर भाग है और उनकी दोनों बेटी एशा और आहना उनकी दर्शक के लिस्ट में हमेशा शामिल रहती हैं!

हेमा मालिनी जिस परिवार से आती थी वहां प्रेम कहानियां या प्रेम विवाह करना बिल्कुल गलत माना जाता था। हेमा मालिनी को सबसे पहले संजीव कुमार ने शादी के लिए प्रपोज किया था। हेमा मालिनी भी उन्हें पसंद करती थी पर यह रिश्ता उनकी मां को नहीं पसंद था क्योंकि संजीव कुमार गुजराती थे और मांसाहारी होने के साथ-साथ उन्हें शराब की भी लत थी।

जितेंद्र और धर्मेंद्र हेमा के प्यार में एक ही समय में पड़ गए थे और जितेंद्र ने तो हेमा के साथ शादी करने की पूरी योजना भी बना ली थी। उनके घर वालों और उनकी गर्लफ्रेंड शोभा तक को यह बात पता नहीं थी। पर धर्मेंद्र को यह बात पता चल गई कि दोनों शादी करने वाले हैं और उन्होंने शोभा से कहा कि वो उनके साथ चेन्नई चले और शादी वहीं रुक गई। धर्मेंद्र हेमा के प्यार में पागल हो चुके थे जबकि वो पहले से शादीशुदा थे और चार बच्चों के पिता थे। पर फिर भी उन्होंने हेमा मालिनी से शादी की। हेमा मालिनी उनकी दूसरी बीवी है और दोनों मुंबई में दो घरों में रहते हैं और धर्मद्र जब भी मुबंई में होते हैं वो हेमा मालिनी और अपनी दोनों बेटियों से जरूर मिलने जाते हैं।

हेमा 65 साल की है पर वो आज भी बहुत खूबसूरत दिखती हैं। जब उनसे उनकी खूबसूरती का राज पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, “यह खूबसूरती का तोहफा मुझे मेरे भगवान ने दिया है और मैं इसका बहुत सम्मान करती हूं। मैं रोज योगा करती हूं और व्यायाम करती हूं। और सबसे महत्वपूर्ण बात में रोज नृत्य का रियाज करती हूं, मैं यह उन सभी को करने को कहूंगी जो अपने जीवन में फिट रहना चाहते हैं। पारंपरिक नृत्य करने से बेहतर कोई व्यायाम नहीं है ।”

जब मैंने उन्हें बताया कि उनके पति उनके ऊपर जीवनी लिख रहे है तो उन्होंने कहा कि, “मैं बहुत खुश हूँ । मैंने कभी नहीं सोचा था कि वो मेरे लिए यह सब करेंगे। मैं देखना चाहती हूं कि वो मेरे बारे में किताब में क्या लिखते हैं। ” कुछ समय पहले उनकी एक दुर्घटना हो गई थी और लोग यह सोच रहे थे कि क्या अब भी हेमा उतनी ही खूबसूरत दिखेंगी। पर कुछ समय बाद जब वो अस्पताल से बाहर आई एक छोटी सी सर्जरी के बाद तो वैसी ही खूबसूरत लग रही थी जैसी पहले लगती थी और किसी ने कहा कि, “एक छोटा सा एक्सीडेंट इनके सुंदरता का क्या बिगाड़ सकता है!

हेमा मालिनी के साथ जिन अभिनेताओं ने काम किया है

राज कपूर, देवानंद, धर्मेंद्र (8 फिल्में साथ की है), जितेंद्र, संजीव कुमार, रणधीर कपूर, शत्रुघ्न सिन्हा, शम्मी कपूर, शशि कपूर, राज कपूर, राजेश खन्ना, ऋषि कपूर, अनिल कपूर, मनोज कुमार, फिरोज खान, रजनीकांत, अमिताभ बच्चन सहित और भी कई अभिनेता हैं।

निर्देशक जिनके साथ हेमा ने काम किया है

महेश कॉल (जो उनकी पहली हिंदी फिल्‍म के निर्देशक थे), यश चोपड़ा, बी आर चोपड़ा, विजय आनंद, देवानंद, गुलजार, मोहन कुमार रामानंद सागर ,शक्ति सामंत, प्रमोद चक्रवर्ती, फिरोज खान, उमेश मेहरा, मनमोहन देसाई, कमाल अमरोही, राजेंद्र सिंह बेदी , और दक्षिण भारत के कई निर्देशकों के साथ हेमा मालिनी ने काम किया है। हेमा मालिनी ने ‘तेरह पन्‍ने’ नाम की एक सीरियल में भी काम किया है जो कि 43 ऐतिहासिक महिला किरदारों के ऊपर बनी थी जिसके निर्देशक थे बार । उन्होंने अपनी खुद की फिल्‍म भी निर्देशित की है जिसका नाम है ‘दिल आशना है’ जिसमें उन्होंने शाहरुख खान को मौका दिया था। हेमा ने टेल मी ओ खुदा फिल्म भी निर्देशित की थी जिसमें उनके पति धर्मेंद्र और उनकी बेटी ईशा देओल दोनों ने पहली बार साथ काम किया था।

एक राजजनेत्री के रूप में हेमा

हेमा बीजेपी पार्टी की एक सक्रिय कैंपेनर हैं द्य हेमा को राज्यसभा के लिए नॉमिनेट किया गया और वो अभी इलेक्टेड एमपी है और बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री भी!

उनके खूबसूरत और एक्टिव होने का राज

भरतनाट्यम, कुचीपुड़ी और बाकी पारंपरिक नृत्य

SHARE

Mayapuri