जानिए 2016 में यह सारी हीरोइन्स अपने बाल और स्किन को संभालकर कैसे खेलेंगी, “होली”

1 min


लिपिका वर्मा

दीपिका पादुकोण

होली रंगों का त्यौहार है। मेरे लिए यह एक ऐसा त्यौहार है जो हमारी भावनाओं को जताने की इजाजत देता है और इस होली के त्यौहार को हम अच्छी तरह जी खोल कर मना सकते हैं। होली एक ऐसा त्यौहार है जहां हम अपने दोस्तों से वापस मिलते हैं और रंग खेलने का लुत्फ उठाते हैं। मेरी आज भी बचपन की यादें ताजा हो जाती हैं इस दिन किस तरह हम सब बच्चे छुपकर बैलून में पानी भर, आपस में एक दूसरे के ऊपर गुब्बारे फेंक कर इस दिन का लुत्फ लेते और यह होली के एक सप्ताह पहले से ही हम खेलना शुरू किया करते। लेकिन मैंने अपने बालों को कभी रंगों से ख़राब नहीं होने दिया है। जब भो होली खेलने बाहर जाती तो बालों में तेल लगा कर ही निकलती, ताकि मेरी स्किन और बाल खराब न हो। पर इस वर्ष मैं, “द रिटर्न ऑफ़ जेंडर केज” की शूटिंग में व्यस्त रहूंगी सो इस वर्ष की होली मेरी मिस हो जाएगी। शायद हमारी टीम के साथ मनाउंगी।

deepika-story_647_080615080834 (1)

विद्या बालन

इस वर्ष मैं फिल्म, ” के -2″ की शूटिंग में व्यस्त हूँ। सो इस होली का लुत्फ नहीं उठा पाऊँगी ऐसा लगता है कि यूनिट की तरफ से कुछ न कुछ मस्ती धमाल तो होगा होली वाले दिन, किन्तु इस बात का अभी तक मुझे कुछ मालूम नहीं है। मुझे आज भी याद है मेरे पापा बैलून ले आते और उसमें पानी भर-भर के हमारे हाथ में देते, हम बच्चे सब मिलकर उन बैलून्स को धागे से बांधते और उसके बाद एक दूसरे पर फेंक कर खूब मस्त किया करते। लेकिन जैसे ही हम कुछ बड़े हुए तो नाच – गाने और कलर्स लगा कर मजा किया करते होली वाले दिन। हर बारी मेरी माँ मेरे बालों पर और मेरी बॉडी पर कोई न कोई ऑयली क्रीम या तेल लगा दिया करती, शुरु में मुझे थोड़ा अजीब लगता लेकिन अब ऐहसास होता है कि इसी वजह से मुझे रंग छुडाने में आसानी होती।

24_vidya_jpg_1438036f (1)

कृति सैनन

मुझे होली का पर्व बहुत ही अच्छा लगता है और 2016 की होली भी भरपूर रंगों से अपने आप को रंग और दूसरों पर भी गुलाल मल मनाने वाली हूँ। दरअसल जब भी होली के लिए मैं बाहर दोस्तों के साथ खेलने जाती तो साइड में अपने बालों की चुटिया बना कर ही बाहर जाती हूँ इस से बालों में कम रंग लग पाता है। होली खेलने के बाद एक अच्छी नींद भी आती है। सो कुल मिलाकर होली का पर्व अपने आप में एक अलग ख़ुशी देता है। लोगों को मेरा यही सुझाव है कि गुलाल और पानी से ही होली खेलें।

kriti-sanon-story_647_082215124934

श्रद्धा कपूर 

ओके जानू से मैं एक दिन की छुट्टी ले रही हूँ, ताकि मैं अपने परिवार के साथ होली के लिए कुछ समय निकाल पाऊँ। मुझे आज भी याद है मैं अपने परिवार के साथ बच्चन जी के घर होली खेलने गयी थी। वह यादें आज भी ताजा करती हूँ तो एक अलग ख़ुशी मिलती है। बलम बिचकारी मेरा सबसे पसंदीदा होली गीत है।

shraddhakapoor_640x480_61419509605

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये