ब्राइट आउटडोर मीडिया के संस्थापक योगेश लखानी के बेटे अनुग्रह लखानी के आठवें जन्मदिन पर उन्हें बधाईयाँ

| 24-01-2023 11:19 AM 31

ब्राइट आउटडोर मीडिया के संस्थापक, चैयरमैन तथा मैनेजिंग डायरेक्टर, डॉक्टर योगेश लखानी तथा ब्राइट आउटडोर मीडिया लिमिटेड की डायरेक्टर जागृति योगेश लखानी के सुपुत्र मास्टर अनुग्रह लखानी का हैपी बर्थडे 24 जनवरी को हर वर्ष कुछ इस तरह से मनाया जाता है जो एक यादगार आयोजन होने के साथ ही समाज कल्याण की दिशा में एक परोपकारी कदम होता है।

 

इस वर्ष भी अपने बर्थडे पर  नन्हा अनुग्रह अपने पिता डॉक्टर योगेश लखानी के साथ अनाथालय, वृद्धाश्रम और अस्पतालों में जाकर जरूरतमंदों की मदद करेंगे, गरीबों को खाना खिलाएंगें और गरीब बच्चों को उनकी जरूरतों का सामान डोनेट करेंगे।

 

चाहे ब्राइट आउटडोर मीडिया के संस्थापक डॉक्टर योगेश लखानी का बर्थडे हो या उनकी धर्मपत्नी जागृति का जन्मदिन हो, या चाहे उनके इकलौते पुत्र अनुग्रह का जन्मदिन हो, वे लखानी खानदान के सुसंस्कार के अनुसार, बड़े ही परोपकारी ढंग से इस खुशी के लम्हों को सेलेब्रेट करते हैं। वैसे तो दुनिया में बहुत से लोग अपने या अपने परिवार के जन्मदिन को धूम धाम से मनाते है, पार्टी रखते हैं और खूब खर्चा करते हैं, लेकिन लखानी परिवार की सबसे खास तरीके से जन्मदिन मनाने की बात तो यह है कि वे अपने करीबियों और दोस्तों के लिए एक प्यारी सी पार्टी रखने के साथ साथ गरीबों और जरूरतमंदों को मुक्त हस्त से दान करके तथा गरीबों, जरूरतमंदों को खाना खिलाकर, इस सेलिब्रेशन को और भी यादगार बना देते हैं।

 

अनुग्रह योगेश लखानी का जन्म 24 जनवरी 2016 को हुआ था। 24 जनवरी 2023 को अनुग्रह का आठवां जन्मदिन है। इस साल वह अपना जन्मदिन जंगल होटल में अपने दोस्तों, स्कूल के फ्रेंड्स और अपनी बिल्डिंग के बच्चों के साथ मनाएंगे जहां वह सबके साथ खेलते कूदते हुए खूब मस्ती करेंगे। इस बर्थडे पार्टी में डायनासोर कार्टून हाथी सहित कई गेम्स, बहुत सारी मस्ती भरे प्रोग्राम्स, डांस और मजेदार फ़ूड तथा रिटर्न गिफ्ट इत्यादि होंगे।

 

अनुग्रह योगेश लखानी, रुस्तमजी स्कूल में  प्रथम कक्षा का एक होनहार छात्र है। पढ़ने लिखने में वो जितना होशियार है उतना ही नटखट और चंचल भी है। वह पढ़ाई के साथ खूब मस्ती भी करता है और खेल में भी अव्वल है। वह अपने पिता डॉक्टर योगेश लखानी की तरह बड़ा जौली नेचर का है और माता जागृति योगेश लखानी की तरह हँसमुख भी है। मातापिता के साथ वो खूब मस्ती करता है। वह अपने पैरेंट्स के साथ अक्सर पार्क में जाकर भी खूब खेलता है। वह प्ले ग्रुप्स में भी जाता है।

उसके पिता योगेश लखानी कहते हैं कि अनुग्रह हमारा इकलौता बेटा है जितना हम उसे चाहते हैं वह भी हमें उतना ही प्यार करता है।  वह अपने दादा दादी से भी काफी करीब रहा है। खेल कूद, पढ़ाई लिखाई और मस्ती करने के साथ साथ उसे लोगों की मदद करने में भी आनन्द आता है। 

 

इस बार भी अपने बर्थडे पर अनुग्रह अपने पिता के साथ गरीबों को खाना खिलाएंगे। बच्चों के अनाथाश्रम , वृद्धाश्रम, हैंडीकैप्ड आश्रम और अस्पतालों में जाकर जरूरतमंदों की मदद करने में वो बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। बचपन से ही उसे अपने दादा दादी तथा माता पिता से यह प्रेरणा और सीख मिली है कि हमेशा गरीबों की मदद करना चाहिए। इसलिए हर साल की तरह इस साल भी, अपने बर्थडे पर वे जरूरतमंदों, अस्पतालों, वृद्धाश्रम, अनाथालय में जाकर लोगों को खाना खिलाएँगे, दवाई बांटेगे और उनकी आर्थिक सहायता करेंगे। इसके अलावा अनुग्रह अपने पैरेंट्स और टीम के साथ, भिवंडी के 7 आदिवासी गांवों में जाकर सैकड़ों लोगों को वहाँ भी खाना खिलाएंगे और बोरीवली मुम्बई में भी फूड डिस्ट्रीब्यूट करेंगे। अनुग्रह लखानी भारतीय सभ्यता और संस्कृति से गहराई से जुड़ा हुआ है, जहां बड़ो का सम्मान और गरीबो व जरूरतमंद की मदद करना शामिल है।

 

इस उम्र में अनुग्रह पढ़ाई में काफी तेज है और कई एक्स्ट्रा क्लास भी करता है। वह अपने माता पिता को बेहद चाहता है। कई प्रकार के गेम में भी उसकी दिलचस्पी है। उसका पहला बर्थडे बोरीवली की एक होटल में मनाया गया था जबकि अनुग्रह के दूसरे जन्मदिन सेलेब्रेशन पर शाहरुख खान, ऋतिक रोशन, रणबीर कपूर, रणवीर सिंह सहित बॉलीवुड के कई सितारे आए थे। रणवीर सिंह ने तब अनुग्रह को अपनी गोद मे उठाकर मस्ती भी की थी। उसने गणेश आचार्य के साथ डांस भी किया था। वह श्रीलंका, मालदीव्स और दुबई सहित कई देशों में भी घूम चुका है। भारत के भी कई टूरिस्ट स्पॉट पर अनुग्रह जा चुके हैं।

 

डॉक्टर योगेश लखानी के जो भी सामाजिक इवेंट्स होते हैं उसमें अनुग्रह उत्साह के साथ भाग लेते हुए, सड़क पर बच्चों को खाना खिलाते है। दरअसल वो बचपन से ही अपने पिता योगेश लखानी को जरूरतमन्दों को खाना खिलाते देखता आ रहा हैं। योगेश लखानी कहते हैं कि अनुग्रह हर जगह मेरे साथ आता है। मंदिर भी जाता है। वह क्रिकेट में भी रुचि रखता है और बाकायदा यह खेल सीख रहा है। अनुग्रह अपने पिताजी से बेहद करीब है। जब रात के दस बजते हैं तो तुरंत उसका फोन योगेश लखानी के पास आ जाता है और वह बड़ी मासूमियत से कहता है "पापा कहां पहुंचे आप, जल्दी घर आ जाएं।" रविवार उसका फेवरेट डे है क्योंकि इस दिन वो अपने पूरे परिवार के साथ जमकर  खूब मस्ती करता है,  पापा के साथ घूमने जाता है। घर पर भी खूब एक्टिव रहता है और बस दौड़ता खेलता रहता है।