INTERVIEW!! “मेरी सफलता का श्रेय भगवान को जाता है” – हिमेश रेशमिया

1 min


लिपिका वर्मा

लगभग 16 वर्ष की उम्र में ही बतौर निर्माता बने हिमेश रेशमिया ने फिर म्यूजिक डायरेक्टर की बागडोर संभाली और फिल्म, “आप का सुरूर” से एक्टिंग में भी अपना हाथ आजमाने निकले हिमेश को रब पर बहुत ही भरोसा है। “जी हाँ मेरे भाई का छोटी सी उम्र में इंतक़ाल हो गया था सो अपने पापा को सपोर्ट करने हेतु 16 साल की उम्र से ही मैंने बतौर निर्माता ज़ी टी.वी के लिए दो सीरियल बनाये ‘अंदाज़’ और ‘अमर प्रेम’ इन दोनों सीरियल्स के लिए मैंने टाइटल सॉन्ग भी कंपोज़ किये थे।”

 कॉम्पोजीशन अच्छी खासी कर लेते हो क्या कहना चाहेंगे ?

यह गुण मुझे अपने पापा से मिला है। मैं खुश किस्मत हूँ कि जो शिक्षा मुझे रागों के बारे में पापा से मिली है वह मेरे लिए बहुमूल्य साबित हुई है। इसीलिए अलग-अलग टाइप्स के गानों के लिए भी इन सभी रागों को मिक्स करके कुछ बेहतरीन कॉम्पोजीशन दे पाता हूँ मेरे गानों में वेस्टर्न फ्यूज़न और इंडियन क्लासिकल म्यूजिक का मिश्रण अनूठा होता है। शायद इसी लिए मेरे गाने हिट हो जाते हैं। यह सब मेरे फादर की मेहरबानी है कि उन्होंने मेरे अंदर सही क्लासिकल रागों की जानकारी ठूस-ठूस कर भर दी है। मुझे भी म्यूजिक का शोक बचपन से ही रहा है।

Bekhudi-SONG

आपका बॉलीवुड सफर कैसा रहा ?

बॉलीवुड सफर मेरे ख्याल से बहुत ही अच्छा रहा। मुझे हर काम में सफलता मिली है फिर चाहे वो बतौर निर्माता, कंपोजर या सिंगर हो और अब बतौर अभिनेता मैं अपने फैंस को खुश कर पा रहा हूँ। मैंने इतने ढ़ेर सारे गाने गए हैं और कंपोज़ भी किये हैं और क्या चाहिए मुझे। हाल ही में फिल्म, “प्रेम रतन धन पायो” का गाना भी हिट हुआ है।

सफलता का श्रेय लक या फिर हार्ड वर्क किसे देना चाहेंगें ?

मेरे हिसाब से लक भी बहुत मायने रखता है किसी की भी सफलता में। हार्ड वर्क तो हर कोई करता है पर यदि  उस पर भगवान का हाथ नहीं है तो सफलता नहीं मिल पाती है उसे। मुझ से भी बहुत सारे लोग टैलेंटेड है यहां पर, किन्तु कई बारी वह सफलता प्राप्त नहीं कर पाते हैं। अपने बारे में यही कहना चाहूँगा कि भगवान की कृपा मुझ पर है। इसीलिए तो मैं जो कुछ भी करता हूँ उसमें सफल हो रहा हूँ। मेरी सफलता का श्रेय भगवान को जाता  है ?

tera-suroor-2-rednewswire

कुछ रुक कर हिमेश ने कहा, ” पर मैं मेहनत भी बहुत करता हूँ। अब देखिये ना फिल्म, “तेरा सुरूर” के लिए मुझे कुछ किलो वजन घटाना था सो जिम में बहुत मेहनत की है वजन घटाने हेतु। हाँ मुझे अपनी डांस स्किल्स पर भी काम करना है। अपनी अगली फिल्म में एक बेहतरीन डांसर भी बनाना चाहूंगा। हालांकि मुझे लोग सीरियस समझते है किन्तु रियल लाइफ में इतना सीरियस बंदा नहीं हूँ। मुझे सरल सी कॉमेडी करना भी पसंद है सो फ्यूचर में फिल्म्स में ऐसा करने की कोशिश करूँगा मैं।

“तेरा सुरूर” 11 मार्च को रिलीज़ हो रही है वक़्त बताएगा कि हिमेश रेशमिया बतौर अभिनेता अपने फैंस को खुश कर पाते हैं या नहीं !!

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये