बॉबी देओल की लोकप्रिय सीरीज आश्रम का द क्यू (THE Q) पर होगा वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर

1 min


भारत का सबसे तेजी से बढ़ता हुआ हिंदी जनरल एंटरटेनमेंट चैनल, द क्यू, अपने मनोरंजक शोज के साथ दर्शकों का मनोरंजन करना जारी रखता है। ‘जुर्म का चेहरा’ की सफलता के बाद अब क्यू चैनल पर ओटीटी प्लेटफॉर्म एमएक्स प्लेयर की लोकप्रिय सीरीज ‘आश्रम – आस्था की मूरत या छल की सूरत’ लाने के लिए तैयार कर रहा है। लोकप्रिय बॉलीवुड अभिनेता बॉबी देओल अभिनीत और निर्देशक प्रकाश झा द्वारा निर्देशित, आश्रम, एक सच्ची घटनाओं से प्रेरित क्राइम फिक्शन शो है। इस सीरीज में त्रिधा चौधरी, अदिति सुधीर पोहनकर और अनुप्रिया गोयनका जैसे अन्य कलाकारों द्वारा भी अहम भूमिका निभाई गई है। बता दें कि सीरीज का पहला सीजन 11 अक्टूबर, 2021 से शुरू होकर सोमवार से शुक्रवार रात 8:30 बजे विशेष रूप से द क्यू पर दिखाया जाएगा।

Aashram and Prakash Jha

‘आश्रम – आस्था की मूरत या छल की सूरत’ में बाबा निराला काशीपुरवाला के एक छोटे भविष्यवक्ता से भारत के शीर्ष संत बनने की यात्रा का पता लगाया जाता है। वह समाज के दबे-कुचले और भोले-भाले लोगों पर अपने प्रभाव की वजह से इतना बड़ा मुकाम हासिल करता है। सीरीज में दर्शाया गया है कि बाबा हमेशा समाज के छोटे लोगों के लिए खड़े रहे और इसकी वजह से वह लोगों का मसीहा बनते गए। हालांकि, जैसे-जैसे कहानी आगे बढ़ती है, हम देखते हैं कि कुछ महिलाएं लापता हो जाती हैं और जैसे-जैसे जांच शुरू होती है, इसकी कड़ी बाबा निराला काशीपुरवाला से जुड़ती जाती है। क्या बाबा निराला वास्तव में लोगों के लिए एक मसीहा हैं या सिर्फ बाबा के मुखौटे के पीछे एक ठग है… जैसे-जैसे कहानी आगे बढ़ेगी इस बात का पता चलते जाएगा!

Aashram-trailer-1200

हम भारतीयों को भगवान से ज्यादा बाबाओं पर विश्वास होता है और हम हमेशा इन बाबाओं के आकर्षण से मोहक हो जाते हैं। हमारे सामने आने वाली हर समस्या के लिए, हम इन बाबाओं में आशा और पुनरुत्थान की एक किरण देखते हैं और उनकी चाल को ‘ईश्वर के कार्य’ मानते हैं! हालांकि, हर आश्रम देवत्व का निवास नहीं है और हर बाबा हमारी समस्याओं का समाधान नहीं है और यह शो दर्शकों को बाबाओं से सावधान और सतर्क रहने के लिए प्रेरित करता है। यह देश में सच्ची घटनाओं से प्रेरित एक काल्पनिक कहानी है, जहां बाबा के भेष में पुरुष लोगों की भेद्यता, सादगी और भगवान के भय का फायदा उठाते हैं।

आश्रम सीरीज पर बॉबी देओल कहते हैं कि एक अभिनेता के रूप में मैं अलग-अलग तरह से विभिन्न प्रकार की भूमिकाओं को निभाने की कोशिश कर रहा हूं। यहां, मुझे पूरी तरह से अलग किरदार निभाने को मिला। यह बहुत अच्छे और इंटरेस्टिंग तरीके से लिखा गया है।” उन्होंने आगे कहा, “देश और दुनिया भर में बहुत सारे चोर और अपराधी हैं जो अंधविश्वास का फायदा उठाते हैं। यह सीरीज कुछ ऐसा ही संदेश लेकर आई है और लोगों को जागरूक कर रही है कि उनके आसपास क्या हो रहा है। जिस तरह से प्लॉट चलता है, उसमें मिस्ट्री, थ्रील, ड्रामा, इमोशंस जैसे सभी एलिमेंट्स का मिक्सचर मिलेगा। ये भी कुछ ऐसी चीजें हैं जिन्हें मैं देखना पसंद करता हूं इसलिए इसने मुझे इस फ्रिक्शनल सीरीज का हिस्सा बनने के लिए भी इंस्पायर किया।”

AashramS01-2

डिजिटल और टेलीविजन के बीच तालमेल बैठाने और टीवी देखने वालों के लिए आश्रम सीरीज को द क्यू पर लाने पर द क्यू की सीईओ सिमरन हून कहती हैं कि ग्रेट कंटेंट हर जगह अपना कमाल दिखाता है। अपने दर्शकों की नब्ज को समझने के बाद, हम द क्यू में एक रिलेवेंट प्लॉट और स्टोरीलाइन के साथ स्ट्रांग और यूनिक कंटेंट लाने का प्रयास कर रहे हैं। टीवी पर आश्रम सीरीज को टेलीकास्ट करना भी हमारी इसी रणनीति का हिस्सा है। हम पूरे भारत में दर्शकों के लिए पसंदीदा मनोरंजन स्थल होने के साथ-साथ उद्योग में द क्यू की पोजीशन को मजबूत करने में मदद करने के लिए इस तरह की पहल के साथ आगे रहन जारी रखेंगे।”

यह द क्यू द्वारा अपनी तरह की एक अनूठी पहल है, जहां वे जनता के लिए टेलीविजन पर डिजिटल का बेस्ट कंटेंट लाते हैं। तो, नकली भगवानों की अंधेरी दुनिया से खुद को और अपने परिवार को बचाने के लिए आश्रम देखें। सीरीज का प्रीमियर टेलीविजन पर अपने पहले सीजन के साथ विशेष रूप से सोमवार से शुक्रवार रात 8.30 बजे केवल द क्यू पर होगा।

SHARE

Mayapuri